मैच (16)
AFG v IRE (1)
WPL (2)
PSL 2024 (1)
NZ v AUS (1)
Nepal Tri-Nation (2)
Durham in ZIM (1)
QAT v HKG (1)
Sheffield Shield (3)
विश्व कप लीग 2 (1)
CWC Play-off (3)
ख़बरें

अगर हार्दिक गेंदबाज़ी नहीं करते तो विश्व कप टीम में उनकी जगह नहीं बनती : गंभीर

पूर्व भारतीय कप्तान ने यह भी कहा कि रोहित शर्मा जैसे प्रतिभाशाली बल्लेबाज़ को हर सीजन में 500-600 रन बनाने चाहिए

इस सीज़न में हार्दिक का संघर्ष जारी है  •  BCCI

इस सीज़न में हार्दिक का संघर्ष जारी है  •  BCCI

पूर्व भारतीय कप्तान गौतम गंभीर ने कहा है कि इस साल ऑलराउंडर हार्दिक पंड्या ने उन्हें सबसे ज़्यादा निराश किया है। गंभीर ने यह भी कहा कि हार्दिक के मौजूदा फ़ॉर्म और गेंदबाज़ी ना करने के कारण आने वाले टी20 विश्व कप में उनका स्थान भारत के प्लेइंग इलेवन में नहीं बनता।
ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो के कार्यक्रम 'टी20 टाइमआउट' पर गंभीर ने कहा, "भारत की बल्लेबाज़ी क्रम का सबसे बड़ा आश्चर्य हार्दिक पंड्या हैं। अब तो वह सफ़ेद गेंद क्रिकेट ही खेलते हैं, लेकिन उनका प्रदर्शन काफ़ी ख़राब रहा है। वह टी20 विश्व कप टीम का भी हिस्सा हैं और उन्होंने इस सत्र में गेंदबाज़ी भी नहीं की है। यह सवाल चयन समिति से पूछी जानी चाहिए कि क्या वह विश्व कप में चार ओवर डाल पाएंगे और अगर हां तो क्या उससे पहले उन्होंने पर्याप्त गेंदबाज़ी की होगी? अगर उन्हें विश्व कप में गेंदबाज़ी करना है तो शुरुआत अभी से होनी चाहिए भले ही ऐसा हर मैच में एक या दो ओवर ही हो। भारतीय क्रिकेट के लिए विश्व कप प्राथमिकता है और उन्हें वह टूर्नामेंट जीतना है। अगर वह गेंदबाज़ी ना करें तो मेरे लिए उनका विश्व कप के अंतिम ग्यारह में जगह नहीं बनता।"
हार्दिक ने जुलाई में श्रीलंका में भारतीय टीम का हिस्सा होते हुए गेंदबाज़ी ज़रूर की थी लेकिन यूएई में आईपीएल के दौरान उन्होंने गेंदबाज़ी नहीं की है। दिल्ली कैपिटल्स के विरुद्ध मुंबई के पिछले मुक़ाबले से पहले मुख्य कोच महेला जयवर्दना ने यह कहा था कि हार्दिक पर गेंदबाज़ी करने के लिए "बहुत ज़्यादा" दबाव डालना उनकी बल्लेबाज़ी पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकता है। हालांकि मैच से पहले हार्दिक ने ख़ुद ब्रॉडकास्ट पर गेंदबाज़ी करने के सवाल पर कहा था, "कोशिश जारी है।"
हार्दिक ने श्रीलंका दौरे से ही बल्ले से भी निराश किया है। वहां टी20 और वनडे मिलाकर उनके स्कोर थे 0, 19 और 10। यूएई में राजस्थान के विरुद्ध मैच से पहले उनके स्कोर रहे हैं 3, 40 नाबाद और 17। पंजाब किंग्स के ख़िलाफ़ दूसरी पारी में हार्दिक ने 30 गेंदों पर चार चौके और दो छक्के लगाए थे और ऐसा लग रहा था कि हार्दिक शायद अपने फ़िनिशर के फ़ॉर्म को ढूंढ चुके हैं।
दरअसल विगत दो वर्षों में विजेता रही मुंबई की बल्लेबाज़ी ने पूरे सीज़न निराश किया है। सीज़न के पहले चरण में उनके अधिकतर मैच चेन्नई की धीमी विकेट पर थे लेकिन गंभीर ने कहा कि मुंबई ने इस साल बहुत "सहमी हुई क्रिकेट" खेली है।
उन्होंने ख़ासकर रोहित शर्मा पर निराशा जताई और कहा, "चेन्नई या शारजाह रोहित कहीं भी खेलें, उनके जैसे प्रतिभाशाली बल्लेबाज़ को हर साल 500 से 600 रन बनाने चाहिए। मैं उनसे विराट कोहली [2016 में कोहली ने 973 रन बनाए थे] जैसे एक सीज़न की उम्मीद करता हूं। भारत के लिए इतनी निरंतरता से रन बनाने वाला खिलाड़ी एक भी सीज़न में बड़े रन ना बनाए यह हैरत की बात है।"

देबायन सेन ESPNcricinfo के सीनियर असिस्टेंट एडिटर और स्थानीय भाषा प्रमुख हैं