मैच (18)
WI vs SA (1)
ENG v PAK (W) (1)
USA vs BAN (1)
CE Cup (3)
T20I Tri-Series (2)
आईपीएल (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
ख़बरें

एनसीए और फ़्रैंचाइज़ियां आईपीएल के दौरान 'चुनिंदा भारतीय खिलाड़ियों की निगरानी' करेंगी

बीसीसीआई की रिव्यू मीटिंग में खिलाड़ियों की उपलब्धता, कार्यभार प्रबंधन और फ़िटनेस मानकों पर ध्यान दिया गया

Rahul Dravid and Rohit Sharma have a chat, Ahmedabad, February 11, 2022

बीसीसीआई की मीटिंग में 2023 विश्व कप के लिए राष्ट्रीय पुरुष टीम का रोडमैप प्रमुख विषय था  •  BCCI

प्रमुख भारतीय खिलाड़ियों को आगामी आईपीएल के कुछ या अधिकांश हिस्सों से आराम दिया जा सकता है। इसमें विशेष रूप से वे खिलाड़ी शामिल होंगे, जो चोटिल हैं या हाल ही में चोटिल रहे हैं। यह फ़ैसला अक्तूबर और नवंबर में भारत में होने वाले वनडे विश्व कप से पहले खिलाड़ियों के कार्यभार के प्रबंधन के लिए बीसीसीआई की नई नीति के अनुसार लिया गया है।
यह फ़ैसला विश्व कप के लिए सीनियर पुरुष टीम के रोडमैप पर चर्चा करने के लिए मुंबई में रिव्यू मीटिंग के बाद बीसीसीआई द्वारा की गई कई सिफ़ारिशों में से एक था। चर्चा किए गए अन्य मुद्दों में 2022 में टीम का प्रदर्शन रहा, जिसमें साउथ अफ़्रीका (घर से बाहर), इंग्लैंड (पांचवां टेस्ट) से टेस्ट सीरीज़ में हार और ऑस्ट्रेलिया में हुए टी20 विश्व कप से टीम का सेमीफ़ाइनल से बाहर होना शामिल था।
मीटिंग में मुख्य कोच राहुल द्रविड़, कप्तान रोहित शर्मा, बीसीसीआई अध्यक्ष रॉजर बिन्नी, सचिव जय शाह, राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी के प्रमुख वीवीएस लक्ष्मण और निवर्तमान चयन समिति के अध्यक्ष चेतन शर्मा उपस्थित थे।
ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो को पता चला है कि चोट प्रबंधन पर विस्तार से चर्चा की गई, विशेष रूप से कई प्रमुख खिलाड़ियों के चोटों के कारण कई महीनों तक क्रिकेट से दूर होने के कारण। इसका रोहित ने बांग्लादेश में वनडे सीरीज़ में हार के बाद ज़िक्र किया था, तब उन्होंने खिलाड़ियों के फ़िट होने के बावजूद बार-बार चोटिल होने पर नाराज़गी व्यक्त की थी।
रोहित ने कहा था, "ये लगातार चोट क्‍यों लग रही हैं हमें इसकी तह तक जाने की ज़रूरत है। मुझे नहीं पता यह क्‍यों हो रहा है, हो सकता है कि अधिक क्रिकेट खेलने की वजह से हो। हमें इन लड़कों पर ध्‍यान रखने की ज़रूरत है क्‍योंकि यह ज़रूरी है कि जो भारत के लिए खेलने आ रहे हैं वह सौ प्रतिशत फ़‍िट हों, असल में सौ प्रतिशत से ज़्यादा ही।"
दीपक चाहर, जसप्रीत बुमराह और रवींद्र जाडेजा के मामलों पर विचार-विमर्श किया गया, इससे पहले एनसीए की मेडिकल टीम ने कार्यभार प्रबंधन पर प्रेज़ेंटेशन दिया।
तैयार किए गए नए ब्लूप्रिंट के अनुसार खिलाड़ियों के प्रत्येक केंद्रीय पूल के लिए एक फ़िटनेस और वर्कलोड रोडमैप को विशेष रूप से बनाया जाएगा और इसके लिए काम शुरू हो चुका है।
यो-यो टेस्ट के अलावा एनसीए पैनल ने खिलाड़ियों को खेलने के लिए फ़िट घोषित करने से पहले टेस्ट की एक और "विज्ञान संबंधी लेयर" जोड़ने के लिए डेक्सा स्कैन को जोड़ने की भी सिफ़ारिश की (बीसीसीआई के अधिकारी के अनुसार)।
डेक्सा स्कैन शरीर की संरचना और हड्डी के स्वास्थ्य को मापने के लिए प्रस्तावित अंतरराष्ट्रीय मानक है, यह 10 मिनट का टेस्ट होता है, जो पूरे शरीर को आंकता है और इसमें बोन मास, फ़ैट टिशू और मांसपेशियों का सटीक ब्रेकडाउन शामिल है।
बीसीसीआई की विज्ञप्ति के अनुसार उभरते हुए खिलाड़ियों को राष्ट्रीय टीम में चयन के लिए पात्र होने से पहले "काफ़ी ज़्यादा" घरेलू क्रिकेट खेलना होगा। अतीत में चयन पैनल ने उभरते हुए खिलाड़ियों को सिर्फ़ एक अच्छे आईपीएल सीज़न बीतने के बाद चुनने में गुरेज़ नहीं किया है।

शशांक किशोर ESPNcricinfo में सीनियर सब एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के एडिटोरियल फ़्रीलांसर कुणाल किशोर ने किया है।