ख़बरें

सभी ने विराट से टी20 कप्तानी के पद से हटने पर 'पुनर्विचार' करने को कहा था : चेतन शर्मा

भारतीय चयनकर्ता ने रोहित और विराट के रिश्ते के बारे में भी खुल कर अपनी बात रखी

Virat Kohli issues instructions even as the game goes away from India, India vs New Zealand, TZ20 World Cup, Group 2, Dubai, October 31, 2021

जब बैठक शुरू हुई, तो यह सभी के लिए एक आश्चर्य की बात थी - चेतन शर्मा  •  Getty Images

मुख्य चयनकर्ता चेतन शर्मा ने शुक्रवार को कहा कि बैठक में मौजूद सभी लोगों ने विराट कोहली से टी20 कप्तानी के पद से हटने के बारे में एक और बार सोचने को कहा था।
प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से किसी श्रृंखला के लिए टीमों की घोषणा के हाल के मानदंडों को तोड़ते हुए, चेतन ने कल एक प्रेस कॉन्फ़्रेंस में साउथ अफ़्रीका में तीन मैचों की श्रृंखला के लिए वनडे टीम की घोषणा की। उनसे पूछा गया कि क्या कोहली को वास्तव में टी20 कप्तानी नहीं छोड़ने के लिए कहा गया था, जब उन्होंने टी20 विश्व कप से ठीक पहले बोर्ड और चयनकर्ताओं को उस निर्णय से अवगत कराया था।
"जब बैठक शुरू हुई, तो यह सभी के लिए एक आश्चर्य की बात थी," चेतन ने कहा। "चूंकि आप लगभग एक विश्व कप के बीच में हैं और फिर आप यह ख़बर सुनते हैं। इस पर एक सामान्य व्यक्ति की प्रतिक्रिया क्या होगी? बैठक में मौजूद सभी लोगों ने उनसे पुनर्विचार करने और इस संदर्भ में फिर से सोचने के लिए कहा; 'हम विश्व कप के बाद इस बारे में बात कर सकते हैं।' सभी चयनकर्ताओं को लगा कि इससे विश्व कप में प्रदर्शन प्रभावित हो सकता है। विराट को भारतीय क्रिकेट की ख़ातिर कप्तान के रूप में बने रहने के लिए कहा गया था।"
"बोर्ड के सभी संयोजक और अधिकारी वहां थे। जब आप ऐसी ख़बर सुनेंगे? आप सदमे में होंगे। हमने विराट से कहा कि विश्व कप शुरू होने वाला है, और सभी ने अनुरोध किया कि इस बारे में विश्व कप के बाद बात करें।"
"लेकिन उनकी अपनी योजनाएं हैं। हमें उनके फै़सले का सम्मान करना होगा। अगर किसी ने निर्णय लिया है, और उसने मीडिया में भी कहा, कि वह डब्ल्यूटीसी के समय से इस बारे में सोच रहा था तो आपको उसकी बातों पर ध्यान देना होगा। हालांकि उस समय सभी ने कहा उन्हें इसके बारे में एक और बार सोचना चाहिए।"
कोहली ने पहले बीसीसीआई अध्यक्ष के इसी तरह के दावों का खंडन करते हुए कहा था, "मुझे नहीं कहा गया था कि आप टी20 कप्तानी न छोड़ें। इसके बजाय इसे अच्छी तरह से स्वीकार किया गया था, मुझे बताया गया था कि यह एक बहुत ही प्रगतिशील क़दम है और सही दिशा में है।" जब कोहली ने टी20I कप्तानी छोड़ दी, तो गांगुली ने वनडे कप्तान के रूप में कोहली के निष्कासन को एक स्वाभाविक क़दम बताया था। हालांकि कोहली के बयान के बाद एक विवाद उत्पन्न हो गया था और साथ ही बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरव गांगुली के बयान और कोहली के बयान में एक साफ़ अंतर देखा जा सकता था। गांगुली ने कहा था कि हम नहीं चाहते थे कि कोहली अपनी टी20 कप्तानी छोड़ दें।
चेतन ने कहा, "सभी का मुख्य लक्ष्य एक ही है : भारतीय टीम को शीर्ष पर रखना। हम विवाद नहीं चाहते। यही कारण है कि हम बाहर आकर इस बारे में ज़्यादा कुछ नहीं कहते। हमारा काम टीम का चयन करना है और यह सुनिश्चित करना है कि सबसे अच्छा खिलाड़ी मैदान पर जाकर देश के लिए खेले। जब ये विवाद होते हैं, तो यह हमें क्रिकेटरों के रूप में दुखी करता है।"
"मैं मज़ाक कर रहा था कि एजाज़ पटेल को न्यूज़ीलैंड ने दस विकेट लेने के बाद बाहर कर दिया है। कल्पना कीजिए कि अगर हमने कुछ ऐसा ही किया होता, तो हमारे साथ क्या होता।"
कोहली का निहितार्थ शायद यह था कि उन्होंने टेस्ट और वनडे कप्तान के रूप में बने रहने की इच्छा व्यक्त की थी जब उन्होंने सबसे छोटे प्रारूप के कप्तान के रूप में इस्तीफ़ा दे दिया था। लेकिन चयनकर्ताओं ने उन्हें साउथ अफ़्रीका दौरे की टेस्ट टीम के चयन से 90 मिनट पहले ही इस फ़ैसले के बारे में बताया था।
चेतन से पूछा गया कि उन्होंने कोहली को यह क्यों नहीं बताया कि अगर उन्होंने टी20 कप्तानी छोड़ दी तो वनडे नेतृत्व की भी गारंटी नहीं होगी।
चेतन ने कहा, "अगर विराट ने आपको टी20 के फै़सले के बारे में बताया तो क्या आप उस वक़्त बता पाते कि हमें एक या दो कप्तान चाहिए। ऐसा करने का यह सही समय नहीं था, हम एक विश्व कप के बीच में थे। हम केवल यह सोच रहे थे कि यह निर्णय विश्व कप में हमें प्रभावित ना करे। हमें चीज़ों को शांतिपूर्ण तरीक़े से आगे बढ़ाना चाहिए। उस समय हमारे पास विभाजित कप्तानी के बारे में सोचने का समय नहीं था, हमने केवल अनुरोध किया था कि इस पर बाद में चर्चा की जा सकती है। बोर्ड में सभी ने ऐसा कहा था।"
"जब आप श्रृंखला के बीच में होते हैं, तो आप हमेशा ऐसी बातें नहीं कह सकते हैं। आप केवल तभी निर्णय लेते हैं जब चयनकर्ता उस प्रारूप के बारे में सोचना शुरू करते हैं। इसलिए जब चयनकर्ताओं ने चर्चा की तो हमें लगा कि हमारे पास सफ़ेद गेंद में एक ही कप्तान होना चाहिए, हमने विराट से यही कहा, और वह मान गए। हमारे मन में जो था, हमने उसे बता दिया। किसी भी बात पर चर्चा करने के लिए हम हमेशा तैयार हैं। कोई समस्या नहीं है। "
कोहली को टेस्ट टीम के चयन के बैठक से पहले इस बात बताने के फै़सले पर चेतन ने कहा कि वह दोनों कप्तानों को समय देना चाहते थे। चेतन ने कहा, "हम किसी टेस्ट श्रृंखला के बीच में उन्हें परेशान नहीं करना चाहते थे। हम विराट और रोहित शर्मा को इसे संसाधित करने के लिए थोड़ा समय देना चाहते थे।"
"चयनकर्ताओं ने हमेशा बोर्ड के साथ शानदार ढंग से संवाद किया है। टीम प्रबंधन के साथ, कप्तान के साथ, यहां तक ​​कि घरेलू खिलाड़ियों के साथ कोई संचार समस्या नहीं है। हम पांचों चयनकर्ता घरेलू खिलाड़ियों से बात करते हैं क्योंकि यह हमारा काम है, या कहें कि हमारा कर्तव्य है। हमने विराट से कहा कि सभी को समय दें। और हमने बैठक से पहले सूचित किया। आप उसे तभी बता सकते हैं जब चयनकर्ता मिले और उस फ़ैसले पर सहमत हुए। हमारा एक चयनकर्ता साउथ अफ़्रीका में 'ए' टीम के साथ था। इसलिए एक साथ मिलने के लिए हमें थोड़ा समय चाहिए था।"
चेतन ने इस फै़सले के पीछे का कारण वही बताया, जो गांगुली ने भी कहा था: "जब योजना बनाने की बात आती है, तो चयनकर्ता सफ़ेद गेंद में दो कप्तानों के साथ सहज नहीं थे। इसलिए हमने सोचा कि हमारे पास एक सफ़ेद गेंद वाला कप्तान और एक टेस्ट कप्तान होना चाहिए। यह एक कठिन निर्णय था, लेकिन हमें चयनकर्ताओं के रूप में कठिन निर्णय लेने होंगे। हमने यह निर्णय लिया, मैं विराट को जानता हूं। वह एक महत्वपूर्ण खिलाड़ी है, और आने वाले दिनों और आने वाले वर्षों में वह हमारे लिए एक बहुत ही अहम खिलाड़ी बनने जा रहे हैं।"
इस दौरान चेतन ने कोहली और रोहित के बीच अनबन की ख़बरों को भी ख़ारिज कर दिया। यह पूछे जाने पर कि क्या कोहली और रोहित के साथ बैठकर इन बातों को साफ़ करने की बात हुई है तो चेतन ने कहा, "लेकिन किस बारे में? चीजे़ं बिल्कुल ठीक हैं। इसलिए मैं कह रहा था कि अटकलों पर मत जाओ। हम सभी पहले क्रिकेटर हैं और चयनकर्ता बाद में हैं। उनके बीच कुछ भी नहीं है।"
"कभी-कभी मैं उनके बारे में रिपोर्ट पढ़ता हूं और हंसता हूं। मैं आपको बता रहा हूं कि भविष्य को लेकर उनके बीच काफ़ी अच्छी योजना है। चीजे़ं शानदार हैं। अगर आप मेरी जगह होते, तो आपको यह देखने में मज़ा आता कि ये लोग एक साथ कैसे काम कर रहे हैं। यह वास्तव में दुख की बात है जब लोग इस तरह की चीजे़ं या कहानियां बनाते हैं। तो कृपया 2021 में विवादों को पीछे छोड़ दें। आइए बात करते हैं कि उन्हें सर्वश्रेष्ठ टीम कैसे बनाया जाए।"
चेतन ने कहा कि चयनकर्ता ज़रूरत पड़ने पर प्रेस वार्ता फिर से शुरू करने जा रहे हैं। उन्होंने कहा, "हम कुछ भी छिपाना नहीं चाहते। जो लोग कुछ ग़लत करते हैं वे आमतौर पर चीज़ें छिपाते हैं। हम कुछ भी नहीं छिपा रहे हैं।"