मैच (15)
T20 वर्ल्ड कप (4)
CE Cup (3)
T20 Blast (8)
ख़बरें

सूर्यकुमार यादव : यह मेरी सर्वश्रेष्ठ टी20 पारियों में से एक था

हार्दिक ने कहा कि सूर्यकुमार टी20 के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज़ों में से एक हैं

शुक्रवार को गुजरात टाइटंस के ख़िलाफ़ सूर्यकुमार यादव ने पारी की आख़िरी गेंद पर छक्का लगाते हुए आईपीएल का अपना पहला शतक पूरा किया। डीप बैकवर्ड स्क्वेयर लेग पर लगाया गया यह एक अविश्वसनीय हवाई स्वीप था, लेकिन सूर्यकुमार के मुताबिक़ इसमें बहुत अधिक प्रयास नहीं लगा क्योंकि इसके लिए उन्होंने 'बहुत सारा प्रैक्टिस' किया था।
मोहम्मद शमी के पारी के 19वें ओवर में सूर्यकुमार ने लेग साइड की ओर शफ़ल किया और स्टंप्स पर आती फ़ुल गेंद को अपनी मज़बूत कलाइयों के सहारे शॉर्ट थर्डमैन के ऊपर से छक्के के लिए स्लाइस कर दिया।
इस मैच में मुंबई इंडियंस को 27 रन की जीत मिली। मैच के बाद सूर्यकुमार यादव ने कहा, "सातवें-आठवें ओवर से ही मैदान पर बहुत ज़्यादा ओस था और मुझे पता था कि मुझे कौन से शॉट्स खेलने हैं। मुझे पता था कि एक तरफ़ की बाउंड्री 75-80 मीटर है। इसलिए मैंने पहले ही सोच रखा था कि इस ओवर में मुझे कम से कम दो शॉट लगाने हैं- थर्डमैन के ऊपर से स्कूप और स्क्वेयर लेग के ऊपर से फ़्लिक। मैं सीधा मारने के बारे में सोच ही नहीं रहा था। जब भी मैं मैच में आता हूं तो मेरे विचार स्पष्ट होते हैं क्योंकि मैच से पहले मैं बहुत अधिक अभ्यास करता हूं।"
सूर्यकुमार ने इस मैच में 49 गेंदों पर 103 रन बनाए, जिसमें 11 चौके और छह छक्के शामिल थे। उनको अपना अर्धशतक पूरा करने में 32 गेंद लगे, लेकिन आख़िरी 50 उन्होंने सिर्फ़ 17 गेंदों में ही बनाया।
सूर्यकुमार ने कहा, "यह मेरी सर्वश्रेष्ठ टी20 पारियों में से एक था। जब भी मैं रन बनाता हूं, मुझे लगता है कि टीम को जीतना चाहिए। सबसे अच्छी बात थी कि हमने आज पहले बल्लेबाज़ी की। हमने दोपहर में बात की थी कि हमें 200-220 का लक्ष्य लेकर चलना चाहिए और मैं ख़ुश हूं कि हम उस लक्ष्य तक पहुंच पाया।"
सूर्यकुमार की इस पारी के बाद विपक्षी कप्तान हार्दिक पंड्या भी उनकी तारीफ़ करते हुए नहीं थके। उन्होंने कहा, "वह टी20 के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज़ों में से एक हैं। एक कप्तान या गेंदबाज़ के रूप में उनके ख़िलाफ़ फ़ील्डिंग लगाना बहुत कठिन है। आपको उनके ख़िलाफ़ अपनी योजनाओं को बहुत सटीक ढंग से लागू करना होता है, नहीं तो आपको पता है कि क्या हो सकता है, जैसा आज हुआ।"