मैच (6)
ऑस्ट्रेलिया बनाम वेस्टइंडीज़ (1)
एशिया कप (1)
भारत बनाम साउथ अफ़्रीका (1)
ईरानी ट्रॉफ़ी (1)
लेजेंड्स लीग (1)
वेस्टइंडीज़ बनाम न्यूज़ीलैंड (महिला) (1)
ख़बरें

पाकिस्तान 508 रन के लक्ष्य को हासिल करने के इरादे से उतरेगा: मोहम्मद यूसुफ़

पाकिस्तान के बल्लेबाज़ी कोच ने कहा कि वो अतीत मैं ऐसा कर चुके हैं

Imam-ul-Haq guides one to the leg side, Sri Lanka vs Pakistan, 2nd Test, Galle, 4th day, July 27, 2022

इमाम उल हक़ दिन की समाप्ति पर 46 रन पर नाबाद लौटे  •  AFP/Getty Images

इस साल मार्च में कराची टेस्ट में पाकिस्तान को जीत के लिए 506 रन का लक्ष्‍य दिया गया था। नेथन लॉयन, पैट कमिंस और मिचेल स्टार्क जैसे ऑस्ट्रेलियाई आक्रमण के ख़िलाफ़ पाकिस्तान उस लक्ष्य को हासिल करने से बहुत दूर नहीं था।
अब्दुल्ला शफ़ीक़ और बाबर आज़म ने तीसरे विकेट के लिए 228 रन साझेदारी की थी। उसके बाद बाबर और मुहम्मद रिज़वान के बीच शतकीय साझेदारी हुई और रिज़वान ने शतक लगाया था, जबकि बाबर ने 196 रन बनाए थे।
बल्लेबाज़ी कोच मुहम्मद यूसुफ़ ने कहा कि चौथी पारी के अपने हालिया रिकॉर्ड को देखते हुए पाकिस्‍तान जानता है कि वह आख़िरी पारी में बड़े लक्ष्‍य को हासिल कर सकता है। पाकिस्‍तान ने पिछले सप्‍ताह ही 342 रन का लक्ष्य सफलतापूर्वक हासिल किया था।
इस मैच में जीत की उम्मीद कम ही लगती है। पाकिस्तान को अभी भी 419 रन बनाने हैं और उनके पास अधिकतम 98 ओवर हैं, अगर ख़राब रोशनी और बारिश दूर रहती है (पिछले दो शाम के सत्र ख़राब रोशनी से कम हो गए थे)। हालांकि फिर भी पाकिस्तान सीरीज़ में 1-0 से आगे है। स्टंप्स के समय इमाम उल हक़ 46 पर नाबाद लौटे और बाबर 26 पर।
युसूफ़ ने कहा, 'हमने पहले कराची में ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ ऐसा किया है। मुझे लगता है कि लक्ष्य उतना ही बड़ा था, शायद हमें उतने ही समय में हासिल करने की ज़रूरत थी और बाबर ने 196 रनों की शानदार पारी खेली थी। अब्दुल्ला शफ़ीक़ ने 96 और रिज़वान ने शतक लगाया और यह बहुत अच्छा मैच था। बाबर और इमाम जिस तरह से खेल रहे हैं कल (गुरुवार) का दिन दिलचस्प होगा।
"हम पहले सत्र में देखेंगे कि हम कैसे आगे बढ़ते हैं और अगर हम अच्छा करते हैं तो हम लक्ष्य का पीछा करने की कोशिश करेंगे। इमाम और बाबर ने पिछले सत्र में बहुत अच्छा क्रिकेट खेला है और मुझे उम्मीद है कि वे कल भी पूरे दिन बल्लेबाज़ी करेंगे।"
अंतिम दिन पाकिस्तान कैसे खेलेगा, इस पर यूसुफ़ बहुत स्पष्ट थे। उन्‍होंने कहा कि बल्लेबाज़ों को स्वाभाविक रूप से जिस तरह से आता है उसी तरह से खेलना चाहिए। हालांकि ऐसा लग रहा था कि 508 रनों का पीछा करना लगभग असंभव है और इस स्थिति से टीमें परंपरागत रूप से श्रीलंका को ड्रॉ पर रोकने की कोशिश कर सकती हैं। इमाम और बाबर दोनों ने अपने शॉट खेले और स्कोरिंग के अवसरों की तलाश की। शफ़ीक़ भी बड़ा शॉट लगाने की कोशिश में आउट हुए थे।
उन्होंने कहा, "कभी भी किसी को उनकी ताक़त और उनके स्वभाविक खेल के ख़िलाफ़ जाने के लिए न कहें। आप अपने तरीक़े से खेलते हैं। मैंने अपने दिनों में ऐसा किया था। अब भी, मुख्य कोच सक़लैन मुश्ताक़ मैं और सहयोगी स्टाफ़ खिलाड़ियों को मेंटली फ़्री रखने और उन्हें अच्छा प्रदर्शन करने के लिए प्रेरित करने की पूरी कोशिश करते हैं।
"बाबर और इमाम अपनी ताक़त पर खेल रहे हैं और मुझे लगता है कि अगर वे इसी तरह से खेलते हैं, तो हम लक्ष्य को हासिल करने की कोशिश करेंगे। हालांकि अभी कुछ भी कहना जल्दबाज़ी होगी। हम ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ इसी तरह से खेले और उस लक्ष्‍य का पीछा करने में एक समय आया कि मुख्य कोच ने एक बैठक बुलाकर चर्चा की कि हम जीत की कोशिश करेंगे, लेकिन दुर्भाग्य से बाबर 196 रन पर आउट हो गया और हमें ड्रॉ से संतोष करना पड़ा।"
पाकिस्तान को जो प्रोत्साहित कर सकता है वह यह है कि गॉल की पिच में चौथे दिन के अंत में उतनी दरारे नहीं आई है जितनी अक्सर इस मैदान पर होती है। हालांकि, दूसरी तरफ़ पाकिस्तान की पिछली टीमों को बिखरने के लिए एक सूखी गॉल की पिच की आवश्यकता नहीं थी।
युसूफ़ ने पिच के बारे में कहा, "मुझे लगता है कि एक बार जब आप अंदर जाते हैं, तो आपको इसके अभ्यस्त हो जाते हैं। शुरुआत में चुनौती है लेकिन एक बार जब आप सेट हो जाते हैं, तो यह बेहतर बल्लेबाज़ी विकेट है।"

ऐंड्रयू फ़िडेल फ़र्नांडो ESPNcricinfo के श्रीलंकाई संवाददाता हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के एडिटोरियल फ़्रीलांसर कुणाल किशोर ने किया है।