मैच (17)
ENG v WI (1)
Asia Cup (2)
ENG v SL (U19) (1)
T20 Blast (8)
MLC (2)
LPL (2)
TNPL (1)
ख़बरें

कर्स्टन : ग़लत निर्णय लेने के चलते पाकिस्तान को मिली हार

बाबर ने कहा कि मिडिल ओवर्स में अधिक डॉट गेंदें खेलना पाकिस्तान को भारी पड़ गया

पाकिस्तान टीम के कोच गैरी कर्स्टन ने कहा है कि ग़लत निर्णयों के चलते उनकी टीम को भारत के ख़िलाफ़ हार झेलनी पड़ी। कर्स्टन ने कहा कि 40 ओवरों के खेल में पाकिस्तान 35 ओवरों तक भारत से आगे था लेकिन अंत में वह जीत की दहलीज़ पार नहीं कर पाया। जबकि कप्तान बाबर आज़म ने कहा कि मिडिल ओवर्स में पाकिस्तान की ख़राब बल्लेबाज़ी एक बार फिर उनकी टीम की हार का कारण बनी। हालांकि कर्स्टन ने कहा कि उन्हें लगा था कि 120 का लक्ष्य हासिल करना पाकिस्तान के लिए उतना आसान नहीं होगा। भारत को पाकिस्तान ने 119 के स्कोर पर समेट दिया था लेकिन ख़ुद पाकिस्तान पूरे 20 ओवर खेलने के बावजूद 113 रन ही बना पाया।
कर्स्टन ने कहा, "यह हार निश्चित तौर पर निराशाजनक है। मुझे लगा था कि 120 का लक्ष्य विशेषकर भारत के सामने हासिल करना इतना आसान नहीं रहने वाला है। लेकिन मुझे लगता है जब हम 72/2 थे और अंतिम छह या सात ओवर बचे हुए थे तब तक गेम हमारे नियंत्रण में था। उस स्थिति से जीत हासिल ना कर पाना निराशाजनक है।"
कर्स्टन से जब पूछा गया कि उनके अनुसार कब मैच पाकिस्तान के हाथ से फिसल गया तब उन्होंने कहा, "शायद हमने सही निर्णय नहीं लिए। हमने गेम के महत्वपूर्ण चरणों में ग़लत निर्णय लिए और अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में आप पर यह चीज़ें भारी पड़ती हैं। रिज़वान ने हमारे लिए अच्छा प्रदर्शन किया। विकेट बल्लेबाज़ी के लिए आसान नहीं थी, इसके बावजूद हमने चेज़ को अच्छे मैनेज किया था लेकिन अंत में यह मैच हमारे हाथ से फिसल गया।"
मोहम्मद रिज़वान जसप्रीत बुमराह की नई स्पेल की पहली गेंद पर ही स्लॉग करने गए और अपना विकेट गंवा बैठे। बुमराह जब 15वां ओवर डालने आए थे तब पाकिस्तान को अंतिम छह ओवरों में 40 रनों की दरकार थी। ESPNcricnfo टाइम आउट हिंदी शो पर पूर्व भारतीय क्रिकेटर अनिल कुंबले ने भी रिज़वान के विकेट को मैच का टर्निंग प्वाइंट बताया और कहा कि उन्हें बुमराह के बजाय किसी अन्य गेंदबाज़ के ख़िलाफ़ जोखिम उठाना चाहिए था। हालांकि ख़ुद बाबर ने कहा कि उनके बल्लेबाज़ पावरप्ले को भुना नहीं पाए।
बाहर ने कहा, "हम सामान्य तरह से खेलने की सोच रहे थे। पहले छह ओवरों को भुना चाहते थे और 40-45 रन बनाना चाहते थे लेकिन हम इसे अमली जामा नहीं पहना पाए और पहले 10 ओवर के बाद हमने इस तरह की ग़लती एक बार फिर दोहराई।"
पाकिस्तान ने मिडिल ओवर्स (6.1-15.6) के दौरान 29 डॉट गेंदें खेली और इस दौरान उनके बल्लेबाज़ 50 रन ही बना पाए जबकि उन्हें तीन विकेट भी गंवानी पड़ी। बाबर भी मानते हैं कि अधिक डॉट गेंदें खेलना पाकिस्तान को भारी पड़ गया।
बाबर ने कहा, "बल्लेबाज़ी में हम रन अ बॉल के हिसाब से बल्लेबाज़ी कर रहे थे। लेकिन दुर्भाग्यवश अचानक हमने लगातार विकेट खो दिए और उस दौरान हमने काफ़ी डॉट गेंदें भी खेली। हमारी रणनीति स्पष्ट थी। पांच या छह रन प्रति ओवर बनाने हैं, स्ट्राइक रोटेट करना है और बाउंड्री हासिल करने के बाद अधिक उत्साहित नहीं होना है। लेकिन गेम के उस चरण में हमने काफ़ी डॉट गेंदें खेल ली और हमने लगातार दो तीन विकेट भी गंवा दिए।"
पाकिस्तान की इस हार ने टूर्नामेंट के अगले राउंड में उनके पहुंचने का रास्ता कठिन कर दिया है। हालांकि कर्स्टन मानते हैं कि दूसरी टीमों को नतीजों पर निर्भर रहने के लिए भी पाकिस्तान को अभी काफ़ी सुधार करने की ज़रूरत है।
कर्स्टन ने कहा, "हमारे पास इस टूर्नामेंट में वापसी करने के लिए अभी भी मौक़ा है। हम अभी भी इस उम्मीद में हैं कि चीज़ें हमारे पक्ष में जाएंगी। ज़ाहिर तौर पर इसके लिए हमें अभी की तुलना में काफ़ी बेहतर क्रिकेट खेलनी होगी। यह मैच 35 ओवरों तक हमारे नियंत्रण में था। हर कोई इस हार का ज़िम्मेदार है और हम इसकी ज़िम्मेदारी लेते हैं। अभी मुझे 12 दिन ही हुए हैं इसलिए अभी तो मुझे इन खिलाड़ियों को समझना भी बाक़ी है कि वो क्या चाहते हैं।"