मैच (13)
IND v SA [W] (1)
T20 वर्ल्ड कप (3)
T20 Blast (6)
CE Cup (3)
फ़ीचर्स

IPL 2024 में अपने खेल को अलग स्तर पर ले जाने वाले खिलाड़ी

पराग और अभिषेक शर्मा जैसे युवाओं ने भी किया प्रभावित

IPL 2024 अब समाप्त हो गया है। इस सीज़न हम ऐसे खिलाड़ियों पर एक नज़र डालते हैं जो कम से कम पिछले पांच वर्षों से IPL का हिस्सा थे लेकिन इस बार वह अपने खेल को अलग ही स्तर पर ले गए।

नारायण की बल्लेबाज़ी

बहुत लोगों ने ऐसी अपेक्षा नहीं की होगी कि ऐसे समय में जब गेंदबाज़ों को ओवर में दो बाउंसर डालने की छूट दे दी गई तब सुनील नारायण एक बार फिर बतौर ओपनर खेलते नज़र आएंगे। हालांकि ना सिर्फ़ नारायण ने ओपनिंग की बल्कि उन्होंने काफ़ी प्रभावित भी किया। नारायण ने इस सीज़न 34.85 की औसत और 180.74 के स्ट्राइक रेट से 488 रन बनाए। इस सीज़न से पहले IPL में नारायण के नाम चार अर्धशतक थे। हालांकि इस बार उन्होंने इस आंकड़े को दोगुना तो किया ही लेकिन इसके साथ ही उन्होंने शतक का खाता भी खोल लिया। बल्ला तो बल्ला गेंद के साथ भी नारायण काफ़ी प्रभावी दिखे और उन्होंने 6.69 की इकॉनमी से 17 विकेट चटकाए।

बुमराह ने भी दिया अपना सर्वश्रेष्ठ

एक ऐसे सीज़न में जब रनों की बरसात थमने का नाम नहीं ले रही थी तब जसप्रीत बुमराह ने उस सीज़न में महज़ 6.48 की इकॉनमी से रन दिए। यह IPL के किसी सीज़न में बुमराह की सर्वश्रेष्ठ इकॉनमी भी है। इससे पहले उन्होंने 2019 में 6.63 की इकॉनमी से रन दिए थे। उस सीज़न टूर्नामेंट की ओवरऑल इकॉनमी रेट 8.27 थी जबकि इस साल ओवरऑल इकॉनमी रेट 9.41 थी। इससे साफ़ ज़ाहिर है कि यह बुमराह का IPL में अब तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन था।
इतना ही नहीं बुमराह ने पावरप्ले में सिर्फ़ 6.00 और डेथ में 6.06 की इकॉनमी से रन दिए। खेल के इन दोनों ही चरणों में इस सीज़न कम से कम पांच ओवर करने वाले गेंदबाज़ों में यह सर्वश्रेष्ठ इकॉनमी थी।

कोहली ने सर्वश्रेष्ठ स्ट्राइक रेट के साथ की बल्लेबाज़ी

इम्पैक्ट प्लेयर के नियम ने IPL में एक अति​​रिक्त बल्लेबाज़ का विकल्प दिया है और इसने पारी में एंकर की भूमिका को भी समाप्त कर दिया है। विराट कोहली ने भी इस साल अपने बल्ले से ज्य़ादा इंटेंट दिखाया। कोहली ने इस सीज़न 154.69 के सर्वाधिक स्ट्राइक रेट के साथ बल्लेबाज़ी की। इससे पहले उन्होंने 2016 में 152.03 के स्ट्राइक रेट के साथ बल्लेबाज़ी की थी। पावरप्ले में आक्रामक बल्लेबाज़ी करने के साथ-साथ उन्होंने स्पिनर के ख़िलाफ़ भी स्लोग स्वीप किए। इस सीज़न कोहली ने पावरप्ले में 161.47 के स्ट्राइक रेट से बल्लेबाज़ी की जबकि इस चरण में उनका इससे पहले सर्वश्रेष्ठ स्ट्राइक रेट 2018 में था। उस सीज़न कोहली ने 139.54 के स्ट्राइक रेट से रन बनाए थे। स्पिन के ख़िलाफ़ कोहली ने इस बार 137.08 के स्ट्राइक रेट से रन बनाए जो कि 2017 के बाद से उनका सर्वश्रेष्ठ है।

छक्के लगाने में माहिर अभिषेक

अभिषेक शर्मा ने 2018 में अपना IPL डेब्यू किया था। हालांकि उन्हें असली पहचान इस सीज़न मिली। ट्रैविस हेड के साथ मिलकर उन्होंने टी20 क्रिकेट की नई इबारत लिखी। अभिषेक ने इस बार कुल 42 छक्के लगाए। उनसे पहले अब तक किसी भारतीय बल्लेबाज़ ने IPL के एक सीज़न में इतने छक्के नहीं लगाए थे। वह स्पिन और पेस दोनों के ख़िलाफ़ आक्रमक अंदाज़ में बल्लेबाज़ी कर रहे थी। इसी आक्रामकता के चलते वह दुनिया के किसी टी20 टूर्नामेंट में किसी भी पारी में 30 गेंद खेले बिना भी 400 रन बनाने वाले पहले बल्लेबाज़ भी बन गए। उन्होंने टूर्नामेंट में 32.26 की औसत और 204.21 के स्ट्राइक रेट के साथ कुल 484 रन बनाए।

सैमसन की निरंतरता

संजू सैमसन की अमूमन उनके अंदर निरंतरता की कमी को लेकर आलोचना होती रहती थी। सैमसन IPL की शुरुआत तो धमाकेदार अंदाज़ में करते लेकिन इसके बाद वह प्रभावित नहीं कर पाते। हालांकि इस बार सैमसन ने क्रीज़ पर समय बिताया और इस सीज़न अपने IPL करियर में पहली बार उन्होंने पांच सौ से अधिक रन भी बनाए। उन्होंने इस सीज़न कुल पांच अर्धशतक भी लगाए। उन्होंने 48.27 की औसत से कुल 531 रन बनाए और इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट भी 153.46 का रहा।

पराग ने भरोसा जताने का दिया फल

रियान पराग ने इस सीज़न राजस्थान रॉयल्स (RR) को लंबे समय तक उनमें भरोसा जताने का फल दिया। सैयद मुश्ताक़ अली ट्रॉफ़ी में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज़ होने के बाद पराग IPL में इस सीज़न अपनी टीम के लिए सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज़ भी बने। इस IPL से पहले पराग के नाम IPL की 44 पारियों में 16.21 की औसत और 123.96 के स्ट्राइक रेट से 600 रन बनाए थे जबकि सिर्फ़ इस सीज़न में पराग ने 149.21 के स्ट्राइक रेट और 52.09 की औसत से 573 रन बनाए।

कार्तिक ने स्पिन के ख़िलाफ़ भी दिखाया कमाल

अपना अंतिम IPL सीज़न खेल रहे दिनेश कार्तिक अपने खेल में सुधार करने नहीं भूले। पिछले पांच सीज़न से वह डेथ में तेज़ गेंदबाज़ी के विरुद्ध बढ़िया हिटर में से एक माने जाते थे। इस साल उन्होंने स्पिन के ख़िलाफ़ भी हाथ खोलने में कोई कोताही नहीं बरती। कार्तिक ने स्पिन के ख़िलाफ़ बिना आउट हुए 38 गेंदों पर 63 रन बनाए। स्पिन के ख़िलाफ़ कार्तिक का स्ट्राइक रेट इस सीज़न में 165.78 का रहा, जो किसी सीज़न में स्पिन के ख़िलाफ़ कार्तिक का सर्वश्रेष्ठ स्ट्राइक रेट भी है। इससे पहले उन्होंने 2008 में 160 के स्ट्राइक रेट से रन बनाए थे लेकिन इसके बाद उनका स्ट्राइक रेट स्पिन के ख़िलाफ़ किसी भी सीज़न में 140 के पार नहीं गया।

हेमंत बराड़ ESPNcricinfo में सब एडिटर हैं