मैच (5)
एशिया कप (2)
ईरानी ट्रॉफ़ी (1)
भारत बनाम साउथ अफ़्रीका (1)
लेजेंड्स लीग (1)
ख़बरें

नए खिलाड़ियों को ख़ुद को साबित करने के लिए देना होगा ज़्यादा से ज़्यादा समय : रोहित शर्मा

भारतीय टी कप्तान ने कहा, 'भविष्य में वेंकटेश अय्यर पर रहेगी सभी की नज़रें'

2022 टी20 विश्वकप में अब बस महज़ 11 महीने बचे हैं, जिस पर भारतीय टी20 कप्तान रोहित शर्मा की नज़र है। न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ 3-0 की सीरीज़ जीत के बाद रोहित ने कहा कि नए खिलाड़ियों को ज़्यादा से ज़्यादा समय देना होगा ताकि वह ख़ुद को साबित कर सकें।
"जब आप द्विपक्षीय सीरीज़ खेल रहे होते हैं तो आपको कुछ चीज़ों को ध्यान में रखना होता है और हम भी वहीं कर रहे हैं। हम चाहते हैं कि सबसे पहले एक ऐसा जीवंत माहौल बनाएं, जिसमें युवा खिलाड़ी ख़ुद को सुरक्षित महसूस करें और निडर होकर खेलें।"
रोहित शर्मा, टी20 कप्तान, भारत
रोहित शर्मा ने अपनी बात आगे बढ़ाते हुआ कहा, "हमारी पहली टीम मीटिंग में ही हमने इस बात पर ज़ोर दिया था और साफ़ कर दिया था कि जब आप टीम के लिए प्रदर्शन करते हैं तो कोई भी इसे नज़रअंदाज़ नहीं कर सकता। जब आप विपरीत परिस्थितियों में ख़ुद पर ज़िम्मेदारी लेते हुए टीम के ऊपर से दबाव कम करते हैं तो सभी आपको देखते हैं। आप खिलाड़ियों को जोखिम उठाने के लिए कहते हैं और वह उसमें क़ामयाब नहीं हुए, तो भी आपको उनका साथ देना होगा क्योंकि हम जानते हैं कि वे टीम के लिए अपनी पूरी कोशिश कर रहे हैं।"
भारत ने इस सीरीज़ में कई खिलाड़ियों को मौक़ा दिया और एक नई और युवा टीम के साथ मैदान में उतरी। हर्षल पटेल और वेंकटेश अय्यर ने अपना डेब्यू किया, जबकि चार सालों में सिर्फ़ एक टी20 अंतर्राष्ट्रीय खेलने वाले अक्षर पटेल को भी रवींद्र जाडेजा के स्थान पर मौक़ा दिया गया। हालांकि सीरीज़ में ऋतुराज गायकवाड़ और आवेश ख़ान को अंतिम एकादश में आने का अवसर नहीं प्राप्त हो सका।
रोहित शर्मा ने कहा, "भारत में जिस तरह से प्रतिभाओं की भरमार है उसे देखते हुए सभी को खिलाना आसान नहीं हो पाता। बहुत से खिलाड़ी जो बाहर बैठे हैं, उन्होंने भी शानदार प्रदर्शन किया है लेकिन हम सिर्फ़ 11 खिलाड़ियों के साथ मैच में उतर सकते हैं। इसलिए सभी को मौक़ा मिले, ये आसान नहीं।"
वेंकटेश अय्यर के लिए निचले क्रम पर बल्लेबाज़ी करना मुश्किल होगा
रोहित अच्छे से जानते हैं कि वेंकटेश अय्यर किस भूमिका में टीम के साथ होंगे। वेंकटेश ने इंडियन प्रीमियर लीग के 2021 सत्र में कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए सलामी बल्लेबाज़ का किरदार निभाया था, जहां वह पूरी तरह हिट रहे थे। लेकिन भारतीय मैनेजमेंट उन्हें नंबर पांच से नंबर सात के बीच बतौर फ़िनिशर के तौर पर देख रहा है।
रोहित शर्मा ने साफ़ किया कि इस नए खिलाड़ी का बल्लेबाज़ी क्रम लगातार बदलना उनके लिए मुश्किल हो सकता है, लेकिन साथ में ये भी कहा कि उनकी मीडियम पेस गेंदबाज़ी टीम को एक अतिरिक्त विकल्प देती है।
"हमारी योजना है कि हम वेंकटेश को ज़्यादा से ज़्यादा मौक़ा दें, साथ ही उन्हें वहां बल्लेबाज़ी करनी होगी जिस नंबर पर उन्होंने अपनी फ़्रेंचाइज़ी के लिए कभी नहीं खेला। मैं जानता हूं कि यह उनके लिए मुश्किल हो सकता है, लेकिन हम देखना चाहेंगे कि नंबर पांच, छह या सात पर खेलते हुए उनका प्रदर्शन कैसा रहता है। इस मैच में वह अच्छे नज़र आ रहे थे और साथ ही उन्होंने गेंदबाज़ी करते हुए भी यह साबित किया कि उनका भविष्य उज्ज्वल है।"
रोहित शर्मा, टी20 कप्तान, भारत
अश्विन और अक्षर की स्पिन जोड़ी है कमाल
जयपुर में भारत ने आख़िरी आठ ओवर में न्यूज़ीलैंड को 68 रन ही बनाने दिए थे और पांच विकेट भी झटके थे। रांची में पावरप्ले में 64 रन बनाने के बावजूद भारतीय गेंदबाज़ों ने न्यूज़ीलैंड को 153 रनों तक ही रोक दिया था और कोलकाता में तो टीम इंडिया ने ओस के बाद भी कीवियों को महज़ 111 रनों पर ढेर कर दिया। भारत के इस बेहतरीन गेंदबाज़ी प्रदर्शन को लेकर रोहित काफ़ी संतुष्ट नज़र आए और इसके लिए उन्होंने अक्षर और आर अश्विन की स्पिन जोड़ी को सबसे ज़्यादा श्रेय दिया।
उन्होंने कहा, "अश्विन के लिए ये एक बेहतरीन वापसी है। लाल गेंद से तो उन्होंने अपना एक अलग मुक़ाम स्थापित कर ही रखा है और सफ़ेद गेंद से भी उनका रिकॉर्ड प्रभावशाली है। वह कप्तान के लिए हमेशा एक आक्रामक गेंदबाज़ी विकल्प हैं, जो मिडिल ओवर्स में आपको विकेट निकालकर देते हैं। अश्विन और अक्षर दोनों ही गेंदबाज़ों में विकेट निकालने की क्षमता है और जब वे गेंदबाज़ी करते हैं तो ये नहीं सोचते कि बचा कैसे जाए बल्कि उनका लक्ष्य केवल बल्लेबाज़ को आउट करने पर होता है।"

श्रेष्ठ शाह (@sreshthx) ESPNcricinfo में सब-एडिटर हैं, अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के मल्टीमीडिया जर्नलिस्ट सैयद हुसैन ने किया है।