मैच (8)
ऑस्ट्रेलिया बनाम वेस्टइंडीज़ (1)
भारत बनाम साउथ अफ़्रीका (1)
एशिया कप (3)
ईरानी ट्रॉफ़ी (1)
लेजेंड्स लीग (1)
वेस्टइंडीज़ बनाम न्यूज़ीलैंड (महिला) (1)
ख़बरें

मैं आरसीबी में जाना पसंद करूंगा : चहल

आर अश्विन से बात करते हुए चहल ने कोहली के साथ अपने प्रगाढ़ संबंधों और भाईचारे की बात की

Virat Kohli and Yuzvendra Chahal celebrate a wicket, Rajasthan Royals vs Royal Challengers Bangalore, Dubai, IPL 2021, September 29, 2021

आईपीएल के एक मैच के दौरान विकेट का जश्न मनाते चहल और कोहली  •  BCCI

युज़वेंद्र चहल पिछले कई साल से आईपीएल नीलामी में नहीं गए हैं, लेकिन उन्हें अब एक सप्ताह के भीतर ही नीलामी में जाना है। वह इसको लेकर बेचैन नहीं हैं और उनका कहना है कि जो भी नीलामी में होगा, उससे वह ख़ुश हैं। हालांकि उन्होंने यह ज़रूर कहा कि वह रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरू (आरसीबी) के साथ जाना पसंद करेंगे, जिसके साथ वह पिछले आठ साल से रहे हैं।
विराट कोहली से अपनी बॉण्डिंग के बारे में बात करते हुए चहल ने कहा, "मैं विराट भैया को अंडर-15 के दिनों से ही जानता हूं। हम नॉर्थ ज़ोन के लिए भी एक साथ खेले हैं। 2014 में मैं जब आरसीबी में आया, तब मैं बहुत नर्वस था। लेकिन वह कवर में रहकर मुझे उत्साहित करते रहते थे। कई बार आक्रमकता में मैं विकेट लेकर बल्लेबाज़ के पास चला जाता था। ऐसा दो-तीन बार हुआ, तो मैच रेफ़री ने हमारे कोच डेनियल विटोरी से बात की। तब विटोरी ने मुझसे कहा कि अगर आपको कुछ कहना है तो आप कवर में विराट के पास चले जाए और उनसे कह दें। वह बुरा नहीं मानेंगे।"
"तब मैंने महसूस किया कि विराट में काफ़ी सकारात्मक ऊर्जा है। उन्होंने मुझे कभी कुछ बदलने की सलाह नहीं दी। हमारे पास हमेशा से दो योजनाएं रहती थी। पहली योजना मेरी होती थी, अगर वह असफल होता था तो दूसरी योजना कोहली की होती थी। जब कोई बड़ा खिलाड़ी और कप्तान आपका इस तरह समर्थन करता है, तो आपको आत्मविश्वास मिलता है। जब किसी मैच में मैं अधिक रन दे देता था, तब भी वह मेरे पास आकर कहते थे कि 'कोई बात नहीं, तुम वापसी करोगे'।"
चहल ने उम्मीद जताई है कि 12 और 13 फ़रवरी को होने वाली नीलामी में आरसीबी उन्हें फिर से ख़रीदेगी। उन्होंने कहा, "पिछले आठ साल से आरसीबी के साथ सफ़र मज़ेदार रहा है। हालांकि इस बार राइट टू मैच नहीं है, इसलिए जो भी टीम मुझे ख़रीदेगी, मैं उन्हीं के साथ जाऊंगा। मैं उनके साथ भी अपना 100% दूंगा। हां, जब आप किसी नई टीम में जाते हैं, तो एडजस्ट करने में समय तो लगता है। लेकिन एक प्रोफ़ेशनल खिलाड़ी के रूप में आपको यह समायोजन करना होता है।"
चहल ने आरसीबी के लिए 113 मैचों में 7.50 की इकॉनमी रेट से 138 विकेट लिए हैं। बेंगलुरू के छोटे स्टेडियम में खेलने के बावजूद उनकी इकॉनमी उनकी प्रतिभा को दिखाती है, जहां पर पहली पारी का औसत रन रेट 8.75 रहा है। चहल बेंगलुरू को अपना दूसरा घर कहते हैं। उनका कहना है कि आरसीबी के फ़ैंस अलग ही हैं, वह अपनी टीम को सातवें स्थान पर आने के बाद भी वैसा ही समर्थन करते हैं।