मैच (21)
ENG v WI (1)
Legends WC (3)
MLC (2)
T20 Blast (9)
RHF Trophy (1)
ENG v NZ (W) (1)
ZIM v IND (1)
LPL (1)
TNPL (2)
ख़बरें

बाबर : हम बल्लेबाज़ी में 20 रन पीछे रह गए थे

पाकिस्तानी कप्तान ने कहा कि शाहीन की चोट ने भी मैच में फ़र्क डाला

Babar Azam at a press conference on the eve of the final, Men's T20 World Cup, Melbourne, November 12, 2022

प्रेस कॉन्फ़्रेंस के दौरान बाबर  •  ICC via Getty Images

पिछले कुछ समय से बाबर आज़म की टीम टी20 फ़ॉर्मेट में अच्छा प्रदर्शन कर रही है, लेकिन महत्वपूर्ण मौक़ों पर फिसल जा रही है। पिछले विश्व कप की सेमीफ़ाइनल में हार और इस साल एशिया कप के फ़ाइनल में हार यही संकेत देते हैं। अब उन्हें इस साल के टी20 विश्व कप में फिर से हार का सामना करना पड़ा है।
बाबर ने फ़ाइनल से पहले कहा था कि उनकी टीम फ़ाइनल को लेकर दबाव में नहीं है बल्कि उत्साहित है। फ़ाइनल के बाद बाबर ने कहा, "निश्चित रूप से जब आप किसी चीज़ को अंज़ाम तक नहीं पहुंचा पाते हैं तो दुःख होता है। हमें फ़ाइनल में पहुंचने पर गर्व है। हां, हम लगातार एशिया कप और विश्व कप का फ़ाइनल हारे हैं, तो यह दुःख भी हमें कचोटता रहेगा।"
उन्होंने आगे कहा, "यह एक तनाव भरा सप्ताह रहा है क्योंकि पहले तो हमें पता भी नहीं था कि हम नॉकआउट में पहुंच रहे हैं या नहीं। लेकिन जिस तरह से खिलाड़ियों ने मौक़े को भुनाया और लगातार चार मैच जीते, यह क़ाबिल-ए-तारीफ़ है।"
पाकिस्तान की टीम एक समय 11 ओवर में 84 रन पर दो विकेट खोकर अच्छे स्कोर की तरफ़ बढ़ रही थी। शान मसूद ने लियम लिविंगस्टन के एक ओवर में 16 रन जड़ डाले थे। लेकिन इसके अगले आठ गेंदों पर पाकिस्तान ने कप्तान बाबर सहित दो विकेट गंवाए और सिर्फ़ एक रन बना। यह मैच का एक महत्वपूर्ण टर्निंग प्वाइंट था। बाबर ने कहा, "इसके बाद हमने मोमेंटम खो दिया। फिर जब शादाब ख़ान और शान की साझेदारी टूटी और दोनों जल्दी-जल्दी लौटे, तब तक हम पहली पारी में बैकफ़ुट पर आ चुके थे। मध्य क्रम के बल्लेबाज़ों ने साझेदारी बनाने के लिए अधिक डॉट गेंदें खेलीं और हम जैसा चाहते थे पारी का अंत वैसा नहीं हो सका।"
बाबर को अपने मध्य क्रम और गेंदबाज़ों पर गर्व है। उन्होंने कहा, "हमारा मध्य क्रम उस समय चला, जब मैं और मोहम्मद रिज़वान फ़ॉर्म के लिए संघर्ष कर रहे थे। शादाब, इफ़्तिख़ार अहमद और मोहम्मद नवाज़ ने हमें अकेले दम पर मैच जिताया, वहीं हमारे गेंदबाज़ पूरे टूर्नामेंट के दौरान प्रभावी रहे।"
इंग्लैंड को अंतिम 29 गेंदों पर 41 रन बनाने थे और उनके पांच विकेट शेष थे। इससे पहले अंतिम 31 गेंदों पर इंग्लैंड ने सिर्फ़ 30 रन बनाए थे और पाकिस्तान के गेंदबाज़ों के सामने संघर्ष कर रहे थे। ऐसे में मैच अभी फंसा हुआ था। शाहीन शाह अफ़रीदी अपना तीसरा ओवर लेकर आए लेकिन एक गेंद बाद ही वह गेंदबाज़ी करने में असहज दिखे और डगआउट में लौट गए। इस ओवर के अंतिम पांच गेंद इफ़्तिख़ार ने किए, जिनकी अंतिम दो गेंदों में चौका और छक्का जड़कर स्टोक्स ने मैच का मोमेंटम पूरी तरह से इंग्लैंड के नाम कर दिया। इसके बाद अगली छह गेंदों पर 16 रन बने और अब मैच में पाकिस्तान कहीं नहीं था।
बाबर ने अंत में भावुक होकर अपने फ़ैंस का शुक्रिया किया और कहा कि ऑस्ट्रेलिया में सभी के समर्थन के बीच भरे स्टेडियम में क्रिकेट खेलने में मज़ा आया।

दन्याल रसूल ESPNcricinfo में सब एडिटर हैं