मैच (19)
IPL (2)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
ACC Premier Cup (6)
Women's QUAD (2)
फ़ीचर्स

जम्मू-कश्मीर का 21 साल का लड़का 153 किमी प्रति घंटे की रफ़्तार से गेंद डाल रहा है : गंभीर

'उमरान मलिक गेंदबाज़ों की दुर्लभ प्रजाति से आते हैं, आप आसानी से इस रफ़्तार के गेंदबाज़ को नहीं ढूंढ सकते'

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2021 में सनराइज़र्स हैदराबाद का सफ़र तो थम गया लेकिन इस टीम ने उमरान मलिक जैसा एक ऐसा गेंदबाज़ पटल पर रख दिया, जो आज पूरी दुनिया में सुर्ख़ियां बटोर रहा है। पूर्व भारतीय बल्लेबाज़ गौतम गंभीर ने इन्हें अद्भुत प्रतिभा बताया तो पूर्व कैरेबियाई तेज़ गेंदबाज़ इयन बिशप ने भी उमरान को बड़ी खोज क़रार दिया।
ESPNcricinfo के कार्यक्रम 'टाइम आउट' में मौजूद गौतम गंभीर ने कहा, "एक वक़्त था जब हम तेज़ गेंदबाज़ों को ढूंढते रहते थे और हमारी तलाश पूरी नहीं होती थी और आज जम्मू का यह 21 साल का लड़का 153 किमी प्रति घंटे की रफ़्तार से गेंद डाल रहा है। यह लाजवाब है।"
"उमरान एक अद्भुत प्रतिभा हैं, एक युवा तेज़ गेंदबाज़ अगर 153 किमी प्रति घंटे की रफ़्तार से गेंदबाज़ी करे तो यह सच में लाजवाब है। यह ऐसा है जो सिर्फ़ एक क्रिकेट प्रशंसक को ही नहीं बल्कि पूरे देश को उत्साहित करता है। मुझे पूरा भरोसा है कि आने वाले दो सालों में लोग उमरान का भी नाम इसी तरह लेंगे जैसे अभी जसप्रीत बुमराह का ले रहे हैं। बस यही देखना है कि इन्हें किस तरह तराशा और रखा जाता है, अगर इन्हें सही देखरेख मिली तो आने वाले समय में यह गेंदबाज़ भारतीय तेज़ गेंदबाज़ी की नई जान हो सकता है। सिर्फ़ 21 साल की उम्र में ही वह लगातार 150+ की स्पीड से गेंदबाज़ी कर रहे हैं, यह शानदार है।"
गौतम गंभीर, पूर्व भारतीय बल्लेबाज़
जम्मू और कश्मीर की ओर से घरेलू क्रिकेट खेलने वाले उमरान मलिक रातों रात भारत के सबसे तेज़ गेंदबाज़ बन गए हैं। उन्होंने बुधवार की रात रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (आरसीबी) के ख़िलाफ़ हुए मैच में एक गेंद 153 किमी प्रति घंटे की रफ़्तार से डाली जो आईपीएल 2021 की सबसे तेज़ गेंद है। साथ ही साथ आईपीएल इतिहास में किसी भी भारतीय गेंदबाज़ द्वारा डाली गई ये सबसे तेज़ गेंद है। जबकि आईपीएल इतिहास में अब तक की सबसे तेज़ गेंद का रिकॉर्ड साउथ अफ़्रीका के अनरिख़ नॉर्खिए के नाम है, जिन्होंने दिल्ली कैपिटल्स की ओर से खेलते हुए पिछले सीज़न में 156.22 किमी प्रति घंटे की रफ़्तार से एक गेंद डाली थी।
इसी कार्यक्रम में पूर्व कैरेबियाई तेज़ गेंदबाज़ इयन बिशप भी मौजूद थे, वह भी उमरान से ख़ासा प्रभावित हुए।
"ज़रूरत है उमरान को एक अच्छी देखरेख की। बस मेरी गुज़ारिश है कि जो कोई भी इस तेज़ गेंदबाज़ को अपने निगरानी में रखे वह अच्छी तरह रखे और इन्हें निखारे। एक गेंद थी जो उमरान यॉर्कर डालना चाह रहे थे और वह फ़ुलटॉस हो गई थी लेकिन बल्लेबाज़ के पास काफ़ी तेज़ गई और स्पीड गन पर शो करने से पहले ही मैंने कह दिया था कि यह काफ़ी तेज़ गेंद है। सिर्फ़ रफ़्तार ही नहीं, उनकी लाइन और लेंथ भी सटीक है। ज़्यादातर वह शॉर्ट ऑफ़ गुड लेंथ गेंद डाल रहे हैं और यह काफ़ी प्रभावित करने वाला है। उमरान गेंदबाज़ों की दुर्लभ प्रजाति से आते हैं क्योंकि आप आसानी से इस रफ़्तार के गेंदबाज़ को नहीं ढूंढ़ सकते।"
इयन बिशप, पूर्व तेज़ गेंदबाज़, वेस्टइंडीज़
दाएं हाथ के तेज़ गेंदबाज़ उमरान मलिक की तारीफ़ उनके हैदराबाद के साथी और कैरेबियाई ऑलराउंडर जेसन होल्डर ने भी की। मैच के बाद प्रेज़ेंटेशन सेरेमनी में होल्डर ने कहा कि उनको देखकर ही रफ़्तार का ध्यान ज़ेहन में आता है।
"पहली चीज़ जो उन्हें देखकर ध्यान आता है वह है रफ़्तार। उनकी सबसे बड़ी ताक़त है उनकी रफ़्तार। किसी भी टीम के पास अगर इस तरह का तेज़ गेंदबाज़ हो तो टीम का आत्मविश्वास बढ़ जाता है। अच्छी बात यह है कि उनके पास नियंत्रण भी है। अक्सर देखा जाता है कि जो गेंदबाज़ तेज़ गेंद डालने की कोशिश करते हैं उनकी लाइन और लेंथ बिगड़ जाती है, लेकिन उमरान के साथ ऐसा नहीं है।"
उमरान मलिक को मौक़ा तब मिला जब टी नटराजन कोविड पॉज़िटिव पाए गए थे और उनके रिप्लेसमेंट के तौर पर उमरान को नेट गेंदबाज़ से मुख्य दल में लाया गया। उमरान ने अभी तक प्रथम श्रेणी मुक़ाबले नहीं खेले हैं। उन्होंने जम्मू और कश्मीर का तीन टी20 और एक लिस्ट ए क्रिकेट में ही प्रतिनिधित्व किया है।

सैयद हुसैन ESPNCricinfo हिंदी में मल्टीमीडिया जर्नलिस्ट हैं।@imsyedhussain