मैच (11)
भारत बनाम न्यूज़ीलैंड (1)
साउथ अफ़्रीका बनाम इंग्लैंड (1)
आईएलटी20 (2)
रणजी ट्रॉफ़ी (4)
बीबीएल (1)
एसए20 (1)
साउथ अफ़्रीका त्रिकोणीय सीरीज़ (1)
ख़बरें

ब्रावो ने आईपीएल से लिया संन्यास, अब बनेंगे सीएसके के गेंदबाज़ी कोच

इससे पहले एल बालाजी चेन्नई के गेंदबाज़ी कोच थे लेकिन उन्होंने अब ब्रेक लेने का फै़सला किया है

ब्रावो 2008 से ही आईपीएल का हिस्सा हैं  •  AFP

ब्रावो 2008 से ही आईपीएल का हिस्सा हैं  •  AFP

ड्वेन ब्रावो ने एक खिलाड़ी के तौर पर आईपीएल से संन्यास लेने का फै़सला किया है। अब वह एल बालाजी की जगह पर चेन्नई सुपर किंग्स के गेंदबाज़ी कोच होंगे। चेन्नई की तरफ़ से जारी किए गए एक बयान में कहा गया है कि बालाजी ने निजी कारणों से ब्रेक लेने का फै़सला किया है, लेकिन वह सुपर किंग्स एकेडमी के साथ जुड़े रहेंगे।
टीम की तरफ से जारी किए गए एक बयान में ब्रावो ने कहा, "अपने करियर के नए सफ़र को शुरू करने को लेकर मैं काफ़ी उत्सुक हूं। गेंदबाज़ों के साथ काम करना मुझे काफ़ी पसंद है। मुझे ऐसा नहीं लगता कि एक खिलाड़ी से कोच तक के सफ़र को तय करने के लिए मुझे ज़्यादा बदलाव करना होगा। एक गेंदबाज़ के तौर पर भी मैं अपने साथी गेंदबाज़ों को गाइड करने का प्रयास करता था। मैं हमेशा उनके पास नई रणनीतियों के साथ आता था कि कैसे बल्लेबाज़ों की सोच से एक क़दम आगे रहा जाए।"
उन्होंने आगे कहा, "एक कोच के तौर पर बस यही होगा कि मैं अब मिड ऑन या मिड ऑफ़ पर खड़ा नहीं रहूंगा। मैंने कभी नहीं सोचा था कि मैं आईपीएल के इतिहास में सबसे ज़्यादा विकेट लेने वाला गेंदबाज़ बनूंगा। हालांकि मैं ख़ुश हूं कि मैं आईपीएल के इतिहास का एक हिस्सा बन पाया।"
ब्रावो आईपीएल के पहले सीज़न से ही इसका हिस्सा रहे हैं। बस वह 2017 में चोट के कारण आईपीएल का हिस्सा नहीं बन पाए थे। वह 2008 की शुरुआती आईपीएल सीज़न में मुंबई इंडियंस के टीम का हिस्सा थे और तीन साल तक वहीं रहे। इसके बाद वह साल 2011 में चेन्नई की टीम का हिस्सा बने। जब चेन्नई को सस्पेंड कर दिया गया था, तब वह दो सालों के लिए गुजरात लायंस की टीम की तरफ़ से खेल रहे थे। इसके बाद 2018 में वह फिर से चेन्नई सुपर किंग्स का हिस्सा बने।
ब्रावो ने अपने आईपीएल करियर में कुल 183 विकेट लिए। इस दौरान 8.38 की इकॉनमी से गेंदबाज़ी करते हुए 158 पारियों में उन्होंने इस आंकड़े को छुआ। इसके अलावा उन्होंने 129.57 की स्ट्राइक रेट से 1560 रन भी बनाए।
चेन्नई की तरफ़ से ब्रावो ने कुल 144 मैच खेलते हुए 168 विकेट लिए। चेन्नई के चार में तीन आईपीएल जीतने वाली टीम का ब्रावो हिस्सा थे। 2011, 2018 और 2021 में वह चेन्नई की तरफ़ से ही खेल रहे थे। सिर्फ़ जब 2010 में चेन्नई आईपीएल जीता तब वह मुंबई की टीम से खेल रहे थे।
इसके अलावा ब्रावो आईपीएल के दो सीज़न में सबसे ज़्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज़ बने। 2013 के आईपीएल में उन्होंने 32 विकेट लेकर पर्पल कैप हासिल किया था और 2015 में 26 विकेट लेकर उन्होंने सबसे ज़्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज़ी की सूची में शीर्ष क्रम पर कब्ज़ा जमााया था। भुवनेश्वर कुमार के साथ सिर्फ़ ब्रावो ही ऐसे गेंदबाज़ हैं, जिन्हें दो बार पर्पल कैप मिला है।
सुपर किंग्स के मुख्य कार्यकारी अधिकारी कासी विश्वनाथन ने कहा, "वह एक दशक से अधिक समय से सुपर किंग्स परिवार का एक महत्वपूर्ण सदस्य रहे हैं। हम इस रिश्ते को जारी रखने को लेकर उत्साहित हैं। ब्रावो का बहुमूल्य अनुभव हमारे खिलाड़ियों और सहयोगी स्टाफ़ के लिए बहुत महत्वपूर्ण होगा। हमें विश्वास है कि हमारा गेंदबाज़ी समूह उनके मार्गदर्शन में अच्छा करेगा।"