मैच (17)
IPL (2)
ACC Premier Cup (2)
Pakistan vs New Zealand (1)
PAK v WI [W] (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
Women's QUAD (2)
ख़बरें

भारतीय टेस्ट टीम से पुजारा, रहाणे, इशांत और साहा बाहर

श्रीलंका के ख़िलाफ़ सीरीज़ में रोहित करेंगे कप्तानी, बुमराह होंगे उपकप्तान

हालिया समय में ख़राब फ़ॉर्म से जूझ रहे हैं अजिंक्य रहाणे और चेतेश्वर पुजारा  •  Getty Images

हालिया समय में ख़राब फ़ॉर्म से जूझ रहे हैं अजिंक्य रहाणे और चेतेश्वर पुजारा  •  Getty Images

चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे, इशांत शर्मा और ऋद्धिमान साहा को श्रीलंका के ख़िलाफ़ आगामी दो मैचों की टेस्ट सीरीज़ के लिए टीम से बाहर किया गया है। रोहित शर्मा टेस्ट टीम की कप्तानी करेंगे। इसका अर्थ यह है कि अब तीनों फ़ॉर्मैट में भारत की कप्तानी की ज़िम्मेदारी रोहित के कंधों पर होगी लेकिन चयन समिति उनकी फ़िटनेस पर ध्यान रखेगी और उनकी छत्रछाया में भविष्य के लिए नेतृत्वकर्ता तैयार करेगी।
भारतीय चयन समिति के अध्यक्ष चेतन शर्मा ने कहा कि उन्होंने ड्रॉप किए गए चारों खिलाड़ियों को साउथ अफ़्रीका सीरीज़ के तुरंत बाद बता दिया था कि उन्हें इन दो टेस्ट मैचों के लिए नहीं चुना जाएगा। चेतन ने यह भी बताया कि उन्होंने उनसे रणजी ट्रॉफ़ी के मैच खेलने का आग्रह किया ताकि चयनकर्ताओं को उनके फ़ॉर्म और फ़िटनेस का अंदाज़ा हो। रहाणे ने गत चैंपियन सौराष्ट्र के ख़िलाफ़ शतक जड़ा जबकि पुजारा शून्य पर आउट हुए। वहीं इशांत और साहा ने पहले चरण के मुक़ाबलों में हिस्सा नहीं लिया।
कुछ समय से पुजारा और रहाणे के फ़ॉर्म की आलोचना हो रही थी। पुजारा ने आख़िरी बार 2018-19 के ऑस्ट्रेलिया दौरे पर शतक जड़ा था। अक्तूबर 2019 के बाद से रहाणे के बल्ले से भी एक ही शतक निकला है। सभी खिलाड़ियों के उपलब्ध होने पर साहा और इशांत एकादश में जगह नहीं बना पा रहे हैं। हालांकि चेतन ने कहा कि इनमें से किसी भी खिलाड़ी के लिए दरवाज़ें हमेशा के लिए बंद नहीं किए गए हैं।
यह पूछे जाने पर कि क्या यह खिलाड़ी टेस्ट टीम में वापसी कर सकते हैं, चेतन ने कहा, "क्यों नहीं? उन्होंने कई वर्षों से भारत का प्रतिनिधित्व किया है। अजिंक्य ने कल शतक जड़ा। एक खिलाड़ी का करियर उतार-चढ़ाव से गुज़रता रहता है। चयनकर्ताओं के लिए यह आवश्यक है कि हम बुरे दौर का सामना कर रहे खिलाड़ियों का समर्थन करें। आप एक झटके में उन्हें दरकिनार नहीं कर सकते हैं।"
चेतन ने आगे कहा, "हमने उन्हें कहा था कि उन्हें इस दो टेस्ट मैचों के लिए नहीं चुना जाएगा। इसमें कोई ग़लत बात नहीं है। हम भविष्य में उनके चयन पर विचार ज़रूर करेंगे। इस दौरान यह देखते हैं कि अन्य खिलाड़ी कैसा प्रदर्शन करते हैं। किसी के लिए दरवाज़े बंद करने वाले हम कौन होते हैं? मैंने उन्हें रणजी खेलने को कहा। यह महत्वपूर्ण है क्योंकि चयनकर्ता बारीक़ी से रणजी ट्रॉफ़ी को देखते हैं। वहीं से हमें पता चलता है कि आप कैसी लय में हैं। साउथ अफ़्रीका दौरे के तुरंत बाद हमने उन चारों से बात की और उन्हें इस फ़ैसले के बारे में बताया।"
चयनकर्ताओं ने न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ पहले टेस्ट मैच में लगी चोट से उबर चुके रवींद्र जाडेजा को टीम में वापस बुलाया है। हालांकि वह रविचंद्रन अश्विन को लेकर जोखिम नहीं ले रहे हैं। उन्हें टीम में चुना गया है लेकिन वह पूरी तरह फ़िट होने पर ही मैच खेलेंगे। इस समय वह बेंगलुरु में स्थित राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी (एनसीए) में चोट से पुनर्वास कर रहे हैं। टीम प्रबंधन मोहाली में उनकी फ़िटनेस का मूल्यांकन करेगा और उनके खेलने पर निर्णय लेगा। अगर अश्विन फ़िट नहीं होते हैं तो जयंत यादव के रूप में टीम के पास ऑफ़ स्पिन का एक और विकल्प मौजूद हैं।
अक्षर पटेल पूरी तरह से फ़िट नहीं हैं जिस वजह से चयन समिति ने उत्तर प्रदेश के बाएं हाथ के स्पिनर सौरभ कुमार को पहली बार टेस्ट टीम में शामिल किया है। इंडिया ए टीम के साउथ अफ़्रीका दौरे पर सौरभ ने अपने प्रदर्शन से सभी को प्रभावित किया था और उन्हें रिज़र्व खिलाड़ी के तौर पर भारतीय टीम में जोड़ा गया था। सीमित ओवर क्रिकेट में वापसी करने वाले कुलदीप यादव की टेस्ट टीम में भी वापसी हुई हैं।
चेतन ने कहा, "यह चयन समिति चुने गए खिलाड़ियों को लंबे समय तक मौक़े देने में विश्वास रखती है। अगर वह अच्छा प्रदर्शन कर चुके हैं और किसी कारणवश नहीं खेल पाएं, तो हमें उन्हें अधिक मौक़े देने होंगे।"
टीम की घोषणा ने यह भी साफ़ कर दिया कि भारतीय टेस्ट टीम का नया कप्तान कौन होगा। रोहित की हैमस्ट्रिंग चोट के चलते सवालिया निशान थे कि क्या उन्हें तीनों प्रारूपों में कप्तानी दी जाएगी। चेतन ने बताया कि चयनकर्ता रोहित की हालिया फ़िटनेस से संतुष्ट थे और वह उनके कार्यकाल में भविष्य के कप्तानी विकल्पों को तैयार करना चाहते हैं।
चेतन ने कहा, "रोहित देश के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी हैं। वह तीनों फ़ॉर्मैट खेलते हैं और सबसे अहम बात यह है कि हम किस तरह उनके कार्यभार को संभालते हैं। यह पेशेवर खिलाड़ी हैं और अपने शरीर को अच्छी तरह से जानते हैं। फ़िलहाल कोई परेशानी नहीं है। हम बीच-बीच में (फ़िटनेस और आराम को लेकर) उनसे चर्चा करते रहेंगे। अगर इतना बड़ा खिलाड़ी कप्ता बनता हैं, तो हम (चयन समिति) उनकी छत्रछाया में भविष्य के कप्तान तैयार कर सकते हैं।"
भविष्य में टीम की कप्तानी को ध्यान में रखते हुए ऐसा प्रतीत हो रहा है कि चयनकर्ताओं की नज़र ऋषभ पंत, जसप्रीत बुमराह और केएल राहुल पर है। राहुल ने रोहित और कोहली की ग़ैरमौजूदगी में साउथ अफ़्रीका में एक टेस्ट मैच में कप्तानी की थी। पंत वेस्टइंडीज़ सीरीज़ के दौरान टीम के उपकप्तान थे। और अब बुमराह श्रीलंका सीरीज़ के दौरान टीम के उपकप्तान होंगे।
टेस्ट सीरीज़ के लिए भारतीय टीम : रोहित शर्मा (कप्तान), मयंक अग्रवाल, प्रियांक पांचाल, विराट कोहली, श्रेयस अय्यर, हनुमा विहारी, शुभमन गिल, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), केएस भरत (विकेटकीपर), रवींद्र जाडेजा, जयंत यादव, कुलदीप यादव, जसप्रीत बुमराह (उपकप्तान), मोहम्मद शमी, मोहम्मद सिराज, उमेश यादव, सौरभ कुमार, रविचंद्रन अश्विन (यदि वह फ़िट होते हैं)