फ़ीचर्स

आंकड़े झूठ नहीं बोलते: बाबर और कोहली के बीच नहीं गेंदबाज़ों के बीच होगी असली भिड़ंत

भारत और पाकिस्तान के बीच होने वाले मुक़ाबले से जुड़े कुछ बेहतरीन आंकड़े

Rohit Sharma and Babar Azam catch up during the toss, India vs Pakistan, Men's T20 World Cup 2022, Super 12s, MCG/Melbourne, October 23, 2022

आंकड़े कहते हैं कि रोहित बाएं हाथ के गेंदबाज़ों के ख़िलाफ़ और बाबर कुलदीप के ख़िलाफ़ अच्छा प्रदर्शन नहीं करते  •  Getty Images/ICC

एशिया कप के तीसरे मुक़ाबले में भारत और पाकिस्तान की टीम आमने-सामने होगी। भले ही भारतीय टीम 2010 के बाद से पाकिस्तान को एशिया कप (वनडे फ़ॉर्मेट) में पांच में से चार मुक़ाबले हरा चुकी है लेकिन इस बात में कोई दो मत नहीं है कि मुक़ाबला बराबरी का होगा।
आइए आंकड़ों के जरिए देखते हैं कि इस मैच में किन खिलाड़ियों पर नज़र रखना काफ़ी ज़रूरी है।
कुलदीप के सामने नहीं टिक पाते हैं बाबर और फ़ख़र
बाबर आज़म ने वनडे में कुलदीप यादव के कुल 34 गेंदों का सामना किया है, जिसमें उन्होंने सिर्फ़ 18 रन बनाए हैं और दो बार आउट हुए हैं, वहीं फ़ख़र ज़मान भी दो मैचों में दो बार कुलदीप का शिकार बने हैं। इसके अलावा साल 2022 के बाद कुलदीप यादव रैकिंग की शीर्ष 10 टीमों से वनिंदु हसरंगा के साथ सबसे अधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज़ हैं। उन्होंने इस दौरान 18 मैचों में कुल 34 विकेट हासिल किए हैं। सबसे बड़ी बात यह है कि ये सभी विकेट मध्य ओवरों के दौरान आए हैं।
बाएं हाथ के तेज़ गेंदबाज़ों के सामने रोहित का ख़राब रिकॉर्ड
रोहित शर्मा ने 2018 से 2021 के बीच वनडे में बाएं हाथ के तेज़ गेंदबाज़ों के सामने 32 पारियों में 91.8 की औसत से 459 रन बनाए थे और सिर्फ़ पांच बार आउट हुए थे। वहीं 2022 के बाद से रोहित ने बाएं हाथ के गेंदबाज़ों के ख़िलाफ़ आठ पारियों में सिर्फ़17.8 की औसत से रन बनाए हैं और चार बार आउट हुए हैं।
पाकिस्तान के पहले तीन बल्लेबाज़ों का जबर रिकॉर्ड
2019 के विश्व कप के बाद से पाकिस्तान के लिए बाबर आज़म, इमाम उल हक़ और फ़ख़र ज़मान ने सबसे ज़्यादा रन बनाए हैं। इन तीनों बल्लेबाज़ों ने 2019 के बाद 4730 रन बनाए हैं, जिसमें 29 अर्धशतक और 17 शतक शामिल हैं।आईसीसी के बल्लेबाज़ों के वनडे रैंकिंग में भी ये तीनों बल्लेबाज़ टॉप 5 में शामिल हैं। 2021 के बाद से अपनी टीम के लिए बनाए गए कुल रनों में से 57 फ़ीसदी रन ये तीनों खिलाड़ी ही बनाते हैं। इन आंकड़ों का एक साफ़ मतलब यह भी है कि पाकिस्तान की बल्लेबाज़ी ऊपरी क्रम पर काफ़ी ज़्यादा निर्भर है।
गेंद बाहर स्पिन हुई तो कोहली भी मैदान के बाहर चले जाते हैं
2022 के बाद वनडे में विराट कोहली बाहर की तरफ़ स्पिन कराने वाले गेंदबाज़ों के ख़िलाफ़ 10 पारियों में सिर्फ़ 102 रन बना पाए हैं और सात बार आउट हुए हैं। हालांकि ऑफ़ स्पिनर के ख़िलाफ़ खेली गई नौ पारियों के दौरान वह एक बार भी आउट नहीं हुए हैं। एक बात यह भी है कि पाकिस्तान के पास फ़िलहाल कोई स्पेशलिस्ट ऑफ़ स्पिनर है ही नहीं।
हार्दिक 2022 के बाद हार्ड-हिट कर रहे हैं
वनडे में 2022 के बाद से हार्दिक पंड्या का प्रदर्शन काफ़ी अच्छा रहा है। उन्होंने 12 पारियों में 34.6 की औसत से 380 रन बनाए हैं, जिसमें तीन अर्धशतक भी शामिल हैं। वहीं गेंदबाज़ी में उन्होंने 14 पारियों में 5.6 की इकॉनमी से गेंदबाज़ी करते हुए कुल 14 विकेट लिए हैं।
भारतीय तेज़ गेंदबाज़ बहुत तेज़ विकेट ले रहे हैं
2022 के बाद से रैंकिंग की शीर्ष 10 टीमों में भारतीय तेज़ गेंदबाज़ों ने पहले 10 ओवर में सबसे ज़्यादा विकेट लिए हैं। उन्होंने 35 मैचों में पहले 10 ओवर के दौरान कुल 65 विकेट लिए हैं। ऐसे में पाकस्तान के सलामी बल्लेबाज़ों को भारतीय तेज़ गेंदबाज़ों के ख़िलाफ़ शुरुआत मे काफ़ी संभल कर खेलना होगा।
तीन निकट महा विकेट (विकट)
2022 के बाद कम से कम 20 विकेट लेने वाले गेंदबाज़ों में नसीम शाह का औसत (16.2) और स्ट्राइक रेट (21.2) पूरे विश्व क्रिकेट में सबसे बढ़िया है। हारिस रउफ़ ने 2021 के बाद से वनडे में पाकिस्तान के लिए सबसे ज़्यादा (45) विकेट लिए हैं। कम से कम 50 विकेट लेने वाले गेंदबाज़ों में शाहीन शाह अफ़रीदी का औसत विश्व क्रिकेट में दूसरे स्थान (25.5) पर है। ऐसे में इन तीनों गेंदबाज़ों के सामने भारतीय बल्लेबाज़ों को काफ़ी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।

राजन राज ESPNcricinfo हिंदी में सब एडिटर हैं