मैच (7)
ENG v PAK (1)
T20WC Warm-up (5)
ENG v PAK (W) (1)
ख़बरें

टिम पेन : केपटाउन टेस्ट के बाद साउथ अफ़्रीका गेंद के साथ छेड़छाड़ कर रहा था

उन्होंने स्वीकार किया कि सैंडपेपर का उपयोग गेंद को जमीन पर फेंकने जैसे पारंपरिक तरीक़ों से "अलग" और "शर्मनाक" था

Cameron Bancroft shows a black piece of cloth to the umpires, South Africa v Australia, 3rd Test, Cape Town, 3rd day, March 24, 2018

2018 के केपटाउन टेस्ट में हुआ था सैंडपेपर गेट प्रकरण  •  Gallo Images/Stringer

ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट को हिलाकर रख देने वाले सैंडपेपर-गेट प्रकरण के तुरंत बाद विकेटकीपर टिम पेन ने साउथ अफ़्रीका पर अगले टेस्ट में गेंद के साथ छेड़छाड़ करने का आरोप लगाया है। उन्होंने यह दावा किया है कि मैच प्रसारकों ने इसे छुपाने का प्रयास किया।
पेन ने अपनी आत्मकथा 'द पेड प्राइस' में यह विस्फोटक दावे किए जिसमें पूर्व टेस्ट कप्तान 2018 के केपटाउन टेस्ट की घटनाओं पर रोशनी डालने वाले पहले खिलाड़ी बने।
पेन ने साउथ अफ़्रीका के ख़िलाफ़ सीरीज़ के तीसरे टेस्ट के दौरान गेंद पर सैंडपेपर का उपयोग करने के लिए कैमरन बैनक्रॉफ़्ट की योजना के इर्द-गिर्द टीम की बैठक के किसी भी सुझाव से इनकार किया। साथ ही उनका कहना है कि जब रिप्ले में दिखाया गया कि बैनक्रॉफ़्ट ने अंपायरों से बात करने से पहले अपनी पैंट में सैंडपेपर छुपाया था तब वह दंग रह गए।
उन्होंने लिखा, "मैं सोच रहा था कि 'आपने क्या कर दिया?' हम सभी के मन में भय का भाव आ गया।"
2018 के दौरे पर एक लंबे अध्याय में पेन ने यह बताने का काफ़ी प्रयास किया कि क्रिकेट में गेंद से छेड़छाड़ आम बात थी और यह खेल का गंदा छोटा रहस्य था। फ़ाफ़ डुप्लेसी, जो उस समय साउथ अफ़्रीका के कप्तान थे, अपनी आने वाली क़िताब में भी इसी तरह के दावे करते हैं।
पेन ने स्वीकार किया कि सैंडपेपर का उपयोग करना आमतौर पर गेंद को जमीन पर फेंकने जैसे पारंपरिक छेड़छाड़ करने के तरीक़ों से "अलग" और "शर्मनाक" था। उनका यह भी कहना है कि जब उन्होंने साउथ अफ़्रीका को कथित तौर पर अगले टेस्ट में गेंद की सीम को अलग करते हुए देखा तो वह उग्र हो गए थे।
पेन ने लिखा, 'मैंने उस सीरीज़ के चौथे टेस्ट में ऐसा होते देखा था। केपटाउन में जो कुछ भी हुआ था, उसके बाद सभी सुर्ख़ियों और प्रतिबंधों के बाद इसके बारे में सोचो। मैं अगले टेस्ट में गेंदबाज़ों के छोर पर खड़ा था जब स्क्रीन पर एक साउथ अफ़्रीकी खिलाड़ी मिड-ऑफ़ पर गेंद के साथ छेड़छाड़ कर रहा था।"
उन्होंने आगे लिखा, "कैम (बैनक्रॉफ़्ट) को पकड़ने में सक्रिय भूमिका निभाने वाले टीवी निर्देशक ने तुरंत स्क्रीन से वह दृष्य हटाया। हम इसके बारे में अंपायरों के पास गए, जो थोड़ा खराब लग सकता था, लेकिन हम आश्वस्त थे कि वे पहले टेस्ट से ही इस पर निर्भर थे। लेकिन जैसा कि होना चाहिए, वह फ़ुटेज खो गई।"
पूर्व कप्तान को ऐसा महसूस हुआ कि खिलाड़ियों के परिवार को खरी-खोटी सुनाने वाली इस सीरीज़ में ऑस्ट्रेलिया को और विशेष रूप से डेविड वॉर्नर को 'उकसाया' जा रहा था।
उन्होंने यह भी दावा किया कि किंग्समीड में कुख्यात सीढ़ी टकराव से पहले क्विंटन डिकॉक द्वारा अपनी पत्नी कैंडिस के बारे में टिप्पणी करने के बाद वॉर्नर को उनसे नाराज़ होने का पूरा अधिकार था।
पेन ने नियमित रूप से वार्नर के आजीवन नेतृत्व प्रतिबंध को हटाने का आह्वान किया है, यह दावा करते हुए कि क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने पिछले साल की वेतन वार्ता के बाद उन्हें दंडित करने का अवसर दोनों हाथों से स्वीकार किया।
उन्होंने स्वीकार किया कि उन्हें लगा जैसे केपटाउन के प्रकरण से पहले टीम ने अपने सलामी बल्लेबाज़ को निराश कर दिया।