मैच (21)
IPL (2)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
ACC Premier Cup (6)
USA vs CAN (2)
Zonal Trophy [W] (1)
SA v SL (W) (1)
फ़ीचर्स

किफ़ायती मार्क वॉट बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज़ के तौर पर बना रहे हैं एक अलग पहचान

बाएं हाथ के इस छुपे रुस्तम स्पिन गेंदबाज़ ने न्यूज़ीलैंड को जीत के लिए कड़ी मेहनत कराई

मार्क वॉट की ताक़त है उनकी विविधता से भरी गेंदबाज़ी  •  ICC via Getty

मार्क वॉट की ताक़त है उनकी विविधता से भरी गेंदबाज़ी  •  ICC via Getty

टी20 क्रिकेट में बाएं हाथ की पारंपरिक स्पिन गेंदबाज़ी बेहद ही कम नज़र आती है। ज़्यादातर गेंदबाज़ों को आप देखेंगे उनकी प्राथमिकता स्पिन कराना नहीं बल्कि सुरक्षात्मक गेंदबाज़ी करना होता है, या ऐसी लेंथ पर डालना होता है जहां से बल्लेबाज़ उनके ख़िलाफ़ बड़ा शॉट न लगा पाएं। इनमें से कई गेंदबाज़ों के पास तो उनकी चौंकाने वाली रॉन्ग गेंद तो है ही नहीं बल्कि वह आर्म गेंद पर ज़्यादा भरोसा करते हैं। ज़्यादातर बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज़ों का पहला मक़सद यही होता है कि अपने ओवर की सभी छह गेंद ऐसी विविधता के साथ डाली जाए कि बल्लेबाज़ पढ़ न सके कि अगली गेंद कौन सी होगी।
मौजूदा टी20 विश्वकप में स्कॉटलैंड के बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज़ मार्क वॉट तेज़ी से अपनी एक अलग पहचान बनाते हुए नज़र आ रहे हैं। वॉट, पारंपरिक बाएं हाथ की स्पिन गेंदबाज़ी के इतर एक अपने अलग अंदाज़ के लिए प्रसिद्ध हो रहे हैं और किफ़ायती साबित हो रहे हैं।
लंबे क़द और चौड़े कंधे वाले वॉट ने अब तक हर मैच में अपने कोटे के सभी चार ओवर डाले हैं, और इस दौरान सिर्फ़ सात बाउंड्री उनके ख़िलाफ़ आई है। हालांकि अभी उनको पाकिस्तान और भारत के ख़िलाफ़ खेलना बाक़ी है, लेकिन अब तक उन्होंने किसी भी मैच में 23 से ज़्यादा रन नहीं दिए हैं।
वॉट की ताक़त उनकी विविधता है, उनके डेलिवरी प्वाइंट्स भी अलग-अलग एंगल के साथ आते हैं। कभ-कभी वह दो क़दमों के रनअपन के साथ अंपायर के बग़ल से आते हैं, तो कभी क्रीज़ के कोने से भी गेंद डालते हैं। औसतन उनकी गेंद 104 किमी प्रति घंटे की रफ़्तार से आती है और उनकी लंबाई की वजह से उन्हें गुड लेंथ से उछाल भी काफ़ी मिलती और उनके यॉर्कर भी अच्छे रहते हैं।
वॉट ने बांग्लादेश पर स्कॉटलैंड की जीत के बाद विस्डेन के साथ पॉडकास्ट में कहा, "आज के दौर में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में जो पिच मिलती है, वहां बतौर एक फ़िंगर स्पिनर आपके लिए ज़्यादा कुछ नहीं रह जाता। लिहाज़ा आपकी कोशिश रहती है कि आप अपनी हर गेंद बल्लेबाज़ों के लिए एक पहेली की तरह डालें, ताकि उन्हें समझ न आए कि आप कौन सी गेंद डाल सकते हैं। सफ़ेद गेंद और पिच फ़िंगर स्पिनर के लिए काफ़ी कठिन साबित होती है।"
वॉट के लिए शानदार तब रहा जब दुबई में खेले गए सुपर-12 के मैच के दौरान उनके ख़िलाफ़ न्यूज़ीलैंड का जो रवैया देखने को मिला। पहली ही गेंद पर उन्हें सफलता मिल गई थी, जब उन्होंने डेवन कॉन्वे को विकेट के पीछे कैच आउट करा दिया था। इसके बाद नतीजा ये हुआ कि मार्टिन गप्टिल और ग्लेन फ़िलिप्स, जिनकी नज़रें जम चुकी थीं, उन्होंने भी वॉट ख़िलाफ़ सिर्फ़ दो बड़े शॉट खेलने की कोशिश की थी और दोनों में ही वे नाकाम रहे।
ख़ास तौर से उनकी डेथ बोलिंक काफ़ी असरदार रही है, जहां वह लगातार यॉर्कर लेंथ पर गेंद डालते हैं और बल्लेबाज़ों को शॉट खेलने के लिए जगह नहीं देते हैं। न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ भी उन्होंने 18वें ओवर में गेंदबाज़ी की और सिर्फ़ पांच रन ख़र्च किया। वॉट का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन इस टूर्नामेंट में चार ओवर में 13 रन देकर एक विकेट रहा है, जो किसी भी पुरुष टी20 विश्वकप में स्कॉटलैंड की ओर से सबसे किफ़ायती है।
न्यूज़ीलैंड को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाने वाले मार्टिन गप्टिल भी वॉट की गेंदबाज़ी से ख़ासा प्रभावित हुए।
"मार्क ने हमें खुलकर खेलने का मौक़ा ही नहीं दिया, वह लगातार अच्छी लाइन और लेंथ पर गेंदबाज़ी कर रहे थे और हमें शॉट खेलने की जगह नहीं दे रहे थे। उनकी गेंदबाज़ी इतनी शानदार थी कि हम बस इंतज़ार कर रहे थे कि उनका स्पेल कब ख़त्म हो।"
मार्टिन गप्टिल, बल्लेबाज़, न्यूज़ीलैंड
वॉट के पास काउंटी क्रिकेट खेलने का भी अनुभव है, उन्होंने लंकाशायर के लिए 2018 में खेला है और इसके अगले साल वह डार्बीशयार की ओर से भी खेल चुके हैं। उनके प्रदर्शन को देखते हुए इसकी पूरी संभावना है कि 2022 का सीज़न भी वह काउंटी के लिए बिताएंगे।
स्कॉटलैंड के कप्तान काइल कोटज़र ने भी अपने इस खिलाड़ी की तारीफ़ की और कहा कि वह ज़रूर उन्हें काउंटी क्रिकेट में आगे भी देखना चाहेंगे।
"मुझे लगता है मार्क इसके योग्य हैं, मुझे पूरा भरोसा है कि वह आगे भी इस तरह की प्रतिस्पर्धा में खेलते हुए नज़र आएंगे। न सिर्फ़ काउंटी क्रिकेट बल्कि फ़्रेंचाइज़ी लीग प्रतियोगिता में भी वह खेल सकते हैं। मुझे लगता है इस फ़ॉर्मेट के वह बेहतरीन बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज़ों में से एक हैं।"
काइल कोटज़र, कप्तान, स्कॉटलैंड

मैट रोलर (@mroller98) ESPNcricinfo में असिस्टेंट एडिटर हैं, अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के मल्टीमीडिया जर्नलिस्ट सैयद हुसैन ने किया है।