ख़बरें

शाकिब का मानना है बांग्लादेश टेस्ट टीम मानसिक तौर पर कमज़ोर है

स्टार ऑलराउंडर ने ख़राब फ़ॉर्म से गुज़र रहे कप्तान मोमिनुल हक़ का समर्थन किया

Shakib Al Hasan picked up five wickets in the first innings, Bangladesh vs Sri Lanka, 2nd Test, Mirpur, 4th day, May 26, 2022

शाकिब ने पहली पारी में पांच विकेट लिए  •  AFP/Getty Images

बांग्लादेश ने टेस्ट मैच की चौथी शाम को ख़ुद को चार विकेट के नुक़सान पर 23 रन पर पाया और यह पहली सुबह बनाए गए 24 पर पांच से अलग नहीं था। फलस्वरूप शाकिब अल हसन ने कहा, "हमें अपनी मानसिकता में सुधार लाना ही होगा। मुझे लगता है हम असफलता से डरने लगे हैं।"
इस ख़राब शुरुआत का सीरीज़ परिणाम पर बुरा असर पड़ सकता है क्योंकि आख़िरी दिन श्रीलंका को केवल छह विकेट चाहिए। बांग्लादेश के लिए पहली पारी के दोनों शतकवीर मुश्फ़िक़ुर रहीम और लिटन कुमार दास क्रीज़ पर मौजूद ज़रूर हैं और अभी शाकिब भी बल्लेबाज़ी करेंगे लेकिन फिर भी उनकी स्थिति नाज़ुक ही कहलाएगी।
तमीम इक़बाल ने अपने लंबी टेस्ट करियर में पहली बार 'पेअर' अर्थात दोनों पारियों में शून्य बनाए और टेस्ट इतिहास में केवल नौवीं बार ऐसा घटा कि किसी टीम के शीर्ष के दो बल्लेबाज़ों ने एक टेस्ट में तीन डक बनाए। बांग्लादेश ने इस टेस्ट में अब तक आठ डक बनाए हैं जो उनके लिए टेस्ट इतिहास में दूसरी बार हुआ है। शीर्ष चार बल्लेबाज़ों ने मैच में कुल 34 रन बनाए हैं जो टेस्ट क्रिकेट में न्यूनतम योग के मामले में उनके लिए दूसरा सबसे कम है।
प्रेस कॉन्फ़्रेंस में शाकिब ने कहा, "हमारी टीम की फ़िटनेस बहुत अच्छी है। हम काफ़ी समय मैदान पर बिताने के आदी हैं। हमने इस सीरीज़ में 400 [408] ओवरों की फ़ील्डिंग की है। लिटन ने 400 ओवर कीपिंग की और 141 रन बनाए। मुश्फ़िक़ भाई ने [पहली पारी में] 175 रन बनाए। हम शारीरिक रूप से मज़बूत हैं लेकिन मानसिक तौर पर नहीं। हमने दबाव अच्छे से नहीं संभाला है। हम दूसरी पारी में ख़राब खेल रहे हैं। हमारे पास आज इसे बदलने का मौक़ा था लेकिन हमने इसे गंवाया है।"
शाकिब ने कहा कि नाजमुल हुसैन शांतो के रन आउट से साफ़ ज़ाहिर हो गया था कि बल्लेबाज़ शांत मन से नहीं खेल रहे थे। उन्होंने कहा, "एक टेस्ट में ऐसी स्थिति में रन आउट बहुत ख़तरनाक होता है। इन परिस्थितियों में ठंडे दिमाग़ से काम लेना पड़ता है। ऐसे में तनाव होगा और भय भी लेकिन टेस्ट क्रिकेट का यही तो मज़ा है। हम सबने ऐसे मौक़े देखे हैं। बहुत ज़रूरी है कि आप याद रखें कि आपको ऐसे में सफलता कैसे प्राप्त हुई है।"
शाकिब का मानना है कि बांग्लादेश अब भी टेस्ट बचा सकता है लेकिन उन्होंने आगे कहा, "मैं टीम के लिए कम से कम तीन घंटे बल्लेबाज़ी कर सकता हूं। यह बहुत जरूरी है कि नाबाद बल्लेबाज़ पहले सत्र में अच्छी शुरुआत दिलाएं। इस विकेट पर सेट बल्लेबाज़ को आउट करना आसान नहीं है। मुझे लगता है उनके गेंदबाज़ पांच या छह ओवर के स्पेल डालेंगे। हमें उस वक़्त सावधान रहना है और गेंद को पुरानी करनी है ताकि बल्लेबाज़ी और सहज हो जाए।"
टेस्ट का चौथा दिन शाकिब के लिए यादगार था और अपने 19वीं पारी में पांच विकेट लेने पर वह बोले, "मैं वैसे अपनी गेंदबाज़ी पर हमेशा विश्वास करता हूं। शायद मैंने अपना आत्म विश्वास सिर्फ़ एक या दो बार खोया है। इतने दिन खेलने के बाद आपको 10 या 15 दिन के कैंप नहीं बल्कि तीन या चार सत्र लगते हैं लय पाने में।"
मोमिनुल हक़ दूसरी पारी में टेस्ट में लगातार सातवीं बार 10 के स्कोर के नीचे आउट हो गए। 2019 में कप्तान नियुक्त होने से पहले 41.47 के औसत रखने वाले मोमिनुल का इस साल का औसत केवल 16.20 का है। बतौर कप्तान भी यह औसत 31.44 का ही है लेकिन शाकिब ने अपने कप्तान के समर्थन में कहा, "यह उनके लिए एक कठिन घड़ी है लेकिन उनका समर्थन करना जरूरी है। हमारे पास टेस्ट क्रिकेट में मौजूदा समय में मोमिनुल से बेहतर विकल्प नहीं है और उनका फ़ॉर्म में लौटना महज़ एक अच्छी पारी की बात है।"

मोहम्मद इसाम ESPNcricinfo के बांग्लादेश संवाददाता हैं