मैच (16)
WPL (2)
PSL 2024 (2)
NZ v AUS (1)
रणजी ट्रॉफ़ी (2)
विश्व कप लीग 2 (1)
Nepal Tri-Nation (1)
Sheffield Shield (3)
CWC Play-off (3)
BAN v SL (1)
फ़ीचर्स

दिल्ली की समस्या शॉ और वॉर्नर से ही शुरू हो जाती है

सहायक कोच वॉटसन ने कहा- हमने शॉ से फ़्री होकर खेलने को कहा है

शॉ और वॉर्नर अब तक कोई कमाल नहीं दिखा पाए हैं  •  BCCI

शॉ और वॉर्नर अब तक कोई कमाल नहीं दिखा पाए हैं  •  BCCI

रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के ख़िलाफ़ मैच में दिल्ली कैपिटल्स के ललित यादव नंबर नौ पर बल्लेबाज़ी करने आए, जिनका टी20 औसत 30.67 और स्ट्राइक रेट 137.82 है। यह दिखाता है कि दिल्ली की टीम में कितनी गहराई है। लेकिन ऐसा नहीं है। ललित को नंबर नौ पर इसलिए रखा गया था ताकि अगर बैटिंग कोलैप्स हो तो वह इतने नीचे आकर भी टीम को बचा सके। इस कारण टीम में सिर्फ़ चार ही गेंदबाज़ थे और उम्मीद की गई कि ललित और मिचेल मार्श पांचवें गेंदबाज़ का कोटा पूरी करें।
हालांकि इससे दिल्ली को कोई फ़ायदा नहीं हुआ। 175 रन का पीछा करने उतरी दिल्ली की टीम का स्कोर पहले तीन ओवर में दो रन पर तीन विकेट था। उनकी आधी टीम 53 रन पर पवेलियन में थी, जबकि 175 रन का पीछा करने उतरी टीम निर्धारित 20 ओवरों में नौ विकेट खोकर 151 रन ही बना सकी। यह उनकी लगातार पांचवीं हार थी और अब उनके प्ले ऑफ़ में जाने की संभावनाएं बिल्कुल कम हैं।
पावरप्ले में विकेट गिरना दिल्ली की सबसे बड़ी समस्या रही है। इस सीज़न किसी भी टीम ने पावरप्ले में दिल्ली से अधिक विकेट नहीं गंवाया है और सिर्फ़ सनराइज़र्स हैदराबाद को छोड़कर किसी भी टीम का पावरप्ले स्ट्राइक रेट दिल्ली से कम नहीं है।