मैच (5)
West Indies v India T20I Series (1)
राष्ट्रमंडल खेल (2)
द हंड्रेड (पुरुष) (1)
ज़िम्बाब्वे में बांग्लादेश (1)
फ़ीचर्स

400वीं टेस्ट विकेट की तलाश में नेथन लायन

गाबा टेस्ट के तीसरे दिन उन्होंने कई मौक़ों पर बल्लेबाज़ों को बीट किया लेकिन वह विकेट से वंचित रह गए

Nathan Lyon ponders a close call, Australia vs England, The Ashes, 1st Test, 3rd day, Brisbane, December 10, 2021

नेथन लायन ने गाबा टेस्ट के तीसरे दिन कई मौक़ों पर बल्लेबाज़ों को बीट किया  •  CA/Cricket Australia/Getty Images

6 जनवरी 2020 को बीजे वॉटलिंग को आउट करते हुए नेथन लायन ने ऑस्ट्रेलिया को न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ 3-0 से सीरीज़ जीत दिलाई थी। यह टेस्ट क्रिकेट में उनकी 390वीं विकेट थी। एक साल बाद, 19 जनवरी 2021 को, भारत के ख़िलाफ़ गाबा टेस्ट के आख़िरी दिन वॉशिंगटन सुंदर के रूप में उन्होंने 399वां शिकार किया था।
शायद जब तक आप यह लेख पढ़ोगे तब तक बाद बदल जाए, लेकिन 10 दिसंबर 2021 तक लायन 400 टेस्ट विकेट हासिल करने वाले तीसरे ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी बनने का इंतज़ार कर रहे हैं। यह पल आएगा, लेकिन इतनी आसानी से नहीं। लायन के इंतज़ार का एक कारण है ऑस्ट्रेलियाई टीम का कम टेस्ट मैच खेलना। 2019 ऐशेज़ सीरीज़ के बाद से यह केवल उनका 10वां टेस्ट मैच है। हालांकि इसके बावजूद, कई बार 400 का आंकड़ा पार करने के क़रीब पहुंचे हैं लायन।
पिछले साल भारत के ख़िलाफ़ पहले टेस्ट मैच की दूसरी पारी में लायन को गेंदबाज़ी करने की ज़रूरत ही नहीं पड़ी जब टीम इंडिया 36 रनों पर सिमट गई। मेलबर्न टेस्ट की दूसरी पारी में बचाने के लिए कुछ लक्ष्य बचा ही नहीं था। हालांकि अगले दो मैचों में भारत ने बढ़िया अंदाज़ से लायन का सामना किया। सिडनी और गाबा टेस्ट में कुल मिलाकर लायन के आंकड़ें कुछ इस प्रकार थे - 351 रन देकर पांच विकेट। वैसे स्थिति कुछ और होती अगर टिम पेन से सिडनी में उनकी गेंदबाज़ी पर दो कैच नहीं टपकाए होते।
इस टेस्ट मैच से पहले लायन ने दो शेफ़ील्ड शील्ड के मुक़ाबले खेले जहां 106 ओवर गेंदबाज़ी करने के बाद उन्हें चार सफलताएं मिली। गाबा टेस्ट के तीसरे दिन उन्होंने बढ़िया गेंदबाज़ी की, मौक़े बनाए. बल्लेबाज़ों को बीट भी किया लेकिन वह विकेट से वंचित रह गए।
जब डाविड मलान आठ रन के स्कोर पर थे, उन्होंने एक लेंथ गेंद को छोड़ने का फ़ैसला किया। वह गेंद ऑफ़ स्टंप के बाहर से कोण के साथ अंदर आती चली गई और मलान बोल्ड होते होते रह गए। हॉक-आई ने बताया कि उस गेंद और ऑफ़ स्टंप के बीच महज़ 1.6 सेंटीमीटर की दूरी थी। मलान ने उस गेंद को छोड़ना चाहा क्योंकि तीन ओवर पहले लायन की एक गेंद लेग स्टंप से घूमकर उनके बल्ले के बाहरी किनारे को बीट करती हुई कीपर के पास गई थी।
वह केवल एक मौक़ा नहीं था जब लायन विकेट लेने के क़रीब पहुंचे थे। अपनी पारी की शुरुआत में जो रूट स्वीप शॉट को लगभग शॉर्ट लेग फ़ील्डर की गोद में मार बैठे थे। अर्धशतक पूरा करने से ठीक पहले वाली गेंद पर वह बोल्ड होने से बच गए थे। इन सबके बीच लायन ने मलान को फिर एक बार बाहरी किनारे पर बीट किया। केवल विकेटों की संख्या के अलावा कुछ ऐसे सबूत हैं जो दर्शाते हैं कि लायन उतने ख़तरनाक गेंदबाज़ नहीं रहे हैं।
ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो के आंकड़ों के विश्लेषण से पता चला है कि इंग्लैंड फ्रंटफ़ुट पर आकर लायन की गेंदों को रोकने में सहज थे। इस मैच में अब तक 60 बार उन्होंने ऐसा किया है और केवल छह मौक़ों पर वह पूरी तरह से नियंत्रण में नहीं थे। पिछले कुछ वर्षों में फ्रंटफ़ुट पर आकर खेलने वाले बल्लेबाज़ों को छकाने के लिए लायन ने ड्रिफ़्ट, डिप और ओवरस्पिन का इस्तेमाल किया है। साथ ही पिछले चार सालों में उनके एक तिहाई विकेट तब आए हैं जब बल्लेबाज़ फ्रंटफ़ुट डिफ़ेस कर रहे थे।
हालांकि अब आंकड़े दर्शा रहे है कि बल्लेबाज़ पैर आगे निकालकर लायन की गेंदों को बड़ी आसानी ने रोक रहे है। ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो के गेंद-दर-गेंद आंकड़ों के अनुसार साल 2018 और 2019 के घरेलू मैचों में लायन ने फ़्रंटफ़ुट से डिफेंस कर रहे बल्लेबाज़ों को 19 बार आउट किया। वह औसत हर 47 गेंदों में ऐसा कर रहे थे।
लेकिन साल 2020 की इंडिया सीरीज़ के बाद से इन आंकड़ों में ज़मीन आसमान जितना अंतर आ गया है। बल्लेबाज़ों ने 328 गेंदों पर पैर आगे निकालकल डिफ़ेंस किया है और वह केवल दो बार लायन के ख़िलाफ़ आउट हुए हैं। साल 2021 में लायन का गेंदबाज़ी स्ट्राइक रेट 202.8 पर जा पहुंचा है।
भले ही इस साल लायन ने तीन ही टेस्ट मैच खेले हैं, उनकी गेंदबाज़ी में वह पैनापन नहीं नज़र आ रहा है। अगर उन्हें 400 का वह जादुई आंकड़ा पार करना है, तो उन्हें जल्द से जल्द गेंदबाज़ी में ज़रूरी बदलाव करने होंगे।
शिवा जयारमन द्वारा अधिक जानकारी के साथ

ऐंड्रयू मक्ग्लैशन ESPNcricinfo में डिप्टी एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर अफ़्ज़ल जिवानी ने किया है।