मैच (9)
ज़िम्बाब्वे बनाम वेस्टइंडीज़ (1)
बीबीएल (1)
आईएलटी20 (2)
बीपीएल 2023 (2)
रणजी ट्रॉफ़ी (1)
सुपर स्मैश (1)
एसए20 (1)
ख़बरें

मार्क वुड का पाकिस्तान के ख़िलाफ़ पहले टेस्ट में खेलना संदिग्ध

टी20 विश्व कप में लगी चोट के बाद उन्हें घर भेज दिया गया था

कूल्हे की चोट के कारण वुड टी20 विश्व कप का फ़ाइनल नहीं खेल पाए थे  •  AFP via Getty Images

कूल्हे की चोट के कारण वुड टी20 विश्व कप का फ़ाइनल नहीं खेल पाए थे  •  AFP via Getty Images

इंग्लैंड के तेज़ गेंदबाज़ मार्क वुड का पाकिस्तान के ख़िलाफ़ पहले टेस्ट में खेलना संदिग्ध है।
टी20 विश्व कप के दौरान कूल्हे की चोट से जूझ रहे वुड फ़िलहाल इंग्लैंड में हैं और रविवार तक रावलपिंडी में टीम से जुड़ सकते हैं। हालांकि उनके खेलने की संभावना कम है। माना जा रहा है कि वह फ़िट तो हो गए हैं लेकिन टेस्ट मैच में लंबे स्पेल डालने की उनकी क्षमता अभी चोट के कारण प्रभावित होगी।
इससे पहले चोट के कारण ही वुड लंबे समय तक टीम से बाहर थे। टी20 विश्व कप से पहले पाकिस्तान दौरे के दौरान उनकी टी20 टीम में वापसी हुई थी, जहां उन्होंने सिर्फ़ दो मैचों में ही 7.33 की इकॉनमी से छह विकेट लिए थे। विश्व कप में भी उन्होंने अपने इस फ़ॉर्म को बरक़रार रखते हुए चार मैचों में 12 की औसत से नौ विकेट लिए थे। इस दौरान उन्होंने 154.7 किमी/घंटे की रफ़्तार से विश्व कप की सबसे तेज़ गेंद भी फेंकी।
हालांकि जब उन्हें चोट लगी तब विश्व कप के बाद सीधे उन्हें घर भेज दिया गया और वह इस टेस्ट सीरीज़ से पहले हुए अबू धाबी के अभ्यास सत्रों और मैच में शामिल नहीं हुए।
हालांकि इंग्लैंड के कप्तान बेन स्टोक्स वुड के फ़िटनेस को लेकर आशावादी हैं और उनका कहना है कि इसलिए टीम में उनका कोई विकल्प नहीं बुलाया गया है।
स्टोक्स ने कहा, "हमने वुड और (हैरी) ब्रूक को विश्व कप के बाद इसलिए घर भेजा था क्योंकि वे पाकिस्तान टी20 दौरे से ही टीम के साथ थे। हमें लगा कि चोट से उबरने के बाद अगर वुड अपने परिवार के साथ रहेंगे तो उन्हें और मदद मिलेगी। अब वह टीम में वापस आ रहे हैं, देखना होगा कि वे नेट्स में कैसा करेंगे।"
इंग्लैंड टीम में 18 वर्षीय युवा स्पिनर रेहान अहमद को भी लाया गया है, जिनके पास सिर्फ़ तीन प्रथम श्रेणी मैचों का अनुभव है। स्टोक्स का मानना है कि रेहान बड़े मंच के लिए तैयार हैं।
स्टोक्स ने कहा, "यह उनके लिए टेस्ट क्रिकेट के माहौल को समझने का बड़ा मौक़ा है। वह सीनियर्स के साथ अपने स्किल भी सुधार सकते हैं। क्या पता अगले दो-तीन सालों बाद वह टीम के एक महत्वपूर्ण खिलाड़ी हों।"

विदूशन अहंतराजा ESPNcricinfo में एसोसिएट एडिटर हैं