मैच (17)
ENG v WI (1)
MLC (2)
Asia Cup (2)
ENG v SL (U19) (1)
LPL (2)
TNPL (1)
T20 Blast (8)
फ़ीचर्स

आईपीएल 2023: ऐसा लग रहा है कि मानो रन-महोत्सव चल रहा है

इस सीज़न बल्लेबाज़ों की तूती बोल रही है, जो थमने का नाम नहीं ले रहा है

Faf du Plessis and Glenn Maxwell added 120 for the third wicket - their fourth century stand this season, Mumbai Indians vs Royal Challengers Bangalore, IPL 2023, Mumbai, May 9, 2023

ग्लेन मैक्सवेल इस सीज़न औसतन हर 6.6 गेंद पर सिक्सर लगा रहे हैं  •  Associated Press

आईपीएल 2023 में पारी के हर एक चरण में अब तक का सबसे उच्चतम रन रेट देखा गया है। साथ ही पिछले सीज़न की तुलना में इस बार काफ़ी अधिक बाउंड्री लग रहे हैं। इस बार आईपीएल इतिहास के सभी 16 संस्करणों में अधिकतम 200 से अधिक के स्कोर बने हैं। आइए देखते हैं कि बल्लेबाज़ों की इस आतिशी कहानी के बारे में आंकड़े क्या कह रहे हैं।।

इस सीज़न रन रेट में आया है गजब का उछाल

इस सीजन का औसत रन रेट 8.95 रहा है। आईपीएल 2018 में पिछला उच्चतम औसत रन रेट 8.64 था। अगर हम सिर्फ़ पहली पारी के बारे में बात करते हैं, तो औसत रन रेट (9.07) ने आईपीएल इतिहास में पहली बार नौ रन प्रति ओवर के निशान को तोड़ दिया है। वहीं दूसरी पारी में भी औसत 8.83 का है, जो अब तक का सबसे ज़्यादा है।
इस सीज़न में अब तक छह टीमों ने नौ रन प्रति ओवर के ज़्यादा के रन रेट से रन बनाए हैं। चेन्नई सुपर किंग्स ने 9.43 के रन रेट से, मुंबई इंडियंस ने 9.41 रन के रन रेट से, जबकि रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु ने 9.09 के रन रेट से रन बनाए हैं। इससे पहले के सभी 15 आईपीएल सीज़न में इन छह टीमों में से एक टीम ने केवल छह बार नौ रन प्रति ओवर के आंकड़ा को पार किया था।
अगर किसी एक पारी में हर एक फेज़ में रन रेट के आंकड़ें को देखें तो यह भी कुछ उसी तरह की कहानी को बयां करता है। इस साल पहली पारी में पावरप्ले के दौरान औसत रन रेट 8.86 का है। इससे पहले 2018 में 8.28 की औसत रन रेट से टीमों ने रन बनाया था। उसी तरह से बीच के ओवरों में और डेथ ओवरों में 2023 में टीमों ने पिछले सीज़न की तुलना में काफ़ी तेज़ी से रन बनाए हैं।

200 रन

आईपीएल के मौजूदा संस्करण में 30 बार 200 से अधिक के स्कोर बने हैं। इससे पहले का रिकॉर्ड सिर्फ़ 18 बार 200 या उससे अधिक के स्कोर का है। अभी भी इस टूर्नामेंट में 20 मैच बाक़ी है, जिसका साफ़ मतलब है कि यह आंकड़ा काफ़ी ऊपर जा सकता है।
पांच टीमों (कोलकाता, चेन्नई, मुंबई, पंजाब और राजस्थान ) ने चार बार 200 से अधिक का स्कोर बना चुकी हैं। आईपीएल 2023 से पहले पूरे आईपीएल इतिहास में केवल पांच ऐसे उदाहरण थे, जहां एक टीम ने एक सीज़न में चार बार 200 से अधिक का स्कोर बनाया। साल 2014 में किंग्स इलेवन पंजाब (अब पंजाब किंग्स) ने, 2016 में बेंगलुरु ने , 2018 में चेन्नई ने, 2019 में कोलकाता ने और 2022 में चेन्नई ने चार बार 200 से अधिक रन बनाए थे। इस सीज़न में बचे हुए मैचों की संख्या को देख कर ऐसा लग रहा है कि हम पहली बार ऐसा देखेंगे कि किसी टीम ने पहली बार पांच या उससे अधिक बार 200 से अधिक का स्कोर बनाया।

चौके और सिक्सर की बरसात हो रही है

2008 में आईपीएल के उद्घाटन संस्करण में बल्लेबाज़ों ने हर 21 गेंदों पर एक सिक्सर लगाया था। आईपीएल 2023 में यह आंकड़ा 15.5 गेंदों के क़रीब चला गया है, जो किसी भी आईपीएल सीज़न में सर्वश्रेष्ठ है। 2018 में प्रत्येक 15.9 गेंदों पर एक सिक्सर लगा था, जो 2022 की 16.2 गेंद प्रति सिक्सर की दर से थोड़ा बेहतर था।
इस सीज़न 53 बल्लेबाज़ों ने कम से कम 100 गेंदों का सामना किया है। इसमें से 31 बल्लेबाज़ लगभग प्रति 15 गेंद पर एक सिक्सर लगा रहे हैं। ग्लेन मैक्सवेल ने अब तक 177 गेंदों में कुल 27 सिक्सर लगाए हैं। इसका ओसत 6.6 के क़रीब आएगा। वहीं शिवम दुबे (7.7), आंद्रे रसल (8.4), हेनरिक़ क्लासेन (8.9), जितेश शर्मा और टिम डेविड (9.0 each) ऐसे छह बल्लेबाज़ हैं, जिनके सिक्सर मारने का औसत सबसे बढ़िया हैं।

दी हिट-मैन

इस सीज़न में अब तक 21 बल्लेबाज़ों ने 150 या उससे अधिक की स्ट्राइक रेट से 100 से अधिक गेंदों का सामना किया है, जो सभी सीज़नों की तुलना में सर्वश्रेष्ठ है। पिछले साल यह संख्या 14 थी। आठ के बजाय दस टीमों की मौजूदगी का मतलब है कि बल्लेबाज़ों के लिए अधिक मौक़े हैं, लेकिन फिर भी इस साल संख्या चौंका देने वाली है। 2022 से पहले किसी भी सीज़न में दस से अधिक बल्लेबाज़ों ने यह उपलब्धि हासिल नहीं की थी। कुल मिलाकर आईपीएल में ऐसे केवल 127 बल्लेबाज़ ऐसे हुए हैं, जिन्होंने 150 के स्ट्राइक रेट से रन बनाया है। इसका मतलब है कि अकेले इस सीज़न में कुल संख्या के लगभग 17% फ़ीसदी बल्लेबाज़ उस स्ट्राइक रेट के साथ रन बना रहे हैं।
मैक्सवेल इस लिस्ट में 186.44 के स्ट्राइक रेट के साथ टॉप पर हैं। हालांकि इस लिस्ट में अजिंक्य रहाणे 181.48 के स्ट्राइक रेट से चौथे स्थान पर हैं। शायद इसकी उम्मीद कई लोगों ने नहीं की होगा।

धीमा होने का कोई संकेत नहीं

ऐसी आशंका थी कि टूर्नामेंट के दूसरे भाग में रन रेट गिर जाएगा क्योंकि पिचें थकी हुई हैं, लेकिन अभी तक ऐसा कोई संकेत नहीं मिला है। पिछले 26 मैचों में 9.04 के रन रेट से रन बनाए जा रहे हैं, जो पहले 28 मैचों में 8.87 का था। साथ ही पहले 28 मैचों में सिर्फ़ 12 बार 200 से अधिक रन बने थे लेकिन पिछले 26 मैचों में 18 बार 200 से अधिक रन बने हैं।
अब तक उपयोग किए गए 11 मैदानों में से नौ में 8.6 से अधिक का रन रेट देखा गया है। लखनऊ के इकाना स्टेडियम 7.1 के रन रेट से रन बने हैं, जो सबसे कम है। जिन मैदानों पर कम तीन मैचों की मेज़बानी की गई है, उनमें दिल्ली और लखनऊ ही ऐसे स्थान हैं जहां अभी तक 200 से अधिक का स्कोर नहीं देखा गया है।
टूर्नामेंट के अंतिम चरण में शायद स्कोरिंग रेट गिर सकता है, लेकिन आईपीएल 2023 में जिस तरह का रन-महोत्सव चल रहा है। ऐसा लगता है इसमें कोई कमी नहीं आएगी।

एस राजेश Espncricinfo के स्टैट्स एडिटर हैं। अनुवाद Espncricinfo हिंदी के सब एडिटर राजन राज ने किया है।