मैच (16)
आईपीएल (1)
T20I Tri-Series (1)
WI vs SA (1)
ENG v PAK (W) (1)
USA vs BAN (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
CE Cup (2)
ख़बरें

फ़ख़र ज़मान की फ़िटनेस को लेकर पाकिस्तान चिंतित

डॉक्टर के अनुसार टीम ने उन्हें विश्व कप में ले जाने का जोखिम उठाया था

Fakhar Zaman during a nets session, Men's T20 World Cup 2022, Melbourne, October 21, 2022

अभ्यास सत्र के दौरान फ़ख़र ज़मान  •  Getty Images

पाकिस्तान टीम ने स्वीकार किया है कि उसने चोटिल फ़ख़र ज़मान को टी20 विश्व कप के लिए ऑस्ट्रेलिया लाकर जोखिम उठाया है। घुटने में लगी चोट के कारण ज़मान पहले टूर्नामेंट से बाहर हो गए थे और फिर यह चोट गंभीर हो गई थी।
अंतिम समय पर लेग स्पिनर उस्मान क़ादिर की जगह पर ज़मान को 15 सदस्यीय दल में जोड़ा गया था। उन्होंने भारत और पाकिस्तान के विरुद्ध पहले दो मैचों में हिस्सा नहीं लिया। पर्थ में टीम में वापसी करते हुए उन्होंने नीदरलैंड्स के विरुद्ध 16 गेंदों पर 20 रन बनाए। हालांकि इस दौरान उनके घुटने की समस्या बढ़ गई।
गुरुवार को सिडनी में साउथ अफ़्रीका के विरुद्ध करो या मरो वाले मैच से उनका बाहर होना तय है। साथ ही इस बात की संभावना है कि वह विश्व कप में आगे हिस्सा नहीं लेंगे। अगर पाकिस्तान को रिप्लेसमेंट खिलाड़ी की आवश्यकता होगी तो मोहम्मद हारिस रिज़र्व खिलाड़ियों की सूची का हिस्सा हैं।
पाकिस्तान टीम के डॉक्टर नजीबउल्लाह सूमरो ने कहा, "ज़ाहिर है घुटने में लगी किसी भी चोट को 100 प्रतिशत ठीक होने में समय लगता है। फ़ख़र और टीम को टूर्नामेंट में आने के जोखिम के बारे में पता था और हम उन्हें लेकर आए। आपने देखा कि उन्होंने पिछले मैच में बल्ले के साथ कैसा प्रदर्शन किया। दुर्भाग्यवश पिछले मैच में उनका पैर मुड़ने से चोट और गंभीर हो गई।"
उन्होंने आगे कहा, "हम टीम में वापसी के ख़तरे से अवगत थे। वह टीम के महत्वपूर्ण सदस्य हैं। खिलाड़ी, मेडिकल स्टाफ़ और टीम प्रबंधन को यह बात पता है। हमने उन्हें टीम में लाने का निर्णय लिया। क्रिकेट या किसी भी खेल में आप जोखिम उठाते हैं। कभी यह काम करते हैं और कभी नहीं।"
ज़मान की अनुपस्थिति में आसिफ़ अली को एकादश में लौटने का मौक़ा मिल सकता है। भारत के विरुद्ध मिली हार के बाद से आसिफ़ टीम से बाहर रहे हैं। हैदर अली और ख़ुशदिल शाह बल्लेबाज़ी के अन्य विकल्प हैं।
इस टूर्नामेंट की तैयारी में खिलाड़ियों की और विशेषकर शाहीन शाह अफ़रीदी की फ़िटनेस पाकिस्तान की चिंता का कारण रही है। उन्होंने सुपर 12 में तीन मैच खेलें है और केवल एक विकेट अपने नाम किया है। उनकी फ़िटनेस पर सवालिया उठे थे और शाहीन के स्वयं नीदरलैंड्स के मैच से पहले कहा कि वह इस पर काम कर रहे हैं। हालांकि सूमरो के अनुसार वह सभी मानकों पर खरे उतरे थे।
सूमरो ने कहा, "मेडिकल फ़िटनेस (एक चीज़ होती है) और फिर मैच में आपको अलग मानकों पर रहना होता है। मेडिकल दृष्टिकोण से हमें आत्मविश्वास था कि वह फ़िट हैं। आप देख सकते हैं कि वह हर मैच में बेहतर हो रहे हैं। हम उनके विकास से प्रसन्न हैं। मेरे विचार से, चिकित्सा टीम, इसमें शामिल विशेषज्ञों ने, दिन-रात उसके साथ कड़ी मेहनत की है और चिकित्सा के दृष्टिकोण से हमें विश्वास है कि वह पूरी तरह से लय में वापस आ गए हैं।"
साउथ अफ़्रीका और बांग्लादेश के विरुद्ध अपने अंतिम दो मैच जीतने के बाद भी पाकिस्तान को सेमीफ़ाइनल में जाने के लिए अन्य मैचों के परिणाम पर निर्भर रहना होगा।
इस पर तेज़ गेंदबाज़ नसीम शाह ने कहा, "हां, आपको बुरा लगता है लेकिन आप इसे बदल नहीं सकते। आपको आगे बढ़ना होगा। खिलाड़ी एक-जुट होकर खेल रहे हैं और टीम का माहौल ठीक है। हम पर आने वाले मैचों पर ध्यान देकर उन्होंने जीतने का प्रयास कर रहे हैं। आप शुरुआती मैचों के बारे में कुछ नहीं कर सकते।"

ऐंड्रयू मैक्ग्लैशन ESPNcricinfo के डिप्टी एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर अफ़्ज़ल जिवानी ने किया है।