मैच (15)
T20 वर्ल्ड कप (4)
CE Cup (3)
T20 Blast (8)
ख़बरें

लखनऊ की पिच पर हार्दिक : 'यह हैरान करने वाली पिच थी'

सैंटनर ने बताया कि वह कहीं ना कहीं से स्पिनर ढूंढने की कोशिश कर रहे थे

भारत के कार्यवाहक कप्तान हार्दिक पंड्या ने न्यूज़ीलैंड के विरुद्ध दूसरे टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैच में लखनऊ की पिच को 'हैरान करने वाली पिच' बताया है। भारत ने एक गेंद शेष रहते 100 रनों के लक्ष्य को हासिल करते हुए सीरीज़ को 1-1 से बराबर किया। पूरे मैच के दौरान एकाना स्टेडियम की पिच पर बड़ा टर्न देखने को मिला, ठीक उसी तरह जैसे रांची की पिच पर शुक्रवार को पहले टी20 में देखा गया था।
पोस्ट मैच प्रेज़ेंटेशन में हार्दिक ने स्टार स्पोर्ट्स से कहा, "सच कहूं तो यह हैरान करने वाली पिच थी। दो मैचों में हम जिस तरह की विकेटों पर खेले हैं...। मुझे कठिन विकेटों से परेशानी नहीं है लेकिन यह विकेट टी20 के लिए नहीं बने है। कहीं ना कहीं क्यूरेटर को पहले से मैच तैयार रखना चाहिए। इसके अलावा मैं (नतीजे से) ख़ुश हूं।"
रविवार को स्पिनरों ने शून्य छक्के लगने वाले इस मैच में 40 में से 30 ओवर डाले। यह एक टी20आई में पूर्ण-सदस्यीय टीमों के स्पिनरों द्वारा फेंके गए सर्वाधिक ओवरों के पिछले रिकॉर्ड से दो ओवर अधिक है।
हार्दिक ने आगे कहा कि पिच से इतनी हरकत हो रही थी कि बल्लेबाज़ों को हमेशा सचेत रहना था। उन्होंने कहा, "ऐसा नहीं था कि यह एक धीमी और स्पिन होती विकेट थी। गेंद पर अच्छा उछाल मिल रहा था और यह हैरान करने वाली विकेट थी। हम बस गेंद को खेल रहे थे और हर मौक़े का फ़ायदा उठाने तथा स्ट्राइक रोटेट करने को देख रहे थे।"

सैंटनर : 'कहीं ना कहीं से स्पिन ढूंढने की कोशिश कर रहा था'


न्यूज़ीलैंड के कप्तान मिचेल सैंटनर शाम को स्पिनरों को मिल रही मदद देखकर चौंक गए थे। मदद इतनी थी कि उन्होंने पार्ट टाइम स्पिनर और विकेटकीपर ग्लेन फ़िलिप्स से चार ओवर करा दिए। मार्क चैपमैन से भी एक ओवर कराया गया और न्यूज़ीलैंड ने छोटे लक्ष्य वाले मैच को भी अंतिम ओवर तक खींचा।
सैंटनर ने कहा, "यह एक अच्छा क्रिकेट मैच था। इतना क़रीब आने के लिए लड़कों ने बहुत मेहनत की। अगर हमने 10-15 रन और बनाए होते तो कहानी कुछ और होती। मुझे लगता है कि हार्दिक और सूर्यकुमार ने धैर्य के साथ उन्हें जीत दिलाई। मैं हर जगह से स्पिनर ढूंढने की कोशिश कर रहा था। मैंने लॉकी (फ़र्ग्युसन) से पूछा कि क्या वह ऑफ़ स्पिन डाल सकते हैं लेकिन आपको स्पिन के 12 से ज़्यादा ओवर आमतौर पर देखने को नहीं मिलते हैं। हमने शायद 16-17 ओवर डाले तो यह कुछ अलग था।"

गंभीर और नीशम ने भी पिच की आलोचना की


स्टार स्पोर्ट्स पर बातचीत करते हुए पूर्व भारतीय बल्लेबाज़ गौतम गंभीर और न्यूज़ीलैंड के ऑलराउंडर जेम्स नीशम ने पिच को लेकर हार्दिक के विचारों का समर्थन किया।
नीशम ने कहा, "मुझे नहीं लगता कि न्यूज़ीलैंड के बल्लेबाज़ों में कोई कमी थी। मुझे लगता है कि जैसा कि जीजी [गौतम गंभीर] ने उल्लेख किया, यह एक 'औसतन' सतह थी। मुझे नहीं लगता कि किसी ने दोनों पारियों में लय वाली पारी खेली। लेकिन जब अच्छी संख्या में लोग मैच देखने के लिए मैदान में आते हैं और मनोरंजन करना चाहते हैं, तो यह थोड़ी शर्म की बात है। हालांकि उम्मीद की किरण यह थी कि यह एक कम स्कोर वाला थ्रिलर था।"

म्हाम्ब्रे : 'पिच के व्यवहार के बारे में क्यूरेटर से पूछना होगा'


भारतीय गेंदबाज़ी कोच पारस म्हाम्ब्रे ने भी एकाना स्टेडियम की सतह से उत्पन्न चुनौतियों के बारे में बात की और अपने चार सदस्यीय स्पिन आक्रमण की प्रशंसा की।
म्हाम्ब्रे ने मैच के बाद प्रेस कॉन्फ़्रेंस में कहा, "सबसे पहले जब हमने विकेट देखी, तो हमें एहसास हुआ कि यह सूखी है। ज़ाहिर है, बीच में थोड़ी घास थी लेकिन दोनों सिरों पर घास नहीं थी। इसलिए जब हम कल आए तो ऐसा लग रहा था कि यह टर्न लेगी। हमें एहसास हुआ कि यह एक चुनौतीपूर्ण विकेट होगी। (पिच ने ऐसा व्यवहार क्यों किया) इसका कारण आपको क्यूरेटर से पूछना होगा।"
उन्होंने आगे कहा, "क्या समय के कारण ऐसा हुआ या कुछ और, मुझे लगता है कि सवाल का जवाब देने के लिए वह सही व्यक्ति है। यह एक कठिन सतह थी। हम जानते थे कि यह चुनौतीपूर्ण होगी और मैं हमारे प्रदर्शन से ख़ुश हूं। हमने उन्हें 100 ही रन बनाने दिए और पीछा करने के लिए एक पर्याप्त लक्ष्य रखा। अगर हमने उन्हें 120-130 रन बनाने दिए होते तो यह और कठिन होता।"

देवरायण मुथु ESPNcricinfo में सब एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर अफ़्ज़ल जिवानी ने किया है।