मैच (6)
ऑस्ट्रेलिया बनाम वेस्टइंडीज़ (1)
एशिया कप (1)
भारत बनाम साउथ अफ़्रीका (1)
ईरानी ट्रॉफ़ी (1)
लेजेंड्स लीग (1)
वेस्टइंडीज़ बनाम न्यूज़ीलैंड (महिला) (1)
ख़बरें

जॉनी उनका नाम, 'करो या मरो' में कर के दिखाना उनका काम

बेयरस्टो और बेन स्टोक्स ने चाय के बाद पहले नौ ओवर में 102 रन बनाकर न्यूज़ीलैंड को धो डाला

Jonny Bairstow celebrates after scoring a 77-ball hundred, England vs New Zealand, 2nd Test, Nottingham, 5th day, June 14, 2022

शतक बनाने के बाद ख़ुशी का इज़हार करते बेयरस्टो  •  AFP/Getty Images

जॉनी बेयरस्टो को पांचवे दिन चाय के बाद एक अविश्वसनीय प्रत्याक्रमण शुरू करने के लिए "एक हैम और चीज़ टोस्टी एवं एक कप कॉफ़ी" पर्याप्त साबित हुआ। न्यूज़ीलैंड के विरुद्ध ट्रेंट ब्रिज टेस्ट में एक रोमांचक पांच विकेट की जीत ने बेयरस्टो के हिसाब से साबित कर दिया कि इंग्लैंड की नई सकारात्मक रणनीति के चलते वह अब "आसमान से आगे निकल" सकते हैं।
बेयरस्टो ने केवल 92 गेंदों पर 136 बनाए और उनका शतक 77 गेंदों पर आया। इंग्लैंड के लिए रिकॉर्ड है 76 गेंदों पर शतक, जो गिल्बर्ट जेसप ने ओवल में 1902 में रचा था। बेयरस्टो और कप्तान बेन स्टोक्स ने मिलकर एक नाज़ुक स्थिति में फंसी मैच को चाय के बाद पहले नौ ओवरों में 102 रन कूटकर एक तरफ़ा बना दिया। दोनों के बीच 179 रनों की साझेदारी केवल 20.1 ओवरों में आई और इंग्लैंड ने 299 का लक्ष्य 72 ओवरों के बजाय केवल 50 ओवर में हासिल कर लिया। बेयरस्टो ने इस चेज़ को विश्व कप जीतने वाली परफ़ॉर्मेंस का दर्जा दिया था और उस हिसाब से 50 ओवर का आंकड़ा बनता भी था।
पोस्ट-मैच में बेयरस्टो बोले, "आज बहुत मज़ा आया। आप जब ऐसी लय पकड़ लेते हैं तो रुकने का कोई मतलब नहीं बनता। जो योजना [न्यूज़ीलैंड] ने बनाया था उसके वजह से स्थिति करो या मरो से कम नहीं थी और हमें तो बस करना था।" इस योजना में काइल जेमिसन को पीठ में चोट से त्रस्त होकर बाहर एक थकती गेंदबाज़ी क्रम शॉर्ट गेंदों पर अधिक निर्भर कर रही थी। उनकी थकान का यह भी कारण था कि पहली पारी में इंग्लैंड के 539 रन के लिए उन्हें 128.2 ओवर मैदान पर बिताने पड़े थे।
बेयरस्टो ने बताया, "दूसरे छोर से बेन ने बताया, 'आप मैदान पर सीधे खेल कर एक रन लेने की सोचना भी नहीं। आराम से गेंद को दर्शकों के बीच भेजिए।' बस यही बात उत्प्रेरक साबित हुआ और आखिरकार यह दिन हमारा दिन साबित हुआ।" एक समय 48 गेंदों पर 43 रनों की तेज़ पारी खेल रहे बेयरस्टो ने अगले 44 गेंदों पर 10 चौक्के और सात छक्के जड़ दिए। अधिकांश छक्के उन्होंने मैदान के ब्रिजफोर्ड़ रोड के सहारे स्थित छोर पर लेग साइड बाउंड्री पर मारे। उन्होंने कहा, "अगर आप सोचें तो क्रिकेट में मूलतया आप हैं और गेंदबाज़ है। अगर आप चीज़ों को सरल रखें और गेंद को ध्यान से देखें तो आप अपना काम आसान कर लेते हैं।"
इस मैच में पांच दिन में 1675 रन बने और 1948 में हेडिंग्ले में ऐशेज़ टेस्ट के बाद यही एक टेस्ट मैच में सर्वाधिक रन हैं। बेयरस्टो ने इस बारे में कहा, "जब एक गेम में इतने रन बनते हैं तो आप रिकॉर्ड चेज़ के बारे में नहीं सोचते लेकिन एक मौक़ा ज़रूर देखते हैं। हमने इसे वनडे मैच की तरह देखा। पिच बहुत अच्छी थी और आउटफ़ील्ड काफ़ी तेज़ थी और हमने इस ऐसे ही देखा। अगर आप नकारात्मक सोच लेकर चलते तो आप घबरा सकते हैं। हम सकारात्मक सोचते हैं और ऐसे खिलाड़ी हैं जो वैसा क्रिकेट भी खेल सकते हैं। ड्रेसिंग रूम में ऐसे माहौल से सब के अंदर आत्मविश्वास का संचार होता है। ऐसे दिन बड़े उत्साहवर्धक होते हैं और आगे आने वाले हफ़्तों और महीनों में देखना पड़ेगा इसे हम कैसे बरक़रार रखेंगे।"
नॉटिंघमशायर ने पांचवे दिन मैदान में निःशुल्क एंट्री रखी थी और इसके चलते दर्शकों के योगदान ने भी इस दिन को और ख़ास बनाया। बेयरस्टो ने इस नौवें टेस्ट शतक के बारे में कहा, "यह पहली नंबर पर आएगा। इंग्लैंड के टेस्ट क्रिकेट पर पिछले दो वर्षों से कई लोग टिप्पणी कर रहे थे। मेरे ख़्याल से हमने जैसे [कोविड इत्यादि] का सामना किया है मुझे उस पर बहुत गर्व है। हम एक जुट होकर खेलते हैं और अगर हम यही गतिशीलता रख सकते हैं तो हम आसमान से आगे निकल जाएंगे।"
जो रूट के नेतृत्व में 17 टेस्ट मैचों में एक जीतने के बाद इंग्लैंड टीम ने ना सिर्फ़ स्टोक्स की कप्तानी में पहले दो टेस्ट जीती है बल्कि जनवरी 2021 के बाद किसी सीरीज़ पर कब्ज़ा पक्का कर लिया है। स्टोक्स ने पूरी टीम की प्रशंसा की और ख़ास तौर पर गेंदबाज़ों की तीसरी पारी में गेंदबाज़ी करते हुए लक्ष्य को 300 के नीचे रखने में योगदान को सराहा। उन्होंने कहा, "खिलाड़ियों ने पांचों दिन कड़ी मेहनत की, चाहे वह बल्लेबाज़ी, गेंदबाज़ी या फ़ील्डिंग में हो। आज का खेल एक अच्छा उदहारण था कि हम किस तरह की क्रिकेट खेलना चाहते हैं। ख़तरा दिखने पर उससे दूर नहीं बल्कि उसी की ओर दौड़ना। आज हमने ऐसा ही किया और सिर्फ़ मैंने और जॉनी ने नहीं। ऊपरी क्रम में लीजी [ऐलेक्स लीज़] ने दोनों पारियों में बेहतरीन शुरुआत दिलाई। टेस्ट क्रिकेट हमेशा ऐसा नहीं होगा जैसा आज था लेकिन आपको अपने विपक्ष पर दबाव बनाना पड़ता है। एक बार जब जॉनी अपनी 'जॉनी निगाहें' दिखाते हैं तो उन्हें रोकना मुश्किल हो जाता है।"
स्टोक्स एक वक़्त क़दमों का इस्तेमाल करते हुए अपने बाएं घुटने में असहजता महसूस करते दिखे लेकिन कप्तान के अनुसार वह "ठीक" हैं। उन्होंने कहा, "आप घरेलू समर्थकों की ऊर्जा शक्ति को कम नहीं आंक सकते।" और इस क़िस्से में अगला अध्याय? "हेडिंग्ले...जहां हम फिर से और तेज़ प्रहार करेंगे।"

एलन गार्डनर ESPNcricinfo के डिप्टी एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी में सीनियर सहायक एडिटर और स्थानीय भाषा लीड देबायन सेन ने किया है।