मैच (15)
IPL (2)
ACC Premier Cup (2)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
Women's QUAD (2)
ख़बरें

10 फ़रवरी से 26 जून के बीच दो चरणों में खेली जाएगी रणजी ट्रॉफ़ी

लीग चरण आईपीएल 2022 से पहले आयोजित किया जाएगा

2020 में खेले गए पिछले संस्करण में सौराष्ट्र ने रणजी ट्रॉफ़ी अपने नाम की थी  •  ESPNcricinfo Ltd

2020 में खेले गए पिछले संस्करण में सौराष्ट्र ने रणजी ट्रॉफ़ी अपने नाम की थी  •  ESPNcricinfo Ltd

भारतीय घरेलू क्रिकेट की सबसे प्रतिष्ठित प्रतियोगिता, रणजी ट्रॉफ़ी, इस सीज़न 10 फ़रवरी से 26 जून के बीच नौ मैदानों पर खेली जाएगी।
प्रतियोगिता का पहला चरण (लीग स्टेज) 10 फ़रवरी से 15 मार्च तक चलेगा। इस चरण में 38 टीमों के बीच 57 मुक़ाबले खेले जाएंगे। नॉकआउट मैच इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2022 के समापन के बाद खेले जाएंगे। 30 मई से 26 जून के बीच इस दूसरे चरण में कुल सात मैच होंगे।
बोर्ड के सदस्यों को भेजे गए एक पत्र में, बीसीसीआई के सचिव जय शाह ने बताया कि यह संशोधित कार्यक्रम "किसी भी क्रॉस-संक्रमण के जोखिम को कम करने के लिए बनाया गया है। साथ ही यह भी सुनिश्चित किया गया कि बायो-बबल पर अधिक बोझ न हों।"
38 टीमों को नौ ग्रुपों (आठ एलीट और एक प्लेट) में बांटा जाएगा कुल मिलाकर इस पूरी प्रतियोगिता में 62 दिनों के भीतर 64 मुक़ाबले खेले जाएंगे। प्रत्येक एलीट ग्रुप में चार जबकि प्लेट ग्रुप में छह टीमें होंगी। लीग चरण में प्रत्येक टीम तीन मैच खेलेगी। जहां एलीट ग्रुप में टीमें अपने ग्रुप की अन्य तीन टीमों से भिड़ेंगी वहीं प्लेट ग्रुप में प्रत्येक टीम का सामना अन्य तीन टीमों से होगा।
एलीट ग्रुप की शीर्ष सात टीमें क्वार्टर-फ़ाइनल के लिए स्वत: क्वालीफ़ाई कर लेंगी, जबकि एलीट ग्रुप की सबसे कम रैंकिंग वाली टीम प्री-क्वार्टर फ़ाइनल मैच में प्लेट ग्रुप की शीर्ष टीम से टकराएगी। प्री-क्वार्टर फ़ाइनल लीग चरण के दौरान ही खेला जाएगा, जो 27 मार्च को आईपीएल शुरू होने से पहले समाप्त होगा।
बीसीसीआई के एक अधिकारी ने ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो को बताया कि एलीट ग्रुपों की शीर्ष आठ टीमों का रैंकिंग क्रम अंकों के आधार पर तय किया जा सकता है। अगर अंकों के आधार पर टीमें बराबरी पर रहती हैं तो इसके बाद प्रत्यक्ष जीत और उसके बाद भागफल का उपयोग किया जाएगा।। चूंकि प्रत्येक टीम केवल तीन मैच खेलेगी, यह संभावना है कि टीमें अंकों और जीतों के आधार पर बराबरी पर रहेगी। ऐसे में भागफल यह निर्धारित करने वाला कारक हो सकता है कि कौन सी टीम प्री-क्वार्टर फ़ाइनल खेलती है। इस भागफल की गणना करने के लिए बल्लेबाज़ी करते हुए एक टीम द्वारा प्रति विकेट गंवाने पर बनाए गए औसतन रनों को गेंदबाज़ी के दौरान प्रत्येक विकेट चटकाने के लिए ख़र्च किए गए औसतन रनों से विभाजित किया जाता है। यह संख्या जितनी बड़ी होगी, उतना फ़ायदा टीम को होगा।*
एलीट ग्रुप के मुक़ाबले राजकोट, कटक, चेन्नई, अहमदाबाद, तिरुवनंथपुरम, दिल्ली, हरियाणा और गुवाहाटी में खेले जाएंगे। कोलकाता प्लेट ग्रुप के सभी मैचों की मेज़बानी करेगा।
रणजी ट्रॉफ़ी मूल रूप से 13 जनवरी से शुरू होने वाली थी, लेकिन भारत में बढ़ते कोरोना मामलों के कारण इसे अनिश्चित काल के लिए स्थगित करना पड़ा था। इस प्रतियोगिता के आयोजन का निर्णय लेते समय, जय शाह ने कहा कि महामारी की तीसरी लहर से ठीक होने वाले मरीज़ों की संख्या उत्साहजनक है। हालांकि बीसीसीआई किसी भी जोखिम को कम करने के लिए बायो-बबल बनाना जारी रखेगी।
राज्य संघों को भेजे गए पत्र में शाह ने लिखा था, "जब से इस प्रतियोगिता को स्थगित करने का निर्णय लिया गया था, बोर्ड कई योजनाओं पर काम कर रहा था ताकि परिस्थितियां बेहतर होने पर इसे आयोजित किया जा सके। हम किसी भी जोखिम को टालने के लिए बायो-बबल में खेलना जारी रखेंगे। बोर्ड सभी खिलाड़ियों को एक सुरक्षित और स्वस्थ वातावरण देने के लिए प्रतिबद्ध है और एक सुरक्षित टूर्नामेंट सुनिश्चित करने में आप सभी का समर्थन चाहता है।"
कोरोना महामारी ने पिछले साल भी क्रिकेट को काफ़ी प्रभावित किया था और बीसीसीआई केवल विजय हज़ारे ट्रॉफ़ी और सैयद मुश्ताक़ अली ट्रॉफ़ी का आयोजन कर पाई थी। हालांकि इसके बदले बोर्ड ने खिलाड़ियों को मुआवज़े के तौर पर मैच फ़ीस का 50 प्रतिशत भुगतान किया था ताकि प्रथम श्रेणी खिलाड़ियों को आर्थिक नुक़सान न हो।
* एलीट ग्रुप टीमों के रैंकिंग मापदंड को शामिल करने के लिए इस ख़बर को अपडेट किया गया था।