मैच (19)
IPL (3)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
ACC Premier Cup (4)
USA vs CAN (1)
Women's Tri-Series (1)
Zonal Trophy [W] (1)
ख़बरें

भारतीय टीम ने मैदान पर तो कमाल कर दिया अब चाहिए क़िस्मत का साथ

जाडेजा, अश्विन और वरुण की स्पिन तिकड़ी की बदौलत भारत की स्कॉटलैंड पर धमाकेदार जीत

विकेट झटकने के बाद विराट कोहली और रवींद्र जाडेजा एक दूसरे को बधाई देते हुए  •  Getty Images

विकेट झटकने के बाद विराट कोहली और रवींद्र जाडेजा एक दूसरे को बधाई देते हुए  •  Getty Images

दुबई में शुक्रवार की शाम रवींद्र जाडेजा , आर अश्विन और वरुण चक्रवर्ती पहली बार टी20 अंतर्राष्ट्रीय में भारत की अंतिम एकादश में एक साथ खेल रहे थे, और भारत को स्कॉटलैंड पर एक बड़ी जीत की दरकार थी। इस स्पिन तिकड़ी ने टीम इंडिया को निराश नहीं किया और भारतीय इतिहास की एक बड़ी जीत में अहम किरदार निभाया।
अफ़ग़ानिस्तान के ख़िलाफ़ चोट की वजह से वरुण नहीं खेल पाए थे लेकिन शुक्रवार को स्कॉटलैंड के ख़िलाफ़ वह पूरी तरह फ़िट थे और प्लेइंग-XI का हिस्सा बने। विराट कोहली भी चाहते थे कि वह उस टीम के ख़िलाफ़ ज़रूर खेलें जिसने क्वालिटी स्पिन का सामना कम ही किया है। हालांकि मैच के दूसरे ही ओवर में जॉर्ज मंसी ने वरुण की लाइन और लेंथ ख़राब करने के इरादे से उनकी कैरम गेंद पर रिवर्स स्वीप लगाया और चौका भी बटोरा, तुरंत ही वरुण ने अपनी रफ़्तार और लेंथ में परिवर्तन किया और दोबारा मंसी को वह शॉट खेलने का मौक़ा नहीं दिया।
शुरुआत में चौका खाने के बावजूद पावरप्ले के दौरान वरुण ने अपने दो ओवर में मात्र सात रन ही ख़र्च किए थे। जबकि पावरप्ले के विशेषज्ञ के तौर पर शोहरत हासिल कर चुके अश्विन की शुरुआत उस हिसाब की नहीं रही थी, जब मंसी ने उनकी गेंदों पर लगातार तीन चौके जड़े।
जब पावरप्ले ख़त्म हुआ तो बारी थी जाडेजा की, और उन्होंने पहले ही ओवर में ये दिखा दिया कि इन पिचों पर वह कितने घातक साबित हो सकते हैं। रिची बेरिंग्टन को उन्होंने पहली गेंद राउंड द विकेट डाली जो कोण के साथ अंदर की ओर आई और सीधे उनके मिडिल स्टंप पर जाकर लगी। तीन गेंद बाद ही उन्होंने उसी जगह और उसी लेंथ से मैट क्रॉस को विकेट के सामने पकड़ा, हालांकि क्रॉस ने रिव्यू भी लिया लेकिन वह ज़ाया हो गया।
जाडेजा के दोहरे झटके ने अश्विन की वापसी के लिए मंच तैयर कर दिया था और उन्होंने अपने दूसरे स्पेल में काफ़ी नियंत्रण और असरदार अंदाज़ में गेंदबाज़ी करते हुए विकेट भी निकाला और स्कॉटलैंड की वापसी की उम्मीदों पर पानी फेर दिया।
अश्विन ने ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो के वीडियोकास्ट में 2020 में संजय मांजरेकर के साथ हुई बातचीत में कहा था, "मैं हैरान हूं कि पिछले आईपीएल (2019) में बल्लेबाज़ों को नहीं समझ आ रहा था कि मैं कौन सी गेंद डाल रहा हूं। कई लोगों को लगता है कि मैं कैरम गेंद डाल रहा हूं लेकिन असल में ये रिवर्स कैरम गेंद है, जो कभी तो स्पिन होती है और कभी स्किड करते हुए अंदर की ओर आ जाती है।"
इस मैच में इस तिकड़ी के फ़िगर पर आप नज़र डाले तो ये 11-0-59-4 के साथ दर्शता है कि कितनी असरदार स्पिन गेंदबाज़ी भारत की ओर से देखने को मिली थी। जिसके दम पर भारत की नेट रन रेट भी अपने ग्रुप में अब सबसे ऊपर हो चुकी है, लेकिन इसके बावजूद भारतीय टीम को क़िस्मत के सहारे ही रहना होगा। रविवार को अबू धाबी में खेले जाने वाले न्यूज़ीलैंड और अफ़ग़ानिस्तान के बीच मैच में अगर जीत न्यूज़ीलैंड की होती है तो फिर भारत उसी समय अफ़ग़ानिस्तान के साथ टूर्नामेंट से बाहर हो जाएगा।
यानी भारत के आगे जाने का सफ़र अब अफ़ग़ानिस्तान के ही हाथों में है, मान लीजिए अगर अफ़ग़ानिस्तान जीत जाता है और फिर सोमवार को भारत भी नामीबिया को शिकस्त दे देता है तो फिर भारत, न्यूज़ीलैंड और अफ़ग़ानिस्तान तीनों ही टीमों के छह-छह अंक हो जाएंगे और फिर फ़ैसला नेट रन रेट के आधार पर होगा, जहां फ़िलहाल भारत आगे है।
पोस्ट मैच प्रेस कॉन्फ़्रेंस में जब जाडेजा ये ये पूछा गया कि अगर न्यूज़ीलैंड जीत गया तो क्या होगा, इस पर जाडेजा ने हंसते हुए कहा : "तो फिर बैग पैक करके हम घर जाएंगे, और क्या ?"

देवरायण मुथु ESPNcricinfo में सब एडिटर हैं, अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के मल्टीमीडिया जर्नलिस्ट सैयद हुसैन ने किया है।