मैच (14)
IPL (3)
Pakistan vs New Zealand (1)
ACC Premier Cup (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
फ़ीचर्स

शाहरुख़, अर्शदीप, राजवर्धन : वे अनकैप्ड खिलाड़ी जो इस साल आईपीएल में सबको प्रभावित कर सकते हैं

ये खिलाड़ी आने वाले समय में टीम इंडिया का भी बड़ा चेहरा बन सकते हैं

यश झा
25-Mar-2022
इस साल शाहरुख़ ख़ान के छा जाने की पूरी संभावना है  •  BCCI/IPL

इस साल शाहरुख़ ख़ान के छा जाने की पूरी संभावना है  •  BCCI/IPL

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में दो नई टीमों के जुड़ने से युवा खिलाड़ियों के लिए संभावनाएं बढ़ गई हैं। ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो ऐसे कुछ खिलाड़ियों पर नज़र डाल रहा है, जो इस टूर्नामेंट में चमक सकते हैं।

शाहरुख़ ख़ान

पंजाब किंग्स
भूमिका : निचले क्रम के ताबड़तोड़ बल्लेबाज़
आईपीएल 2021 में ताबड़तोड़ बल्लेबाज़ के रूप में पहले ही अपनी पहचान बना चुके शाहरुख़ ख़ान इस सीज़न के सबसे बड़े खिलाड़ी साबित हो सकते हैं। उन्होंने पिछले साल 10 मैचों में 134.21 के स्ट्राइक रेट से 153 रन बनाए थे। हालांकि वह काफ़ी नीचे बल्लेबाज़ी कर रहे थे, इसलिए उन्हें अपना जौहर दिखाने का कम ही मौक़ा मिला।
उन्होंने इस साल घरेलू सर्किट में भी अच्छा प्रदर्शन किया। सैयद मुश्ताक़ अली ट्रॉफ़ी में उन्होंने छह पारियों में 64 गेंदों में 101 रन बनाए, जिसमें 9 गेंदों पर 19 रन और 15 गेंदों पर 33 रन की दो महत्वपूर्ण पारी भी शामिल है। इन दोनों मैचों में उन्होंने अंतिम ओवर में अपनी टीम को जीत दिलाई। इसके बाद विजय हज़ारे ट्रॉफ़ी में उन्होंने सात पारियों में 186.02 के स्ट्राइक रेट से 253 रन बनाए। फिर उन्होंने रणजी ट्रॉफ़ी में भी चार पारियों में 102.88 की स्ट्राइक से 285 रन बनाए।
आईपीएल की बड़ी नीलामी में तमिलनाडु के इस खिलाड़ी को चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) ने ख़रीदने का पूरा प्रयास किया था लेकिन अंत में बाज़ी उनकी पुरानी टीम पंजाब किंग्स ही मार ले गई और उन्हें नौ करोड़ रूपये में ख़रीदा गया। अब उन्हें इस बेहतरीन खिलाड़ी को सही से प्रयोग करने की ज़रूरत है।

अर्शदीप सिंह

पंजाब किंग्स
भूमिका : तेज़ गेंदबाज़
अर्शदीप सिंह पंजाब किंग्स के उन दो खिलाड़ियों में से एक थे, जिन्हें रिटेन किया गया। 2019 और 2020 के आईपीएल सीज़न में पंजाब किंग्स की तरफ़ से खेलते हुए उन्होंने बढ़िया प्रदर्शन किया था। 2020 में उन्होंने 11 मैचों में 12 विकेट लिए थे और उनकी इकॉनमी 9.38 की थी। वहीं साल 2021 में उन्होंने 12 मैचों में 18 विकेट लिए और उस दौरान उनकी इकॉनमी 8.27 की थी। अर्शदीप ने सबसे बढ़िया प्रदर्शन 17 से 20 ओवरों (डेथ ओवर्स) के बीच किया है। इस दौरान अर्शदीप ने 80 गेंदें फेंकी और 8 विकेट लिए हैं। डेथ ओवर में उनकी इकॉनमी 9.67 की है। आईपीएल 2021 में पारी के 10वें ओवर के बाद गेंदबाज़ों में सिर्फ़ छह ही ऐसे गेंदबाज़ थे, जिन्होंने अर्शदीप से ज़्यादा विकेट लिए थे। उम्मीद जताई जा रही है कि अर्शदीप इस बार पंजाब के लिए और भी बढ़िया प्रदर्शन कर सकते हैं।

अनुज रावत

रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु
भूमिका : शीर्ष क्रम बल्लेबाज़
अनुज रावत तीन सीज़न में आईपीएल टीम राजस्थान रॉयल्स का हिस्सा रहे हैं, सिर्फ़ दो मैच खेले हैं और उन्हें एक गेंद खेलने का मौक़ा मिला है। हालांकि इस सीज़न में उन्हें बड़ा ब्रेक मिलने की उम्मीद है। उन्होंने 22 टी20 पारियों में 121.01 के स्ट्राइक रेट से 501 रन बनाए हैं और उन्हें इस साल रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (आरसीबी) ने 3.4 करोड़ रूपये में ख़रीदा है। रावत को सनराइज़र्स हैदराबाद और गुजरात टाइटंस ने भी ख़रीदने की कोशिश की थी। रावत बाएं हाथ के शीर्ष क्रम के बल्लेबाज़ हैं, जो स्पिन गेंदबाज़ी को बहुत ही अच्छा खेल सकते हैं। इसके अलावा वह विकेटकीपिंग भी कर लेते हैं, तो वह आरसीबी में दिनेश कार्तिक का विकल्प भी हो सकते हैं।

राजवर्धन हंगारगेकर

चेन्नई सुपरकिंग्स
भूमिका : तेज़ गेंदबाज़ी हरफ़नमौला
अंडर-19 विश्व कप विजेता राजवर्धन हंगारगेकर उन पांच युवा अंडर-19 खिलाड़ियों में से हैं, जिन्हें आईपीएल कॉन्ट्रैक्ट मिला है। उन्हें चेन्नई सुपर किंग्स (सीएसके) ने डेढ करोड़ रूपये में ख़रीदा है। उनकी गेंदबाज़ी में गति है और वह निचले क्रम में आकर बड़े छक्के लगा सकते हैं। अंडर-19 विश्व कप में उन्होंने सिर्फ़ 28 गेंदें खेली और छह छक्के लगाए। दीपक चाहर के शुरुआती मैचों से बाहर होने के बाद उन्हें मौक़ा मिलने की पूरी संभावना है।

अभिनव मनोहर

गुजरात टाइटंस
भूमिका : शीर्ष/मध्य क्रम के आक्रामक बल्लेबाज़
नवंबर में अभिनव मनोहर ने अपना प्रोफ़ेशनल डेब्यू किया और उसके कुछ ही महीनों बाद उन्हें गुजरात टाइटंस ने 2.6 करोड़ रूपये में ख़रीदा। कर्नाटका के लिए सौराष्ट्र के ख़िलाफ़ डेब्यू करते हुए उन्होंने 49 गेंदों में 70 रन बनाए और अपनी टीम को आख़िरी ओवरों में जीत दिलाई। इसके बाद सैयद मुश्ताक़ अली ट्रॉफ़ी के फ़ाइनल में भी उन्होंने 37 गेंदों में 46 रन की पारी खेली।

आर साई किशोर

गुजरात टाइटंस
भूमिका : स्पिनर
आर साई किशोर का घरेलू रिकॉर्ड काफ़ी बेहतरीन है, लेकिन उन्हें अभी भी आईपीएल डेब्यू करना है। आईपीएल 2020 में उन्हें चेन्नई सुपर किंग्स ने ख़रीदा था, हालांकि उन्हें खेलने का मौक़ा नहीं मिला। उन्होंने उस साल सैयद मुश्ताक़ अली ट्रॉफ़ी में 12 मैचों में 4.63 की इकॉनमी से 20 विकेट लिए थे। हालांकि रवींद्र जाडेजा के टीम में होने से उन्हें मौक़ा ही नहीं मिला। 25 साल के इस बाएं हाथ के स्पिनर की 38 टी20 में करियर इकॉनमी 5.46 का है और वह राशिद ख़ान के साथ घातक साबित हो सकते हैं। वह पावरप्ले में भी गेंदबाज़ी कर सकते हैं।

शेल्डन जैक्सन

कोलकाता नाइट राइडर्स
भूमिका : विकेटकीपर बल्लेबाज़
शेल्डन जैक्सन ने कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) के लिए चार आईपीएल मैच 2017 सीज़न में खेले हैं। 35 साल की उम्र में उन्हें इस साल पर्याप्त मौक़े मिलने की संभावना है। 2021 के सैयद मुश्ताक़ अली ट्रॉफ़ी में उन्होंने 11 मैच में 147.83 के स्ट्राइक रेट और 73.28 की औसत से 513 रन बनाए।

अभिषेक शर्मा

सनराइज़र्स हैदराबाद
भूमिका: स्पिन ऑलराउंडर
अभिषेक शर्मा पिछले तीन साल से सनराइज़र्स हैदराबाद के साथ हैं। उन्होंने शीर्ष तीन में रहते हुए 31.37 की औसत और 141.57 के स्ट्राइक रेट से रन बनाए हैं, जबकि नीचले क्रम में उनकी औसत 15 और स्ट्राइक रेट 131.75 का है। उन्हें पिछले आईपीएल सीज़न के अंतिम दो मैचों में शीर्ष क्रम में बल्लेबाज़ी करने का मौक़ा मिला और उन्होंने मुंबई इंडियंस के ख़िलाफ़ 16 गेंदों में 33 रन बनाए। उन्हें इस साल सनराइज़र्स हैदराबाद ने फिर से 6.5 करोड़ रूपये में ख़रीदा है। ऐसी पूरी संभावना है कि वे अभिषेक को शीर्ष क्रम में ही खिलाएं। इसके अलावा वह बाएं हाथ से स्पिन गेंदबाज़ी भी कर सकते हैं।

उमरान मलिक

सनराइज़र्स हैदराबाद
तेज़ गेंदबाज़
उमरान मलिक को आईपीएल 2021 के आख़िरी मैचों में खेलने को मौक़ा मिला और उन्होंने अपनी रफ़्तार से सबको प्रभावित किया। उन्होंने इतना प्रभावित किया कि उनकी टीम ने उन्हें रिटेन कर लिया। उन्होंने पिछले सीजन में 152.95 किमी/घंटे की गति से गेंदबाज़ी की, जो कि आईपीएल के इतिहास में किसी भी भारतीय गेंदबाज़ की सबसे तेज़ गेंद है। 21 साल की उम्र में यह अद्भुत है।

तिलक वर्मा

मुंबई इंडियस
भूमिका : शीर्ष क्रम बल्लेबाज़
19 साल के तिलक वर्मा को अभी आईपीएल में डेब्यू करना है, लेकिन उन्हें महेला जयवर्दना से प्रशंसा मिल चुकी है। महेला ने तिलक को एक "असाधारण प्रतिभा" करार दिया है। इससे लगता है कि मुंबई उन्हें पर्याप्त मौक़े दे सकती है। उन्होंने सैयद मुश्ताक़ अली ट्रॉफ़ी में 215 रन बनाए। इसके बाद विजय हज़ारे ट्रॉफ़ी में भी उन्होंने 97.75 की औसत और 97.26 के स्ट्राइक रेट से 391 रन बनाकर कमाल कर दिया। बाएं हाथ का यह बल्लेबाज़ नंबर तीन और चार पर बल्लेबाज़ी कर सकता है।

संजय यादव

मुंबई इंडियंस
भूमिका : स्पिन गेंदबाज़ी हरफ़नमौला
पांच साल घरेलू क्रिकेट खेलने के बाद संजय यादव को आईपीएल में खेलने का मौक़ा मिला है। वह इससे पहले सनराइज़र्स हैदराबाद और कोलकाता नाइट राइडर्स की टीम का हिस्सा रह चुके हैं, लेकिन उन्हें डेब्यू का मौक़ा नहीं मिला। हालांकि उन्हें इस साल मुंबई की तरफ़ से पर्याप्त मौक़े मिल सकते हैं, क्योंकि मुंबई में इस साल क्रुणाल पंड्या नहीं हैं। वह क्रुणाल के स्थान को अपने बाएं हाथ की गेंदबाज़ी और निचले क्रम की बल्लेबाज़ी से आसानी से भर सकते हैं।

यशस्वी जायसवाल

राजस्थान रॉयल्स
भूमिका : ओपनर
यशस्वी जायसवाल उन चार अनकैप्ड खिलाड़ियों में से एक हैं, जिन्हें उनकी फ़्रैचाइज़ी ने रिटेन किया था। उन्होंने 2021 में कुछ अधिक ख़ास प्रदर्शन तो नहीं किया था लेकिन अपने विध्वंसक छवि की झलक ज़रूर दिखाई थी। उन्होंने सीएसके के ख़िलाफ़ 19 गेंदों में 50 रन ठोके थे, जिसमें जॉश हेज़लवुड की 12 गेंदों पर 38 रन शामिल है। उनसे इस साल और भी बेहतरीन प्रदर्शन की उम्मीद है।