मैच (15)
IPL (2)
ACC Premier Cup (2)
Women's QUAD (2)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
फ़ीचर्स

पंजाब के भरोसे पर खरे उतर रहे अर्शदीप सिंह

हो सकता है उनके पास तेज़ गति न हो, लेकिन उनका अनुसाशन और प्रयास देखते ही बनता है

-->
चेन्नई सुपर किंग्स के ख़िलाफ़ सोमवार को जब अर्शदीप सिंह गेंदबाज़ी करने आए उस वक़्त पंजाब किंग्स 187 रनों के स्कोर का बचाव करते हुए अच्छी स्थिति में नहीं थी। पंजाब की टीम दिल्ली कैपिटल्स से मिली बड़ी हार के बाद इस मैच में उतरी थी और इस मैच में चेन्नई ने भी लगभग उनसे मैच छीन ही लिया था। शुरुआती झटकों के बाद अंबाती रायुडू फ़ॉर्म में लौटते दिखे। उन्होंने 16वें ओवर में संदीप शर्मा पर 23 रन बटोर लिए। अब चेन्नई को 24 गेंद में 47 रन की दरकार थी। अर्शदीप ने बस बिना नर्वस हुए कंट्रोल के साथ गेंदबाज़ी की, जैसा कि वह पिछले कुछ सीज़न से डेथ ओवर के अहम लम्हों में लगातार करते आए हैं।
इस ओवर में बायें हाथ के तेज़ गेंदबाज़ ने शानदार गेंदबाज़ी की, जहां छह गेंद में ये 1,1,1,0,1,2 रन आए। दबाव अब दोबारा चेन्नई पर था।
काम अभी ख़त्म नहीं हुआ था। कगिसो रबाडा के छह रन के ओवर के बाद अर्शदीप दोबारा 19वां ओवर करने आए, उस वक़्त चेन्नई को 12 गेंद में 35 रन की ज़रूरत थी। सामने रवींद्र जाडेजा और महेंद्र सिंह धोनी थे, जिन्होंने पिछले ही मैच में मुंबई इंडियंस के ख़िलाफ़ मैच जिताने वाली पारी खेली थी।
वे ऐसे दो अनुभवी खिलाड़ियों के सामने गेंदबाज़ी कर रहे थे जिन्हें उनकी फ‍़िनिशिंग कौशल के लिए जाना जाता है। अर्शदीप इस बात से वाकिफ़ थे कि यह दोनों ही बल्लेबाज़ वानखेड़े की लेग साइड पर छोटी बाउंड्री को टारगेट करेंगे।
यह ऐसा समय था जब कोई भी अनकैप्ड भारतीय गेंदबाज़ नर्वस हो जाता, लेकिन अर्शदीप ऐसा नहीं हुए और उन्होंने अपना काम बखूबी पूरा किया। उन्होंने कई वाइड यॉर्कर डाली और एक गेंद को जब वह करने में क़ामयाब नहीं हो सके तो यह गेंद चौके ​के लिए निकल गई। पंजाब के खेमे में कुछ भी चिंता देने वाला नहीं था क्योंकि डेथ में उन्होंने शानदार स्पेल किया जहां पर उन्होंने 12 गेंद में केवल 14 रन दिए। अब आख़िरी ओवर में चेन्नई को 27 रनों की ज़रूरत थी। धोनी के लिए भी यह मुश्किल काम ​था। ऋषि धवन ने आख़िरी ओवर किया और केवल 15 रन दिए और धोनी को आउट करते हुए पंजाब को 11 रनों से जीत दिला दी।
प्लेयर ऑफ़ द मैच शिखर धवन (59 गेंद में 88 रन), रबाडा और पांच साल बाद अपना पहला आईपीएल मैच खेल रहे ऋषि ने पंजाब की बहुत ज़रूरी चौथी जीत में अहम योगदान दिया, लेकिन मयंक अग्रवाल ने उन लम्हों पर ध्यान दिलाया जहां पर मैच पूरी तरह से उनकी ओर हो गया।