मैच (17)
IPL (3)
Pakistan vs New Zealand (1)
PAK v WI [W] (1)
ACC Premier Cup (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
CAN T20 (2)
फ़ीचर्स

आख़िर शुभमन गिल का असली रूप हम सबने देखा

टी20 के लिए धीमे समझे जाने वाले इस बल्लेबाज़ ने 46 गेंद में 84 रन की मैच जिताऊ पारी खेली

कुलदीप यादव की एक लेंथ गेंद कोशुभमन गिल कट करना चाहते थे, लेकिन रूम नहीं था इसलिए उन्हें अंत में गेंदबाज़ के पास वापस खेलना पड़ा। इसके बाद वह निराशा में ज़ोर से चिल्लाए।
पुणे की इस विकेट पर पारी की शुरुआत करना आसान नहीं था। नई गेंद कांटा बदल रही थी और आसानी से बल्ले पर नहीं आ रही थी। विजय शंकर उस समय संघर्ष कर रहे थे और 20 गेंदों में सिर्फ़ 13 रन बनाए थे। हार्दिक पंड्या भी एक समय 18 गेंदों पर 16 रन बनाकर संघर्ष कर रहे थे। अंत में उन्होंने 27 गेंदों पर 31 रन की पारी खेली।
जिस पिच पर गुजरात टाइटंस के अन्य बल्लेबाज़ों ने 74 गेंद पर 80 रन बनाए, वहां शुभमन ने 182.60 की स्ट्राइक रेट से रन बनाए। यहां पर यह जानना अधिक ज़रूरी है कि उन्होंने पिछले सीज़न में कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए सिर्फ़ 118.90 की स्ट्राइक रेट से रन बनाए थे। यह तब था, जब कोलकाता के प्रमुख कोच ब्रेंडन मैक्कलम लगातार तेज़ बल्लेबाज़ी करने पर ज़ोर दे रहे थे।
शायद शुभमन का खेल ही ऐसा है। वह पारी में एंकर की भूमिका निभाते हैं। कोलकाता के लिए खेलते हुए वह अधिक डॉट गेंदें खेलते थे और इससे वह अधिक निराश भी थे।
गुजरात के साथ वह बिना अत्यधिक आक्रामक हुए भी सकारात्मक नज़र आए हैं। वह यहां पर तितली की तरह उड़ रहे हैं ना कि मधुमक्खी की तरह डंक मार रहे हैं। उनके शॉट खेलने के ढंग में एक अलग सी लयात्मकता है।
उनके पास टाइमिंग शुरू से ही था। इसके अलावा वह स्ट्राइक भी अच्छे से रोटेट करते हैं। बाउंड्री के लिए भी वह ड्राइव, पंच, कट और ज़मीन के सहारे पुल का ही सहारा लेते हैं। उन्होंने 32 गेंदों में अपना अर्धशतक पूरा किया और तब तक वह पुराने शुभमन की तरह ही नज़र आ रहे थे। हालांकि तब तक यह एक महत्वपूर्ण पारी बन चुकी थी, क्योंकि दूसरे छोर से लगातार विकेट गिर ही रहे थे।
अर्धशतक के बाद शुभमन ने अगली 14 गेंदों पर 34 रन बनाए। इस दौरान वह थोड़े अलग भी नज़र आएं और हमें एक 'नए शुभमन' की झलक भी दिखी। ख़लील अहमद के ख़िलाफ़ तो वह ऑफ़ साइड में शफ़ल कर गए और फ़ाइन लेग के ऊपर से लैप शॉट खेल दिया। उन्होंने अक्षर पटेल के भी ख़िलाफ़ रिवर्स स्वीप खेलने की कोशिश की, हालांकि सफल नहीं हो पाए।
इस पारी के बाद ब्रॉडकास्टर स्टार स्पोर्ट्स से बात करते हुए शुभमन ने कहा कि वह कुछ रन कम बना पाए। हालांकि उनकी इस पारी की बदौलत गुजरात 171 रन तक पहुंचा, जो कि अंत में एक मैच जिताऊ स्कोर साबित हुआ। इसके बाद कम ओस वाली इस पिच पर लॉकी फ़र्ग्युसन ने चार विकेट लेकर गुजरात की जीत सुनिश्चित कर दी।
फ़र्ग्युसन इससे पहले कोलकाता में भी शुभमन के साथी खिलाड़ी थे। मैच के बाद उन्होंने कहा, "मैं पिछले तीन साल से उनको देख रहा हूं और उन्होंने जबरदस्त प्रगति की है। वह अपार प्रतिभा के धनी हैं और उनके पास शॉट खेलने के लिए भरपूर समय (टाइमिंग) है। मुझे पता है कि वह शतक से चूकने पर निराश भी होंगे, उनकी रनों की भूख ही कुछ ऐसी है।"
गुजरात के कप्तान हार्दिक ने भी शुभमन की जम कर तारीफ़ की। उन्होंने मैच के बाद कहा, "हम इसी शुभमन गिल को देखना चाहते हैं। उनके अंदर जो आत्मविश्वास है, वह कमाल का है।"

हेमंत बराड़ ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो में सब एडिटर हैं