मैच (6)
IPL (2)
ACC Premier Cup (2)
Women's QUAD (2)
ख़बरें

टी 20 वर्ल्ड कप में तरोताज़ा रहने के लिए क्रिस गेल ने छोड़ा आईपीएल का बबल

गेल ने कहा कि वह टी 20 विश्व कप में अपनी टीम की मदद करने के लिए ध्यान केंद्रित करना चाहते हैं।

क्रिस गेल ने आईपीएल के दूसरे हाफ़ में पंजाब के लिए 2 मैच खेले हैं।  •  BCCI

क्रिस गेल ने आईपीएल के दूसरे हाफ़ में पंजाब के लिए 2 मैच खेले हैं।  •  BCCI

पंजाब किंग्स ने घोषणा की है कि क्रिस गेल मानसिक थकान के कारण आईपीएल के बायो-बबल को छोड़ देंगे। इससे पहले कैरेबियन प्रीमियर लीग (सीपीएल) के बबल में शामिल गेल ने कहा कि वह अगले महीने टी 20 विश्व कप से पहले खुद को मानसिक रूप से तरोताज़ा रखने की कोशिश कर रहे हैं।
गेल ने एक बयान में कहा, "पिछले कुछ महीनों में मैं वेस्टइंडीज़ राष्ट्रीय टीम फिर सीपीएल और फिर आईपीएल बबल का हिस्सा रहा हूं। मानसिक रूप से खुद को तरोताज़ा महसूस करने के लिए मैंने यह फ़ैसला लिया है। मैं टी 20 विश्व कप में वेस्टइंडीज़ की टीम को मदद करना चाहता हूं और दुबई में एक ब्रेक लेना चाहता हूं। मुझे समय देने के लिए पंजाब किंग्स को धन्यवाद। मेरी इच्छाएं और उम्मीदें हमेशा टीम के साथ हैं।"
सिर्फ़ 6 खिलाड़ियों ने इस साल गेल से ज्यादा टी-20 मैच खेले हैं। उन्होंने इस साल अपने देश और अन्य क्लब के साथ 37 मैच खेले हैं। आईपीएल के दूसरे हाफ़ में गेल ने पंजाब किंग्स के लिए अब तक दो मैच खेले हैं। किंग्स के बयान में कहा गया है कि गेल के 17 अक्टूबर से शुरू होने वाले विश्व कप के लिए वेस्टइंडीज़ टीम में शामिल होने से पहले दुबई में ही रहने की उम्मीद है।
किंग्स के मुख्य कोच अनिल कुंबले ने कहा "मैंने क्रिस के ख़िलाफ़ खेला है और उन्हें पंजाब किंग्स में कोचिंग भी दी है। मैं कई वर्षों से उन्हें जानता हूं। वह हमेशा एक पूर्ण पेशेवर खिलाड़ी रहे हैं। हम एक टीम के रूप में उनके फ़ैसले और खुद को टी 20 विश्व कप के लिए तैयार करने की इच्छा का सम्मान करते हैं।"
गेल पिछले कुछ महीनों में बबल लाइफ़ से ब्रेक लेने वाले पहले क्रिकेटर नहीं हैं। बेन स्टोक्स, कायरन पोलार्ड, आंद्रे रसेल और डेविड वॉर्नर जैसे खिलाड़ियों ने भी मानसिक स्वास्थ्य का हवाला देते हुए क्रिकेट से ब्रेक लेने का फ़ैसला किया था।
कोविड -19 महामारी की शुरुआत से ही बबल थकान के कारण कई खिलाड़ी टूर्नामेंटों से अपना नाम वापस ले रहे हैं क्योंकि इस दौरान काफ़ी मैच खेले जा रहे हैं और इस दौरान खिलाड़ियों को बबल में रहते हुए काफ़ी कड़े नियमों का पालना करना पड़ता है।