पाकिस्तान के तेज़ गेंदबाज़ हसन अली ने कहा है कि वह टी20 विश्व कप से पहले प्रबंधन में बदलाव के ख़िलाफ़ हैं। मुख्य कोच मिस्बाह उल हक़ और गेंदबाज़ी कोच वक़ार यूनुस को हटाने के बाद से एक मौजूदा खिलाड़ी द्वारा यह सार्वजनिक तौर पर पहली टिप्पणी है। हसन ने यूनुस की तारीफ़ की और कहा, "मैंने उनके साथ जो भी काम किया है, वह बेहद शानदार रहा है।" हालांकि वह नए गेंदबाज़ी सलाहकार वर्नोन फ़िलेंडर के साथ काम करने को लेकर आशान्वित हैं।

हसन ने लाहौर से एक वर्चुअल पत्रकार वार्ता में कहा, "वर्नोन फ़िलेंडर ने ज़्यादा टी20 क्रिकेट नहीं खेला है, लेकिन इसमें कोई शक नहीं कि वह एक महान गेंदबाज़ थे और साउथ अफ़्रीका के लिए काफ़ी सफल रहे। वह गेंदबाज़ी के बारे में जानते हैं और मुझे उम्मीद है कि हम उनके साथ जो काम करेंगे वह हमारे लिए मददगार होगा। लेकिन जहां तक ​​​​विकी [वक़ार यूनुस] भाई का सवाल है, इस तरह के एक बड़े आयोजन से पहले टीम प्रबंधन में यह बदलाव नहीं होना चाहिए था, लेकिन ज़ाहिर है, यह मेरे हाथ में नहीं है। मैं यूनुस और उनके साथ किए गए सभी कामों की प्रशंसा करता हूं। मैंने उनके साथ अपने समय का आनंद लिया लेकिन दुर्भाग्य से वह यहां नहीं हैं और हमें आगे बढ़ना है। हम आगे बढ़ेंगे और अपना सर्वश्रेष्ठ देने का प्रयास करेंगे।"

मिस्बाह और यूनुस दोनों ने उसी दिन अपने पदों से इस्तीफ़ा दे दिया था जिस दिन रमीज़ राजा अध्यक्ष चुने गए थे। उसी दिन, रमीज़ ने घोषणा की कि मैथ्यू हेडन और फिलेंडर को टी20 विश्व कप के लिए बल्लेबाज़ी और गेंदबाज़ी सलाहकार के रूप में चुना गया है।

दोनों विदेशी कोचों में क्रिकेटरों के रूप में असाधारण साख है, लेकिन कोचिंग का बहुत कम अनुभव है। फिलेंडर ने केवल 2020 में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लिया और उन्हें सफ़ेद गेंद वाली क्रिकेट का बहुत कम अनुभव था। हेडन 2009 में सेवानिवृत्त हुए और उन्होंने कभी-कभार मीडिया का काम संभाला, लेकिन विश्व कप में पाकिस्तान के साथ कोचिंग के तौर पर उनकी पहली सबसे बड़ी ज़िम्मेदारी होगी। रमीज़ ने बताया कि दोनों को इसीलिए चुना गया क्योंकि दोनों में आक्रामकता और गुणवत्ता भरपूर रही है।

यह पूछे जाने पर कि क्या वह कोई दबाव महसूस कर रहे हैं, हसन ने कहा, "ज़ाहिर तौर पर भारत और न्यूज़ीलैंड के साथ हमारे पहले दो मैचों को लेकर काफ़ी प्रचार किया जा चुका है। हमारे पास आत्मसंतुष्ट होने के लिए कोई जगह नहीं है और हम इन मैचों को हल्के में नहीं ले सकते। हम पहले मैच से पूरी तैयारी करेंगे और ज़ाहिर है जब आप शुरुआती मैच में जीत के साथ आगे बढ़ते हैं तो यह आपके आत्मविश्वास को बढ़ाता है। दबाव है लेकिन हम सभी पेशेवर हैं और हम जानते हैं कि इससे कैसे निपटना है।"

उन्होंने आगे कहा, "हमारे पास दुनिया की किसी भी टीम को हराने के लिए एक अच्छा संयोजन और क्षमता है। मुझे अपनी टीम पर पूरा भरोसा है कि हम अपना 100 प्रतिशत देंगे। मैं यह दावा नहीं करता कि हम ट्रॉफ़ी के साथ वापस आएंगे क्योंकि परिणाम हमारे हाथ में नहीं है। हमारे हाथ में जो है वह प्रयास है। वह हम कर सकते हैं और हम यह सुनिश्चित कर सकते हैं कि हम जो भी मैच खेलते हैं उसमें एक निष्पक्ष चुनौती देंगे। मुझे अपनी टीम के लिए मैच जीतना है चाहे मैं कहीं भी गेंदबाज़ी करूं, नई गेंद से या पुरानी गेंद से।"

उमर फ़ारूख ESPNcricinfo में पाकिस्‍तान के संवाददाता हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी में सीनियर सब एडिटर निखिल शर्मा ने किया है।