मैच (16)
IPL (3)
PAK v WI [W] (1)
Pakistan vs New Zealand (2)
ACC Premier Cup (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
ख़बरें

2021 की योजना के तहत गेंदबाज़ी कर के हमें सफलता मिली : सिराज

'इंग्लैंड के बल्लेबाज़ों ने अपनी शैली में बदलाव किया फिर भी हमें विकेट मिले'

हाल ही में इंग्लैंड ने न्यूज़ीलैंड को 3-0 से हराया था। उस सीरीज़ में इंग्लैंड की टीम एक आक्रामक शैली के साथ अपने खेल को आगे बढ़ा रही थी और इसमें उन्हें सफलता भी मिली थी।
मोहम्मद सिराज के अनुसार भारत के पास 140 की गति से गेंदबाज़ी करने वाले गेंदबाज़ों का एक अच्छा समूह है, इसी कारण भारत पिछले साल सीरीज़ में 2-1 से बढ़त बनाने में सफल रहा था। भारत ने इस मैच में भी उसी योजना के साथ गेंदबाज़ी की और उन्हें सफलता मिली। सिराज ने पहली पारी में चार विकेट झटके, जिसमें जो रूट का भी विकेट शामिल है।
मैच से पहले इंग्लैंड के कप्तान बेन स्टोक्स ने साफ़ कह दिया था कि उनकी टीम निडर होकर बल्लेबाज़ी करने वाली है। इसी शैली के साथ बल्लेबाज़ी करते हुए स्टोक्स का विकेट भी गिरा। इसके बाद भारत 132 रनों की बढ़त लेने में सफल रहा। इंग्लैंड के बल्लेबाज़ों में सिर्फ़ जॉनी बेयरस्टो ही सफल रहे और उन्होंने शतक भी लगाया, जिसके कारण उनकी टीम एक ठीक-ठाक स्कोर तक पहुंच सकी।
सिराज ने कहा, "एक गेंदबाज़ के तौर पर हम पूरे धैर्य के साथ गेंदबाज़ी करने का प्रयास कर रहे थे। बेयरस्टो काफ़ी बढ़िया फ़ॉर्म में हैं और लगातार रन बना रहे हैं। हमें पता था कि उनका आत्मविश्वास काफ़ी ऊपर है। हमारी योजना काफ़ी सरल थी कि अतिरिक्त प्रयास नहीं करना है। हमने जो योजना बनाई है, उसी के अनुसार गेंदबाज़ी करते रहना है। उन्हें आउट करने के लिए हमें बस एक अच्छी गेंद डालनी थी।"
लंच के बाद जसप्रीत बुमराह ने काफ़ी बढ़िया गेंदबाज़ी करते हुए सटीक लेंथ पर गेंदबाज़ी की। साथ ही उन्होंने धीमी गति से भी गेंद डाली। कुल मिला कर उन्होंने बेयरस्टो को शांत रखा। इसके बाद बेयरस्टो शमी की एक फुलर लेंथ गेंद पर स्लिप में खड़े विराट कोहली को कैच दे बैठे।
सिराज ने कहा, "जब हमने न्यूज़ीलैंड सीरीज़ देखी तो हमने महसूस किया कि हमारा हर गेंदबाज़ 140 से अधिक की गति से गेंदबाज़ी कर सकता है और उनके गेंदबाज़ों पास यह क्षमता नहीं है। पिछले साल यही हमारी मज़बूती थी और इसलिए हमें सफलता मिली थी। पहली पारी में पिच गेंदबाज़ों को मदद कर रही थी, इसलिए हमारी योजना थी कि हमे एक एक ही क्षेत्र में लगातार गेंदबाज़ी करते रहना है। हम कहीं से भी कमज़ोर गेंद नहीं करना चाहते थे। इससे विपक्षी टीम को रन बनाने का मौक़ा मिल सकता था।"
न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ इंग्लैंड के बल्लेबाज़ो ने आक्रामक दृष्टिकोण के साथ बल्लेबाज़ी करते हुए आसानी से 270 से अधिक के तीन लक्ष्य का पीछा किया। इसमें कोई संदेह नहीं है कि स्टोक्स की टीम फिर से यही प्रयास करेगी। इस बारे में सिराज का मानना है कि चौथी पारी में उन्हें बल्लेबाज़ी करने में दिक्कत होगी। "कई गेंदों में कम उछाल देखने को मिल रहा है। इसके कारण हमें मदद मिलेगी।"

नागराज गोलापुड़ी ESPNcricinfo में न्यूज़ एडिटर हैं, अनुवाद ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो हिंदी के राजन राज ने किया है