मैच (15)
IPL (2)
ACC Premier Cup (2)
Women's QUAD (2)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
फ़ीचर्स

रेटिंग्स: पुजारा और उमेश ने हारे हुए मैच में बटोरे बढ़िया अंक

ज़्यादातर भारतीय खिलाड़ियों ने किया निराश

पहले दो टेस्ट मैचों के परिणाम देखने के बाद ज़्यादातर भारतीय समर्थक यह कयास लगा रहे थे कि भारत इस टेस्ट सीरीज़ को एकतरफ़ा जीतेगा। हालांकि ऑस्ट्रेलिया की टीम ने इंदौर टेस्ट में भारत को नौ विकेट से हराकर इस तरह के किसी भी कयास पर प्रश्न चिन्ह लगा दिया है। इस जीत के साथ ऑस्ट्रेलिया के पास अब इस सीरीज़ को ड्रॉ करने का अच्छा-ख़ासा मौक़ा मिल गया है।
आइए देखते हैं कि इस मैच में किस भारतीय खिलाड़ी ने कितने अंक अर्जित किए हैं।
क्या सहा, क्या ग़लत?
भारत के लिए इस मैच में काफ़ी कम ही सकारात्मक पहलू सामने निकल कर आएंगे। हालांकि चेतेश्वर पुजारा ने दूसरी पारी में जिस तरह की बल्लेबाज़ी की, वह भारतीय टीम के लिए एक अच्छी ख़बर है। वहीं भारतीय स्पिन गेंदबाज़ों ने इस मैच में काफ़ी निराश किया है। रवींद्र जाडेजा और आर अश्विन को विकेट ज़रूर मिले लेकिन वह पिछले मैचों की तरह लय में नहीं थे। वहीं बल्लेबाज़ों ने जिस तरह से ऑस्ट्रेलियाई स्पिन आक्रमण का सामना किया वह बिल्कुल प्रशंसनीय है। कभी अति आक्रमकता तो कभी ग़लत शॉट का चयन, कई भारतीय बल्लेबाज़ों के आउट होने का कारण रहा।
रेटिंग्स
रोहित शर्मा, 4: भारतीय कप्तान दोनों पारियों में बड़ा स्कोर बनाने में असफल रहे। उनसे भारत एक बेहतर शुरुआत की उम्मीद कर रहा होगा। इसी सीरीज़ में उन्होंने नागपुर में एक स्पिन लेती पिच पर शतक बनाया था, लेकिन उसके बाद से उनका बल्ला शांत है।
शुभमन गिल, 4: के एल राहुल की जगह पर टीम में शामिल किए गए गिल से भारतीय टीम को काफ़ी उम्मीदें थी लेकिन वह भी रन बनानें क़ामयाब नहीं हो पाए। साथ ही दूसरे पारी में जिस तरह के शॉट खेलने के प्रयास में वह आउट हुए, उससे टीम मैनेजमेंट काफ़ी निराश होगा।
चेतेश्वर पुजारा, 8: पहली पारी में पुजारा के बल्ले से ज़्यादा रन नहीं निकले थे लेकिन दूसरी पारी में उन्होंने बढ़िया अर्धशतक लगाया। एक मुश्किल पिच पर इस तरह की पारी से पुजारा को काफ़ी आत्मविश्वास मिलेगा। दूसरी पारी में वह बढ़िया लय में नज़र आ रहे थे, लेकिन 59 के निजी स्कोर पर लेग स्लिप में स्टीव स्मिथ के शानदार कैच के कारण उन्हें पवेलियन लौटना पड़ा।
विराट कोहली, 4: वनडे और टी20 में कोहली ने भले ही अपने शतकों के सूखे को ख़त्म कर दिया है लेकिन टेस्ट क्रिकेट में अभी भी उनके बल्ले से रन नहीं निकल रहे हैं। इंदौर टेस्ट में उनके बल्ले से भी रन नहीं निकले, जिससे टीम पर दबाव और ज़्यादा हो गया।
रवींद्र जाडेजा 7: जाडेजा को दोनों पारियों में श्रेयस से पहले बल्लेबाज़ी करने का मौक़ा मिला था लेकिन वह इसे नहीं भुना पाए। गेंदबाज़ी में उन्हें भले ही चार विकेट मिले लेकिन वह किसी भी तरीक़े से अपने पुराने लय में नज़र नहीं आ रहे थे। साथ ही परिस्थितियों के अनुसार जिस गति और लेंथ के साथ उन्हें गेंदबाज़ी करनी थी, उसमें वह क़ामयाब नहीं हो पाए।
श्रेयस अय्यर, 5: यह माना जाता है कि श्रेयस स्पिन काफ़ी बढ़िया खेलते हैं लेकिन तीसरे टेस्ट में उनके बल्ले से भी रन नहीं निकले। दूसरी पारी में उन्होंने ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज़ों पर काउंटर अटैक ज़रूर किया था, लेकिन वह ज़्यादा देर तक नहीं टिक पाए और 27 के निजी स्कोर पर आउट हो गए।
श्रीकर भरत, 4: भरत ने इस टेस्ट सीरीज़ में कीपिंग काफ़ी बढ़िया की है लेकिन उनके बल्ले से रन नहीं निकल रहे हैं। ऋषभ पंत की अनुपस्थिति में उन्हें मौक़ा मिला है लेकिन वह उस मौक़े को भुनाने में क़ामयाब नहीं हो पा रहे हैं। तीसरे टेस्ट के दोनों पारियों में वह नेथन लायन का शिकार बने।
आर अश्विन, 7: यह उम्मीद की जाती है कि अश्विन अपनी गेंदबाज़ी के अलावा बल्ले से भी टीम की मदद करेंगे लेकिन इंदौर टेस्ट में ऐसा नहीं हो पाया। गेंदबाज़ी में उन्होंने चार विकेट ज़रूर लीं, लेकिन कई बार ऐसा लगा कि वह ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज़ों को तंग करने में क़ामयाब नहीं हो पा रहे हैं।
अक्षर पटेल, 4: अक्षर ने इस सीरीज़ में अपनी बल्लेबाज़ी से सबको काफ़ी प्रभावित किया है। इस टेस्ट में भी उनके पास ऐसा करने का मौक़ा था लेकिन उनका साथ देने के लिए और कोई बल्लेबाज़ बचा ही नहीं था। दोनों पारियों में वह नॉट आउट रहे। दूसरी पारी में उन्हें गेंदबाज़ी करने का मौक़ा नहीं मिला, जबकि पहली पारी में उन्होंने 13 ओवर किए थे लेकिन उन्हें कोई विकेट नहीं मिला।
उमेश यादव, 8: पहली पारी में उमेश ने 13 गेंदों में 17 रनों की पारी खेली थी, जो भारतीय टीम के लिए काफ़ी महत्वपूर्ण थी। साथ ही उन्होंने स्पिन गेंदबाज़ों के लिए मददगार पिच पर तीन विकेट लिए और पहली पारी में ऑस्ट्रेलिया को बड़ा स्कोर नहीं बनाने दिया।
मोहम्मद सिराज: सिराज को हमने कोई प्वाइंट नहीं दिया है क्योंकि उन्हें गेंदबाज़ी के पर्याप्त मौक़े नहीं मिले।

राजन राज ESPNcricinfo हिंदी में सब एडिटर हैं