मैच (6)
LPL (2)
TNPL (1)
MLC (2)
ZIM v IND (1)
ख़बरें

रेटिंग्स : हारे हुए मैच में ऋचा घोष और राधा यादव ने साबित की अपनी उपयोगिता

भारत को अपनी बल्लेबाज़ी पर देना होगा विशेष ध्यान

Richa Ghosh swipes at one down the leg side, England vs India, 3rd T20I, Bristol, September 15, 2022

ऋचा के द्वारा बनाए गए 33 रन भारतीय टीम को 120 के पार ले जाने में अहम साबित हुई  •  PA Images via Getty Images

भारत और इंग्लैंड के बीच चल रहे टी20 सीरीज़ का आख़िरी मैच जीतकर इंग्लैंड ने सीरीज़ को 2-1 से अपने नाम कर लिया। इस मैच में टॉस हारकर पहले बल्लेबाज़ी करने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत बेहद ख़राब रही और उन्होंने अपने शुरुआती छह बल्लेबाज़ सिर्फ़ 52 रन पर ही गंवा दिए। ऐसे में एक समय भारत के लिए 100 रन का स्कोर भी मुश्किल लग रहा था। लेकिन अंत में दीप्ति शर्मा, ऋचा घोष और पूजा वस्त्रकर की उपयोगी पारियों की मदद से भारत ने 122 रन का सम्मानजनक स्कोर खड़ा किया। हालांकि इंग्लैंड की टीम ने इस स्कोर को 19वें ओवर में तीन विकेट खोकर आराम से हासिल कर लिया।

क्या सही और क्या ग़लत?

भारत के लिए इस मैच में सही गिनाने के लिए कुछ ख़ास नहीं था। हां, बस यह कह सकते हैं कि टीम से लगातार अंदर बाहर होने वाली ऋचा घोष और राधा यादव ने अपनी उपयोगिता एक बार फिर से साबित की। वहीं विदेशों में लगातार जीतने के लिए भारत को अपनी बल्लेबाज़ी पर काफ़ी ध्यान देना होगा। जिस तरह से पहले पाच विकेट 35 रन के भीतर गिरे, उससे साफ़ लगता है कि टीम इंडिया के शीर्ष और मध्य क्रम में कुछ मूलभूत और आमूलचूल बदलाव की ज़रूरत है।

प्लेयर रेटिंग्स (1 से 10, 10 सर्वाधिक)

स्मृति मांधना, 7: पिछले मैच में शानदार 79 रन बनाकर सीरीज़ में भारत को वापस लाने वाली स्मृति ने दो चौके लगाकर आज भी अच्छे फ़ॉर्म में होने के संकेत दिए लेकिन सोफ़ी एकलस्टन के एक बेहतरीन कैच ने उनकी पारी का अंत कर दिया। एकलस्टन लांग ऑन से अपने बायीं ओर दौड़ती हुई आईं और लांग ऑफ पर डाइव लगाकर स्मृति का एक अविश्वसनीय कैच लपका।
शेफ़ाली वर्मा, 5.5: भारत की ताबड़तोड़ सलामी बल्लेबाज़ शेफ़ाली के लिए यह इंग्लैंड दौरा भूल देने वाला रहा है। पहले दो मैचों में क्रमशः 14 और 20 रन स्कोर बनाने वाली शेफ़ाली इस मैच में भी कुछ ख़ास नहीं कर सकीं और 12 गेंदों में सिर्फ़ पांच रन बनाकर चलती बनीं।
एस मेघना, 4.5: इस दौरे पर अपना पहला मैच खेल रहीं एस मेघना के लिए यह ख़राब दिन रहा। दयालन हेमलता की जगह तीसरे नंबर पर भेजी गईं मेघना इस प्रमोशन का फ़ायदा नहीं उठा पाईं। पहले तो उन्होंने आठ डॉट गेंदें खेलीं और फिर नौवीं गेंद पर बिना खाता खोले ही पवेलियन में थीं।
हरमनप्रीत कौर, 6: पहले तीन विकेट जल्दी गिरने के बाद पारी को संभालने की ज़िम्मेदारी कप्तान हरमनप्रीत पर थी। लेकिन वह भी आज अपने रंग में नही दिखीं। उनके नाम 14 गेंदों में सिर्फ़ पांच रन था और वह क्लीन बोल्ड हो गईं।
दयालन हेमलता, 4: लंबे समय बाद भारतीय टीम में वापसी कर रहीं हेमलता के लिए इंग्लैंड दौरे पर कुछ भी अच्छा नहीं हुआ है। पहले दो मैचों में क्रमशः 10 और 9 का स्कोर बनाने के बाद वह इस मैच में शून्य पर आउट हुईं। फ़ील्डिंग में भी उन्होंने स्वीपर कवर पर ऐलिस कैप्सी का कैच छोड़ा।
दीप्ति शर्मा, 8: दीप्ति के लिए जहां बल्ले से अच्छा दिन रहा, वहीं गेंदबाज़ी में वह साधारण दिखीं। चार विकेट गिरने के बाद पवेलियन में आईं दीप्ति ने एक छोर संभाले रखा और पारी के एंकर की भूमिका अदा की। उनकी 25 गेंद की 24 रन की पारी में एक भी बाउंड्री नहीं थी। वहीं गेंदबाज़ी में उन्होंने फ़ुलटॉस या कमज़ोर शॉर्ट गेंदें फेंकी, जिसका इंग्लिश बल्लेबाज़ों ने भरपूर फ़ायदा उठाया।
स्नेह राणा, 7.5: स्नेह राणा के लिए यह अपना जौहर दिखाने के लिए बढ़िया मौक़ा था, जैसा कि वह पहले भी इंग्लैंड की सरज़मीं पर करती आई हैं। लेकिन शायद यह उनका दिन नहीं था। जहां वह बल्लेबाज़ी में 15 गेंदों में सिर्फ़ आठ रन बना सकीं, वहीं गेंदबाज़ी में उन्होंने कम स्कोर वाले मैच में आठ की इकॉनमी से रन दिए। हालांकि भारत को पहली सफलता दिलाने का श्रेय उन्हें ही जाता है।
ऋचा घोष, 9.5: युवा विकेटकीपर बल्लेबाज़ को तो पूरे के पूरे नंबर मिलने चाहिए। एक तरफ़ जहां विकेट पर विकेट गिरे जा रहे थे, वहीं दूसरी ओर आठवें नंबर पर आते हुए घोष ने कमाल की पारी खेली। उनकी पारी में टी20 क्रिकेट का हर एक शॉट मौजूद था और उन्होंने मैदान के हर एक कोने में शॉट लगाने की कोशिश की। 22 गेंदों में पांच चौकों की मदद से खेली गई 33 रन की पारी ने चयनकर्ताओं पर भी सवाल उठाए कि क्यों वह कॉमनवेल्थ गेम्स की टीम में नहीं थीं।
पूजा वस्त्रकर, 9: लड़खड़ाती हुई भारतीय पारी को जहां एक छोर से ऋचा ने संभाला, वहीं दूसरी छोर से पूजा ने। जहां उन्होंने पारी को अंत में तेज़ी देते हुए 11 गेंदों में दो चौकों की मदद से 19 रन बनाए, वहीं अंत में गेंदबाज़ी के लिए आते हुए तीन ओवरों में सिर्फ़ 16 रन दिए और सोफ़िया डंकली का महत्वपूर्ण विकेट झटका।
राधा यादव, 9.5 : राधा आज फ़ील्ड पर कमाल थीं। बल्लेबाज़ी में उन्हें सिर्फ़ दो गेंद मिला लेकिन इसमें भी उन्होंने एक चौका लगाया, फिर एक शानदार कैच लपक कर भारत को पहला विकेट दिलाने में मदद की। वहीं जब उनकी गेंदबाज़ी की बारी आई तो उन्होंने ना सिर्फ़ मेडेन ओवर फेंककर दबाव बनाया बल्कि एमी जोंस का महत्वपूर्ण विकेट भी झटका। राधा की कसी हुई गेंदबाज़ी से एक समय मैच फंस गया था लेकिन ऐलिस कैप्सी और ब्रायोनी स्मिथ ने इंग्लिश पारी को सफलतापूर्वक बाहर निकाला।
रेणुका सिंह, 7 : शानदार फ़ॉर्म में चल रही रेणुका के लिए यह साधारण दिन रहा। जहां उनकी बल्लेबाज़ी नहीं आई, वहीं गेंदबाज़ी में उन्हें सीरीज़ के दूसरे मैच में कोई विकेट नहीं मिला, वहीं उन्होंने कम स्कोर के मैच में चार ओवर में 33 रन लुटाए।

दया सागर ESPNcricinfo हिंदी में सब एडिटर हैं।dayasagar95