फ़ीचर्स

शुभमन की पारी ने भारत के मज़बूत बेंच स्ट्रेंथ को प्रदर्शित किया

उन्होंने 53 गेंदों में 64 रनों की आक्रामक पारी खेली

Shubman Gill brought up his maiden ODI fifty off 36 balls, West Indies vs India, 1st ODI, Port-of-Spain, July 22, 2022

शुभमन गिल ने 36 गेंदों में अपना पहला एकदिवसीय अंतर्राष्ट्रीय अर्धशतक पूरा किया  •  AFP/Getty Images

टॉस के वक़्त शिखर धवन ने कहा कि आज के मैच में सीनियर खिलाड़ियों की अनुपस्थिति में श्रेयस अय्यर, सूर्यकुमार यादव, संजू सैमसन और मेरा प्रदर्शन काफ़ी महत्वपूर्ण होने वाला है। धवन ने 97 रनों की पारी खेली जो बिल्कुल रिस्क फ़्री था। अय्यर ने भी शॉर्ट पिच गेंदों से बढ़िया तरीक़े से निपटते हुए 57 गेंदों में 54 रनों की पारी खेली। वहीं सूर्यकुमार यादव और सैमसन ने क्रमश: 12 और 13 रन बनाते हुए सस्ते में निपट गए।
हालांकि शुभमन गिल ने भी कल कमाल का प्रदर्शन करते हुए 53 गेंदों में 64 रनों की बेहतरीन पारी खेली। एक समय ऐसा लग रहा था कि वह शतक भी लगा सकते हैं लेकिन दुर्भाग्य से वह रन आउट हो गए। गिल शुक्रवार को जिस तरह के लय में दिख रहे थे, उससे तो ऐस प्रतीत हुआ कि रन आउट के अलावा वह किसी और तरीक़े से आउट ही नहीं हो सकते थे।
क्वींस पार्क की पिच भी बल्लेबाज़ी के अनुकूल थी। गेंद बड़े आराम से बल्ले पर आ रही थी। आउटफ़ील्ड भी कमाल का था। इसके अलावा शुरुआती ओवरों में वेस्टइंडीज़ के गेंदबाज़ भी किसी तरह का प्रभाव छोड़ने में असफल हो रहे थे। गिल के प्रदर्शन ने कल फिर से बता दिया कि भारतीय टीम के पास कितना बढ़िया बेंच स्ट्रेंथ है। हालांकि मैच शुरू होने से पहले गिल भारतीय टीम के ओपनिंग स्लॉट में पहली पसंद नहीं थे। इससे पहले की सीरीज़ में हमने देखा है कि इशान किशन और ऋतुराज गायकवाड़ को एक सलामी बल्लेबाज़ के तौर पर काफ़ी मौक़े दिए जा रहे हैं। ऋतुराज ने तो हालिया विजय हज़ारे ट्रॉफ़ी के पांच मैचों चार शतक लगाते हुए 603 रन बनाए।
गिल को टेस्ट क्रिकेट में हमेशा सलामी बल्लेबाज़ के तौर पर देखा जाता है। वही उन्हें मौक़ा भी मिलता है लेकिन हालिया समय में यह चर्चा भी हुई है कि गिल को मिडिल ऑर्डर में जगह दी जाए। हालांकि भारतीय टीम प्रबंधन ने धवन के साथ गिल को ओपनिंग करने के लिए भेजा, जिससे सूर्यकुमार और दीपक हुड्डा दोनों के लिए मध्य क्रम में जगह खाली हो गई।
गिल ने मैच की पहली ही गेंद पर चौका लगा कर बता दिया था कि वह किस तरह से अपनी बल्लेबाज़ी को आगे बढ़ाने वाले हैं। इसके बाद अल्ज़ारी जोसेफ़ ने गिल को एक शॉर्ट पिच गेंद डाला जिसे गिल ने फ़ाइन लेग सीमा रेखा के बाहर पहुंचा दिया। इसके बाद जोसेफ़ ने अपनी लेंथ को पीछे खींचते हुए हार्ड लेंथ गेंद फेंकी लेकिन गिल आगे निकल कर आए और गेंद को प्वाइंट और कवर के बीच से सीमा रेखा के बाहर भेज दिया।
इसके बाद सील्स ने भी गिल को ऑफ़ स्टंप के बाहर शॉर्ट गेंद फेंकी, जिसे गिल ने बैकवर्ड प्वाइंट की दिशा में सीमा रेखा के बाहर पहुंचा दिया। शुरुआती वर्षों में गिल ने सीमेंट की पिचों पर काफ़ी अभ्यास किया है। इसी कारण से गिल बैकफ़ुट पर काफ़ी मज़बूत हैं। गिल ने इस मैच में सील्स और जोसेफ़ की अतिरिक्त गति का लाभ उठाते हुए ख़ूब रन बटोरे।
गिल के इस आक्रमण ने निकोलस पूरन को गेंदबाज़ बदलने पर मजबूर कर दिया। इसके बाद काइल मेयर्स गेंदबाज़ी करने आए, जो मीडियम पेस गेंदबाज़ी करते हैं। इससे शिखर धवन के पास रन बनाने का मौक़ा आ गया। उन्होंने मेयर्स के ओवर में मिड ऑन के ऊपर से शानदार चौका लगाया।
इसके बाद पूरन ने लेग स्पिनर गुडाकेश मोती को गेंद थमा दिया। गिल ने उस ओवर में भी मिड ऑन के ऊपर से सिक्सर लगाया। गिल के इस आक्रामक अंदाज़ के कारण 12 ओवर के बाद भारत का स्कोर 88 तक पहुंच गया था।
गिल ग़ज़ब के लय में दिख रहे थे और ऐसा लग रहा था कि भारत एक बड़े स्कोर की तरफ़ अग्रसर है लेकिन एक सिंगल चुराने के प्रयास में वह रन आउट हो गए और वहीं से भारतीय टीम की पारी धीमी पड़ने लगी।
गिल ने इनिंग्स ब्रेक के दौरान ब्रॉडकास्टर से कहा, 'मैं जिस तरह से आउट हुआ उससे मैं बहुत दुखी था लेकिन कुल मिलाकर यह एक अच्छा अनुभव था। हमें इस ख़ूबसूरत स्टेडियम में खेलने का मौक़ा मिला। इससे हम काफ़ी उत्साहित थे। हमने एक अच्छा स्कोर बनाया है। उम्मीद है कि हमें जीत मिलेगी।"
रोहित और धवन व रोहित और केएल राहुल अभी भी वनडे और टी20 क्रिकेट में भारत की पहली पसंद की ओपनिंग जोड़ी हैं। किशन, गायकवाड़ और पृथ्वी शॉ भी इस दौड़ में हैं। पृथ्वी का तो लिस्ट ए स्ट्राइक रेट 44 मैचों के बाद लगभग 125 है, उसको नज़रअंदाज करना मुश्किल है। हालांकि वह इस कैरेबियाई दौरे का हिस्सा नहीं हैं। अभी के लिए गिल ने वनडे टीम में मिले मौक़े को अच्छी तरह से भुनाया है।

देवरायण मुथु ESPNcricinfo के सब एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर राजन राज ने किया है।