मैच (10)
IPL (3)
SA v SL (W) (1)
ACC Premier Cup (4)
Women's QUAD (2)
ख़बरें

मैथ्यू मॉट को स्टोक्स की वनडे संन्यास से वापस लौटने की उम्मीद

इंग्लैंड के सीमित ओवरों के कोच को उम्मीद है कि 2023 वनडे विश्व कप ख़िताब की रक्षा करने में स्टोक्स की अहम भुमिका रहेगी

स्टोक्स ने एक और विश्व कप फ़ाइनल में नाबाद अर्धशतक जड़कर इंग्लैंड को जीत दिलाई  •  AFP/Getty Images

स्टोक्स ने एक और विश्व कप फ़ाइनल में नाबाद अर्धशतक जड़कर इंग्लैंड को जीत दिलाई  •  AFP/Getty Images

दो विश्व कप फ़ाइनल जीत में अहम भूमिका निभाने के बाद क्या बेन स्टोक्स को अगले साल भारत में होने वाले वनडे विश्व कप के लिए समय पर वनडे रिटायरमेंट से वापस आने के लिए राज़ी किया जा सकता है? इंग्लैंड के सीमित ओवरों के कोच मैथ्यू मॉट को उम्मीद है कि उन्हें लुभाया जा सकता है।
स्टोक्स ने 2019 में लॉर्ड्स में न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ 92 रन (84 और आठ सुपर ओवर में) बनाने के बाद मेलबर्न में पाकिस्तान के ख़िलाफ़ टी20 विश्व कप फ़ाइनल में नाबाद 52 रन की महत्वपूर्ण पारी खेली और बड़े मैच के ख़िलाड़ी के रूप में अपने स्टेटस को और मज़बूत किया ।
हालांकि स्टोक्स ने इस साल की शुरुआत में वनडे प्रारूप से संन्यास ले लिया था। संन्यास के वक़्त उन्होंने कहा था कि अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट के तीनों प्रारूप में अपने प्रदर्शन को शीर्ष पर रखना उनके लिए "अनसस्टेनेबल" है।
ऑस्ट्रेलिया की महिला टीम के साथ रिकॉर्ड तोड़ सफलता के बाद गर्मियों की शुरुआत में इंग्लैंड के सीमित ओवरों के कोच के रूप में पदभार संभालने वाले मॉट ने मेलबर्न में संवाददाताओं से कहा कि उन्होंने अभी तक स्टोक्स की वनडे संन्यास को वापस लेने के विचार पर चर्चा नहीं की है। हालांकि मॉट ने आगे कहा, उन्होंने स्टोक्स का "इंग्लिश क्रिकेट के लिए जो सही है उसे करने" का समर्थन किया।
मॉट ने कहा, "जब उन्होंने अपने वनडे संन्यास के बारे में मुझसे बात की तो मैंने जो पहली बात कही, वह यह थी कि मैं उनके किसी भी फ़ैसले का समर्थन करूंगा। लेकिन मैंने उनसे कहा कि उन्हें रिटायर होने की ज़रूरत नहीं है - वह बस कुछ समय के लिए वनडे क्रिकेट नहीं खेलें। मैंने कहा था कि आप कभी भी संन्यास से वापस आ सकते हैं। यह उनका फ़ैसला है। यह विश्व कप का साल होने जा रहा है और हम कुछ समय के लिए ज़्यादा टी20 क्रिकेट नहीं खेलेंगे, लेकिन यह फ़ैसला उनके ऊपर है। जितना अधिक हम उनसे हासिल कर सकते हैं वह अच्छा है। वह टेस्ट कप्तान के तौर पर अद्भुत काम कर रहे हैं लेकिन सीमित ओवरों के क्रिकेट में उनका बहुत बड़ा रोल है।"
मॉट ने बात करते समय स्टोक्स के वनडे संन्यास के कारणों के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने स्वीकार किया कि उनका शरीर तीनों प्रारूपों में मैच फ़िट रहने के दबाव को नहीं झेल पा रहा था। मॉट ने आगे बताया, स्टोक्स यह महसूस नहीं करना चाहते थे कि वह एक खिलाड़ी की जगह ले रहे हैं, जो जॉस बटलर और बाक़ी टीम को अपना सब कुछ दे सकता है।
बेन स्टोक्स ने यह स्पष्ट कर दिया कि उन्हें इंग्लैंड के सीमित ओवरों के क्रिकेट की योजना में एक अपवाद के रूप में नहीं देखा जाए। विश्व कप मैच विजेता के रूप में उनका रिकॉर्ड उनके हक़ में जा सकता है।
मॉट ने कहा, "वह थ्री-डायमेंशनल खिलाड़ी हैं और उनके पास देने के लिए बहुत कुछ है। इस टीम में वह संकट मोचक थे। मुझे लगता है कि हमारे पास बहुत सारे खिलाड़ी हैं जो असाधारण चीज़ें कर सकते हैं लेकिन वह ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्हें आप जानते हैं कि अगर वह मैदान में हैं तो आप मैच जीतेंगे। वह अपने फ़ैसले ख़ुद करेंगे। वह वही करेंगे जो इंग्लिश क्रिकेट के लिए सही होगा।"
मॉट ने आगे कहा, "वनडे क्रिकेट से संन्यास लेना उनके फ़ैसले का हिस्सा था। उन्होंने नहीं सोचा था कि वह अपना सब कुछ दे सकते हैं और यह फ़ैसला लेने के लिए उन्हें श्रेय दिया जा सकता है क्योंकि वह इंग्लिश क्रिकेट के लिए एक विशेष इंसान हैं। हम वही चाहते हैं जो पूरे सिस्टम के लिए सबसे अच्छा हो।"