मैच (16)
NZ v AUS (1)
AFG v IRE (1)
Sheffield Shield (3)
विश्व कप लीग 2 (1)
Nepal Tri-Nation (2)
WPL (2)
PSL 2024 (1)
Durham in ZIM (1)
QAT v HKG (1)
CWC Play-off (3)
ख़बरें

क्या यूपी और बेंगलुरु अब भी प्लेऑफ़ में क्वालीफ़ाई कर सकतीं हैं

क्या गुजरात के पास अभी भी प्लेऑफ़ में पहुंचने का मौक़ा है?

सोफ़ी डिवाइन ने शनिवार को गुजरात के ख़िलाफ़  36 गेंदों में 99 रनों की पारी खेली थी  •  BCCI

सोफ़ी डिवाइन ने शनिवार को गुजरात के ख़िलाफ़ 36 गेंदों में 99 रनों की पारी खेली थी  •  BCCI

सोफ़ी डिवाइन की आतिशी अर्धशतकीय पारी ने रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के प्लेऑफ़ में जाने की उम्मीदों को ज़िंदा रखा है। हालांकि यूपी वॉरियर्स की टीम मुंबई पर जीत दर्ज करने के बाद प्लेऑफ़ में पहुंचने के लिए सबसे मज़बूत दावेदार बन गई है। आइए देखते हैं कि डब्ल्यूपीएल के प्लेऑफ़ में प्रवेश पाने के लिए टीमों को क्या-क्या करना होगा।
बेंगलुरु अपने नेट रन रेट (एनआरआर) की समस्या को दूर करते हुए, कैसे तीसरा स्थान हासिल कर सकता है?
वर्तमान में बेंगलुरु और गुजरात के पास सात मैचों के बाद क्रमश: -1.044 और -2.511 का एनआरआर है, जबकि यूपी के पास छह मैचों के बाद -0.117 का एनआरआर है। यह देखते हुए कि यूपी के पास पहले से ही छह अंक हैं, बेंगलुरु को छह अंकों तक पहुंचने के लिए सिर्फ़ एक मौक़ा है। उन्हें अपना आख़िरी मैच हर हाल में जीतना होगा। साथ ही अगर यूपी की टीम अपने आख़िरी के दो मैच हार जाती है तो बेंगलुरु के लिए प्लेऑफ़ में जाने का मौक़ा बन सकता है। यूपी का आख़िरी दो मैच आख़िरी दो मैच गुजरात और दिल्ली के ख़िलाफ़ हैं।
अगर तीनों मैचों का परिणाम उसी तरह से आता है तो मामला एनआरआर की तरफ़ जाएगा। एक बार के लिए मान लिया जाए कि तीनों मैच में 40 रनों के अंतर से हार होती है और हर टीम 160 रन बनाती है। इसके बाद यूपी, बेंगलुरु और गुजरात का एनआरआरआर क्रमश: -0.612, -0.628 और -1.893 होगा।
इसका मतलब है कि बेंगलुरु को जीत के मार्जिन को थोड़ा सा बढ़ाना होगा। अगर वे अपने जीत के मार्जिन को 40 से 43 रनों का कर देते हैं तो उनका एनआरआर यूपी से ज़्यादा बेहतर हो जाएगा।
कुल मिला कर कहानी यह है कि बेंगलुरु के पास अभी भी प्लेऑफ़ तक पहुंचने का मौक़ा है।
क्या गुजरात के प्लेऑफ़ में पहुंचने का कोई वास्तविक मौक़ा है?
गुजरात नेट रन रेट के मामले में इतने पीछे हैं कि वे अगले साल की योजना भी बना सकते हैं। यहां तक ​​​​कि अगर वे 160 रन बनाते हैं और यूपी को 100 रनों से हरा देते हैं, तब भी काम नहीं बनेगा। इसके बाद यूपी को दिल्ली से कम से कम 112 रनों से हारने की ज़रूरत होगी। तब गुजरात का एनआरआर यूपी से ऊपर जाएगा। लगभग असंभव दिखने वाले परिणामों के अलावा उन्हें बेंगलुरु को अपना आख़िरी मैच हराना होगा तब जाकर प्लेऑफ़ में प्रवेश पाने का मौक़ा खुलेगा।
यूपी को प्लेऑफ़ में पहुंचने के लिए क्या करने की आवश्यकता है?
अगर वे अपने आख़िरी दो मैचों में से एक में भी जीत हासिल कर लेते हैं तो यूपी का मामला बन जाएगा। यदि वे कम अंतर से दोनों मैच हार जाते हैं, तब भी उनके पास प्लेऑफ़ में पहुंचने का मौक़ा होगा।
क्या दिल्ली के पास मुंबई इंडियंस से शीर्ष स्थान छीनने का मौक़ा है?
अगर दिल्ली सोमवार को मुंबई को हरा देती है, तो दोनों टीमों के 10 अंक हो जाएंगे। साथ ही मंगलवार को मुंबई की टीम बेंगलुरु के साथ अपना आख़िरी मैच खेलेगी और दिल्ली अपने आख़िरी मैच में यूपी से भिड़ेगी। इस प्रकार दिल्ली के पास शीर्ष स्थान पर एक मौक़ा है। हालांकि उनका एनआरआर ख़राब है। वहीं अगर कैपिटल्स सोमवार को हार जाती है, तो मुंबई इंडियंस का शीर्ष स्थान पक्का हो जाएगा।

एस राजेश ESPNcricinfo के स्टैट्स एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी सब एडिटर राजन राज ने किया है।