फ़ीचर्स

ऐतिहासिक मुक़ाबले में जीत दर्ज करना चाहेगी भारतीय टीम

150वां टी20 अंतर्राष्ट्रीय मुक़ाबला खेलने उतरेगी टीम इंडिया

Virat Kohli issues instructions even as the game goes away from India, India vs New Zealand, TZ20 World Cup, Group 2, Dubai, October 31, 2021

टी20 अंतर्राष्‍ट्रीय में कोहली का कप्‍तान के तौर पर यह आखिरी मैच है  •  Getty Images

टी20 विश्व कप के नॉकआउट दौर से भारतीय टीम जगह बनाने से चूक गई है, क्योंकि न्यूज़ीलैंड ने अफ़ग़ानिस्तान को आठ विकेट से हराकर सेमीफ़ाइनल में जगह बना ली है। अब भारत को अपना आख़िरी मुक़ाबला नामीबिया के ख़िलाफ़ खेलना है जो डेड रबर है। इस मैच में कुछ अहम बात है तो वह यह कि यह भारतीय टीम का 150वां टी20 अंतर्राष्ट्रीय मुक़ाबला होगा और वह इसे जीत में तब्दील करना चाहेगी। भारतीय टीम 150 टी20 अंतर्राष्ट्रीय खेलने वाली चौथी टीम बनेगी।
भारत की उम्मीदें
149 मैच जो भारतीय टीम ने अब तक जीते हैं, उनमें से उन्होंने 94 में जीत हासिल की है और 51 हारे हैं। ऐसे में अब तक भारत की जीत का प्रतिशत 65 रहा है। आपको जानकर हैरानी होगी कि जीत के प्रतिशत के मामले में इससे आगे केवल अफ़ग़ानिस्तान है। अफ़गानिस्तान ने 88 मैचों में 68.1 के जीत प्रतिशत के साथ 60 मैच जीते हैं और 28 हारे हैं।
रोहित बायें हाथ के तेज़ गेंदबाज़ के ख़िलाफ़
भारत के शीर्ष तीन बल्लेबाज़ों की बात करें तो पावरप्ले में रोहित सबसे ज़्यादा संघर्ष करते नज़र आए हैं। 37 मैचों में 17.3 की ख़राब औसत से उन्होंने 208 रन बनाए हैं। वहीं केएल राहुल ने इस दौरान 22 पारियों में 103 रनों के साथ 51.5 की औसत से रन आए हैं और विराट कोहली का 29 पारियों में 140 रन के साथ 140 की औसत है। ऐसे में रोहित को नामीबिया के बाएं हांथ के तेज़ गेंदबाज़ रुबेन ट्रंपलमन के ख़िलाफ़ शुरुआती ओवर संभलकर खेलने होंगे। हालांकि, अगर रोहित पावरप्ले में आउट नहीं हुए तो बायें हाथ के तेज़ गेंदबाज़ों के ख़िलाफ़ उनकी औसत 73.5 की हो जाती है, क्योंकि उन्होंने 14 मैचों में इस दौरान 147 रन बनाए हैं और आउट हुए हैं केवल दो बार।
टी20 अंतर्राष्ट्रीय में कोहली कप्तान के तौर पर
टी20 अंतर्राष्ट्रीय में विराट कोहली का यह कप्तान के तौर पर 50वां मैच होगा। अब तक 49 मैच में उन्होंने 31 जीते और 16 हारे हैं। टी20 अंतर्राष्ट्रीय में सबसे ज़्यादा जीत के प्रतिशत में वह चौथे स्थान पर हैं। असगर अफ़गान ने 52 मैचों में 42 जीते हैं और 10 हारे हैं, यानि उनका जीत का प्रतिशत 80.7 रहा है। इसी वजह से वह जीत प्रतिशत के मामले में शीर्ष पर हैं। वहीं कप्तान के तौर पर सबसे ज़्यादा अर्धशतक लगाने के मामले में वह सबसे शीर्ष पर हैं, क्योंकि उन्होंने 13 अर्धशतक लगाए हैं। इसके अलावा, भले ही कोहली की टीम सेमीफ़ाइनल में नहीं पहुंची हो, लेकिन टी20 विश्वकप में कोहली की औसत अब तक सबसे ज़्यादा (76.8) है , और इस दौरान उन्होंने 19 मैचों में सबसे ज़्यादा 845 रन बनाए हैं। साथ ही साथ टी20 विश्व कप में कोहली ने 19 पारियों में सबसे ज़्यादा 10 अर्धशतक लगाए हैं।