मैच (12)
WPL (2)
PSL 2024 (2)
BAN v SL (1)
रणजी ट्रॉफ़ी (2)
Sheffield Shield (3)
विश्व कप लीग 2 (1)
Nepal Tri-Nation (1)
ख़बरें

टी20 सीरीज़ की हार में 'भारत की आक्रामकता ने हमें अचंभित किया': मैथ्यू मॉट

इंग्लैंड के सीमित ओवर के कोच ने कहा कि बटलर ने अपने खिलाड़ियों को बहादुरी दिखाने की बात कही थी

भारत के ख़िलाफ़ टी20 सीरीज़ के दौरान जॉस बटलर और मैथ्यू मॉट  •  Getty Images

भारत के ख़िलाफ़ टी20 सीरीज़ के दौरान जॉस बटलर और मैथ्यू मॉट  •  Getty Images

मैथ्यू मॉट ने ख़ुलासा किया है कि जॉस बटलर ने भारत के ख़िलाफ़ अपने पहले दो टी20 अंतरराष्ट्रीय मैचों में बल्ले से "ख़राब" प्रदर्शन के बाद अपनी इंग्लैंड टीम को "बहादुर" बनने के लिए प्रेरित किया।
बटलर के पूर्णकालिक सीमित ओवरों के कप्तान बनने पर इंग्लैंड को पहले दो मैचों में 148 और 121 रन पर ढेर कर दिया गया, जिसमें उन्हें 50 और 49 रन से हार का सामना करना पड़ा। इंग्लैंड के सफ़ेद गेंद के नए कोच मॉट ने स्वीकार किया कि वे भारत के नए आक्रमणकारी गेमप्लान की "क्रूरता" से चकित थे।
बटलर ने शनिवार रात बर्मिंघम में दूसरी हार के बाद अपने दल को संबोधित किया और उनसे कहा कि उन्हें बहुत सावधानी से बल्लेबाज़ी करने के बजाय "कुछ ग़लतियां करने के लिए तैयार" होना चाहिए। प्रतिक्रिया रविवार को ट्रेंट ब्रिज़ में पहले बल्लेबाज़ी करते हुए छह विकेट पर 215 रन थी, फ़रवरी 2020 के बाद से उनका सर्वोच्च टी20 अंतर्राष्ट्रीय स्कोर और सूर्यकुमार यादव के शानदार 117 के बावजूद उन्होंने 17 रनों के अंतर से मैच जीता।
मॉट ने कहा, "हमने पहले दो मैचों में बहुत कुछ सीखा। भारत स्पष्ट रूप से वास्तव में आक्रामक मानसिकता के साथ सामने आया और हमें बहुत दबाव में डाल दिया। हमें इसकी उम्मीद थी, लेकिन इसकी गति ने हमें थोड़ा आश्चर्यचकित कर दिया।"
"दूसरी हार और सीरीज़ गंवाने के बाद मुझे लगा कि उन्होंने [बटलर] समूह में असाधारण रूप से अच्छी तरह से बात की है कि ये ऐसे समय हैं जहां आप चरित्र के बारे में सीखते हैं। यह आसान है जब आप टीमों पर हावी हो रहे हैं लेकिन हम विश्व कप से पहले भारत और साउथ अफ़्रीका जैसी टीमों के साथ खेलकर हम अपने बारे में और जान रहे हैं। हम इस बारे में अधिक जानने की कोशिश कर रहे हैं कि जब हम दबाव में होते हैं तो हमें ऑस्ट्रेलिया में क्या चाहिए होता है।"
"हमने बस थोड़ा बहादुर होने के बारे में बात की। अगर कुछ भी हो, तो हम पर बल्ले से थोड़ा डिफेंसिव होने का आरोप लगाया जा सकता था। [रविवार को] हम वहां गए और सोचा, 'यह एक अच्छा विकेट है, चलो एक स्कोर बनाते हैं वहां।' हमें हारना पसंद नहीं है, लेकिन मुझे लगता है कि इस सीरीज़ से हम पहले ही काफ़ी कुछ ले चुके हैं और यह हमें इंग्लिंश गर्मियों के लिए तैयार करता है।"
बेन स्टोक्स और जॉनी बेयरस्टो सहित पूरी सीरीज़ में इंग्लैंड के पास कई पहली पसंद के खिलाड़ी नहीं थे, जिन्हें इस साल के अंत में ऑस्ट्रेलिया में टी20 विश्व कप के लिए क्रमशः नंबर तीन और चार पर रखा गया है। लेकिन, अगर वह उपलब्ध हैं तो स्टोक्स को वैकल्पिक रूप से एक अंतिम भूमिका में निचले स्तर पर इस्तेमाल किया जा सकता है। डाविड मलान ने रविवार को 39 गेंदों में 77 रन की पारी खेली और अपनी साख़ की याद दिलाई।
मलान की पारी एक साल में उनका पहला टी20अर्धशतक था। मॉट ने कहा, वह अक्सर शुरुआत में आक्रमण नहीं करते हैं लेकिन इस मैच में उन्होंने ऐसा किया जो बिलकुल उनके तरीक़े से अलग था। दूसरे मैच में वह ख़ुश नहीं था और तीसरे टी20 से पहले उन्होंने कड़ी मेहनत की और एक विशेष पारी खेली।"

मैट रोलर ESPNcricinfo के असिस्टेंट एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सीनियर सब एडिटर निखिल शर्मा ने किया है।