मैच (18)
WI vs SA (1)
ENG v PAK (W) (1)
USA vs BAN (1)
CE Cup (3)
T20I Tri-Series (2)
आईपीएल (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
ख़बरें

रद्द हो सकता है ऑस्ट्रेलिया-अफ़ग़ानिस्तान टेस्ट मैच

क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने कहा, अगर तालिबान शासन में महिला क्रिकेट को रोका जाता है, तो हम उनकी मेज़बानी नहीं कर सकते हैं

The Afghanistan team lines up for the national anthem, India v Afghanistan, Only Test, Bengaluru, 1st day, June 14, 2018

इसकी उम्मीद बहुत कम है कि ऑस्ट्रेलिया नवंबर में अफ़ग़ानिस्तान के ख़िलाफ़ खेले  •  BCCI

अगर तालिबान अपने शासन में महिलाओं को खेलने की अनुमति नहीं देता है, तो क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (सीए) इस साल नवंबर में होने वाले अफ़ग़ानिस्तान के ख़िलाफ़ एकमात्र टेस्ट को रद्द कर सकता है।
तालिबान ने संकेत दिए हैं कि महिलाएं क्रिकेट सहित किसी भी खेल में भाग नहीं ले सकती हैं। इसके बाद सीए ने अपना यह स्टैंड लिया है।
देर रात ऑस्ट्रेलिया के खेल मंत्री रिचर्ड कोल्बेक ने कहा कि यदि तालिबान शासित अफ़ग़ानिस्तान में महिलाओं पर पाबंदियां लगती हैं, तो 27 नवंबर से होबार्ट में अफ़ग़ानिस्तान और ऑस्ट्रेलिया के बीच होने वाला टेस्ट मैच संभव नहीं हो पाएगा। इससे पहले, तास्मेनिया के प्रधानमंत्री पीटर गटवाइन ने अपनी आपत्ति दर्ज कराई थी।
सीए ने एक बयान जारी करते हुए कहा, "महिला क्रिकेट का वैश्विक प्रसार क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। क्रिकेट सभी का खेल है और हम हर स्तर पर महिला क्रिकेट का समर्थन करते हैं।"
बयान में आगे कहा गया, "जिस तरह से अफ़ग़ानिस्तान से ख़बरें आ रही हैं कि अब तालिबान शासन में महिला क्रिकेट नहीं संभव हो पाएगा। ऐसी स्थिति में हम भी अफ़ग़ानिस्तान की मेज़बानी करने में सक्षम नहीं होंगे। हम शुक्रगुजार हैं कि ऑस्ट्रेलिया और तास्मेनिया की सरकार ने भी इस मुद्दे पर हमारा समर्थन किया है।"
ऑस्ट्रेलिया क्रिकेटर संघ (एसीए) ने बिना शर्त के इस मुद्दे पर सीए का समर्थन किया है। उन्होंने अपने बयान में कहा, "अफ़ग़ानिस्तान में जो कुछ भी हो रहा है, वह मानवाधिकार का मसला है। हम राशिद ख़ान जैसे क्रिकेटर को ऑस्ट्रेलिया में ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ टेस्ट मैच खेलते देखना चाहते हैं, लेकिन यह तब संभव नहीं है जब रोया समीम (अफ़ग़ानिस्तान महिला क्रिकेटर) और उनकी टीम को क्रिकेट खेलने से रोका जाएगा।"
वहीं अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने कहा है कि अफ़ग़ानिस्तान के अंतर्राष्ट्रीय दर्जे पर चर्चा अगले बोर्ड मीटिंग में होगी, जो कि नवंबर या उसके बाद ही होगा। इसका सीधा अर्थ है कि अगले महीने होने जा रहे टी20 विश्व कप में अफ़ग़ानिस्तान के भाग लेने पर कोई प्रश्न नहीं है।
अफ़ग़ानिस्तान ही आईसीसी का एक ऐसा पूर्णकालिक सदस्य है, जिसकी कोई नियमित महिला टीम नहीं है। हालांकि पिछले साल अफ़ग़ानिस्तान क्रिकेट बोर्ड (एसीबी) ने महिला क्रिकेटरों के लिए करार की घोषणा की थी ताकि एक नियमित टीम का निर्माण किया जा सके।

अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी में सब एडिटर दया सागर ने किया है।