कोलकाता नाइट राइडर्स 94/1 (गिल 48, अय्यर 41*) ने रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु 92 (पड़िक्कल 22, रसल 3-9, चक्रवर्ती 3-13) को नौ विकेट से हराया

दोनों टीमों ने इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2021 के पहले चरणे में सात मैच खेले थे जिसमें बेंगलुरु की टीम को पांच मैचों में जीत मिली थी और कोलकाता की टीम को पांच हार का सामना करना पड़ा था। हालांकि सोमवार रात को ऐसा लगा कि दोनों टीमों ने अपने पुराने फ़ॉर्म को एक दूसरे से चुरा लिया है। कोलकाता ने विराट की टीम को मात्र 92 रनों पर समेट दिया और आसानी से तेज़-तर्रार बल्लेबाज़ी का मुज़ाहिरा करते हुए लक्ष्य को हासिल कर लिया।

अगर रॉयल चैलेंजर्स के बल्लेबाज़ थोड़े परेशान दिख रहे थे तो नाइट राइडर्स के गेंदबाज़ एकदम सटीक और मुक़म्मल निशाने पर गेंदबाज़ी कर रहे थे। एकतरफ़ जहां तेज गेंदबाज़ों ने काफ़ी सही लाइन और लेंथ के साथ गेंदबाज़ी करते हुए आरसीबी के बल्लेबाज़ों को चौंका दिया तो वहीं दूसरी तरफ़ कोलकाता के स्पिनरों ने अपनी मिस्ट्री गेंदबाज़ी से किसी भी बल्लेबाज़ को ख़ुल कर रन बनाने का मौक़ा नहीं दिया।

शुरुआती ओवरों में ही कोहली ने पहले प्रसिद्ध को अपना क्लासिक कवर ड्राइव लगाते हुए गेंद को सीमा रेखा के बाहर पहुंचाया लेकिन अगली ही गेंद पर एक अंदर आती गेंद को आड़े बल्ले से खेलने के चक्कर में पगबाधा आउट हो गए। इसके बाद पावरप्ले के आख़िरी गेंद तक अपना पहला मैच खेल रहे श्रीकर भरत और पड़िक्कल ने पारी को बढ़िया तरीक़े से संभाला लेकिन उसके बाद मानो गुच्छों में विकेट गिरने लगे।

पहले पड़िक्कल कीपर के सर के ऊपर से रैंप शॉट मारने के चक्कर में कैच आउट हो गए। फिर टाइमिंग की तलाश कर रहे भरत भी एक ख़राब पुल शॉट पर अपना विकेट गंवा बैठे। अब सारी उम्मीदें मैक्सवेल और डीविलियर्स पर थी लेकिन कोलकाता के तेज़ गेंदबाज़ आज एक अलग ही मूड में थे। आंद्रे रसल ने एक बेहतरीन यॉर्कर पर डीविलियर्स को बोल्ड किया। इसके बाद उम्मीद थी कि मैक्सवेल कुछ देर टिक कर खेलेंगे लेकिन वह भी वरुण की एक गुगली को पढ़ नहीं पाए और गेंद सीमा रेखा के बाहर भेजने के चक्कर में बोल्ड हो गए। इसके बाद किसी भी बल्लेबाज़ में ना लय दिखी ना ही टाइमिंग।

वरुण की हैट्रिक होते-होते रह गई

पहली पारी के 12वें ओवर में वरुण गेंदबाज़ी करने के लिए आए और अपनी जादूई उंगलियों के कमाल से पहले मैक्सवेल और पदार्पण करने वाले वनिंदु हसरंगा को फंसाया। उसके बाद उन्होंने काइल जेमीसन को लगभग आउट ही कर दिया था लेकिन पैड पर लगने से पहले गेंद ने बैट का अंदरूनी किनारा लिया था। वरुण ने ओएन मॉर्गन से रिव्यू लेने की गुहार लगाई लेकिन कप्तान को पता था कि यह नॉट आउट है। खैर वरुण की इन विकटों से एक बात लगभग तय हो गई थी कि बेंगलुरु की टीम एक सम्मानजनक स्कोर तक नहीं पहुंच पाएगी।

रसल ने अपने तीन ओवरों में केवल नौ रन देकर तीन विकेट झटके जिसमें डीविलियर्स का भी विकेट शामिल था। नाइट राइडर्स के सभी गेंदबाज़ों ने कम से कम 10 डॉट गेंदें फेंकी।

इसके बाद शुभमन गिल और वेंकटेश अय्यर की जोड़ी ने बाक़ी का काम पूरा किया। मध्य प्रदेश के लिए खेलने वाले बाएं हाथ के 26 वर्षीय बल्लेबाज़ अय्यर ने तुरंत दिखाया कि उन्हें सोमवार को आईपीएल की डेब्यू कैप क्यों दी गई। उन्होंने मोहम्मद सिराज को पहले ओवर में लगातार चौके लगाए। दोनों ही बल्लेबाज़ खुल कर खेल रहे थे और लय में दिख रहे थे। गिल जिस तरीक़े से जेमीसन के ख़िलाफ़ बाहर निकल कर खेल रहे थे वह उनकी पूरी बल्लबाज़ी की कहानी को बयां कर रहा था। अंत में कोलकाता की टीम ने मात्र 10 ओवर में अपने लक्ष्य को हासिल कर लिया।

विशाल दिक्षित ESPNcricinfo के अस्सिटेंट एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर राजन राज ने किया है।