मैच (13)
NZ v AUS (1)
रणजी ट्रॉफ़ी (2)
PSL 2024 (1)
WPL (1)
विश्व कप लीग 2 (1)
Nepal Tri-Nation (1)
Sheffield Shield (3)
CWC Play-off (3)
ख़बरें

राशिद : सिर्फ़ फिरकी ही नहीं, अब तेज़ गेंदबाज़ी भी हमारी ताक़त है

अफ़ग़निस्तान के दिग्गज लेगस्पिनर ने फ़ारुक़ी और नवीन के विकास की प्रशंसा की

श्रीलंका और बांग्लादेश को हरा कर अफ़ग़ानिस्तान की टीम सुपर 4 में पहुंच चुकी है  •  Getty Images

श्रीलंका और बांग्लादेश को हरा कर अफ़ग़ानिस्तान की टीम सुपर 4 में पहुंच चुकी है  •  Getty Images

अफ़ग़ानिस्तान के लेगस्पिनर राशिद ख़ान अपनी टीम के युवा तेज़ गेंदबाज़ों के प्रदर्शन से काफ़ी ख़ुश हैं। उनका मानना ​​​​है कि तेज़ गेंदबाज़ों के बढ़िया प्रदर्शन से उनकी टीम की गेंदबाज़ी आक्रमण में बहुत सुधार हुआ है। पहले उनकी टीम स्पिन गेंदबाज़ों पर ज़्यादा निर्भर थी लेकिन अब ऐसा नहीं है।
बाएं हाथ के तेज़ गेंदबाज़ फ़ज़लहक़ फ़ारूक़ी हालिया समय में प्रभावशाली रहे हैं। उन्होंने नई गेंद के साथ 140 की रफ़्तार से गेंदबाज़ी की है और गेंद को दोनों तरफ़ स्विंग कराया है। वह आईपीएल में सनराइज़र्स हैदराबाद का भी हिस्सा रहे हैं और दिसंबर-जनवरी में आयोजित होने वाले आईएलटी20 में माय एमिरेट्स के लिए खेलेंगे।
सनराइज़र्स में फ़ारूक़ी को डेल स्टेन के साथ काम करने का मौक़ा मिला है। एशिया कप में अब तक उन्होंने जिस तरीक़े से नई गेंद के साथ गेंदबाज़ी की है, उससे विपक्षी टीम पावरप्ले में खुल कर रन बनाने में क़ामयाब नहीं हो पाई है। शुरुआती मैच में उन्होंने श्रीलंका के ख़िलाफ़ 11 रन देकर तीन विकेट हासिल किया था। इसके कारण श्रीलंका की टीम 105 रनों पर ढेर हो गई थी। टूर्नामेंट में अब तक उनकी इकॉनमी रेट सिर्फ़ 4.69 की है।
अफ़ग़ानिस्तान के तेज़ गेंदबाज़ी आक्रमण में नवीन उल हक़ भी शामिल हैं, जो बढ़िया पेस के साथ धीमी गति के मिश्रण भी गेंदबाज़ी करते हैं। उनके पास विश्व भर के कई टी20 लीग में गेंदबाज़ी करने का अनुभव है। साल 2021 के इंग्लैंड में आयोजित टी20 ब्लास्ट में तो उन्होंने 14 मैचों में 26 विकेट लेकर सर्वाधिक विकेट लिए थे।,
राशिद ने गुरुवार को अफ़ग़ानिस्तान के प्रशिक्षण सत्र के बाद कहा, "हमारी गेंदबाज़ी हमेशा से ही अच्छी रही है। हालांकि एक बात यह भी है कि हमारा तेज़ गेंदबाज़ी विभाग पहले संघर्ष कर रहा था, लेकिन अब हमारे पास अच्छा गेंदबाज़ है।"
उन्होंने कहा, "फ़ज़लहक़ फ़ारूक़ी के पास आईपीएल में खेलने का अनुभव है। उन्हें वहां (सनराइज़र्स हैदराबाद) जो अनुभव मिला है, उसके परिणाम सामने आ रहे हैं। हमारे पास नवीन उल हक़ भी हैं, जो पूरी दुनिया में (टी20 लीग) खेल रहे हैं। अगर शुरुआती ओवरों में तेज़ गेंदबाज़ों को सफलता मिलती है तो स्पिनरों के लिए बीच के ओवर में गेंदबाज़ी करना आसान हो जाता है।"
राशिद के अनुसार उनकी टीम कठिन परिस्थितियों को समझते हुए बढ़िया प्रदर्शन कर रही है। राशिद ने ग्रुप स्टेज में बांग्लादेश के साथ हुए मैच का ज़िक्र करते हुए कहा कि शारजाह की पिच काफ़ी धीमी थी। उस पिच पर भी नजीबुल्लाह ज़दरान ने 17 गेंदों में छह सिक्सर मारे। नजीबउल्लाह के अलावा दोनों टीमों के सभी बल्लेबाज़ों को मिला दें, तब भी एक ही सिक्सर लगा था। जब अफ़ग़ानिस्तान को 36 रन में 63 रनों की ज़रूरत थी, तब नजीबुल्लाह ने सिर्फ़ 17 गेंदों में 43 रनों की नाबाद पारी खेली।
राशिद ने कहा, "लड़कों ने जिस तरह से प्रदर्शन किया है और जिस तरह से उन्होंने आपसी तालमेल बिठाया है एवं खु़द पर जिम्मेदारी ली है, वह देखने लायक़ है। सुपर 4 में भी हमारा ध्यान आक्रामक क्रिकेट खेलने पर है। हालांकि हमने जो ग़लतियां की हैं, हम उसे कतई दोहराना नहीं चाहेंगे।"
उन्होंने आगे कहा, "हम सभी ने यहां काफी क्रिकेट खेली है। ऐसा नहीं है कि केवल अफ़ग़ानिस्तान के पास ही [परिस्थितियों का] लाभ है। यहां की परिस्थितियों और विकेटों से सभी वाकिफ़ हैं। ऐसा नहीं है कि अन्य टीमें यूरोप से आई हैं। इसलिए हमें अच्छी तैयारी करने की कोशिश करनी होगी। हमारे नियंत्रण में यह है कि कड़ी मेहनत करें, तीव्रता के साथ प्रशिक्षण लें।"

शशांक किशोर ESPNcricinfo के सीनियर सब एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo के सब एडिटर राजन राज ने किया है।