मैच (18)
WPL (2)
PSL 2024 (2)
AFG v IRE (1)
Nepal Tri-Nation (2)
रणजी ट्रॉफ़ी (4)
Durham in ZIM (1)
IND v ENG (1)
BPL 2023 (1)
CWC Play-off (3)
विश्व कप लीग 2 (1)
ख़बरें

पिछला आईपीएल सीजन ख़राब गया था लेकिन उसका मेरे ऊपर कोई दबाव नहीं है : निकोलस पूरन

आईपीएल में नई टीम सनराइज़र्स हैदराबाद को लेकर उत्साहित हैं निकोलस पूरन

"वेस्टइंडीज क्रिकेट में अभी बहुत कुछ करना बाक़ी है"  •  Getty Images

"वेस्टइंडीज क्रिकेट में अभी बहुत कुछ करना बाक़ी है"  •  Getty Images

पिछले सीज़न आईपीएल और टी20 विश्व कप में निराशाजनक प्रदर्शन के बाद वेस्टइंडीज़ के प्रतिभाशाली बल्लेबाज़ निकोलस पूरन इस साल आईपीएल में अपना जलवा दिखाने को बेक़रार हैं। इस साल उन्हें सनराइज़र्स हैदराबाद ने 10.75 करोड़ रूपये में ख़रीदा है। ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो से बातचीत में उन्होंने आईपीएल की तैयारियों के बारे में बातचीत की।
आप इस साल आईपीएल में वेस्टइंडीज़ के सबसे महंगे खिलाड़ी हैं। क्या इससे आपके ऊपर कुछ दबाव भी होगा?
एक प्रोफ़ेशनल खिलाड़ी के रूप में ऐसा कभी-कभार होता है, ख़ासकर तब जब आप अच्छा नहीं कर रहे होते हो। तब मीडिया आपको टारगेट करती है और फ़ैंस भी आपकी आलोचना करते हैं। लेकिन एक प्रोफ़ेशनल खिलाड़ी के रूप में आपको इससे ऊपर उठकर टीम के लिए खेलना होता है।
आपका पिछला सीज़न कुछ ख़ास अच्छा नहीं गया था और आपने पंजाब किंग्स के लिए सिर्फ़ 7.75 की औसत से रन बनाए थे। क्या आपको लगता है कि आपको इस सीज़न में ख़ुद को साबित करना होगा?
नहीं, ऐसा नहीं है। सिर्फ़ एक सीज़न ख़राब जाने से मैं खिलाड़ी के रूप में बदल नहीं जाऊंगा। मैं अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी के रूप में काफ़ी अच्छा कर रहा हूं और सब इसे देख भी रहे हैं। सनराइज़र्स ने मेरे ऊपर पैसा निवेश किया है और मैं बेहतर प्रदर्शन कर उसे उन्हें वापस देना चाहता हूं।
आपको क्या लगता है, पिछले सीज़न क्या ग़लत हुआ?
ऐसी चीज़ें होती रहती हैं। सभी के करियर में ऐसा दौर आता है। पिछले साल पहले मैच में मैं पहली ही गेंद पर आउट हो गया। अगले मैच में मैं दूसरी गेंद पर शून्य पर आउट हुआ। तीसरे मैच में मुझे एक भी गेंद खेलने को नहीं मिला और मैं रन आउट हो गया। (हंसते हुए) लेकिन अब मैं उस बारे में अधिक नहीं सोच रहा हूं। मैं अब पहले से बेहतर खिलाड़ी हूं और मैंने पिछले सीज़न से काफ़ी कुछ सीखा है।
क्या आप अपने तकनीक पर कुछ काम कर रहे हैं?
सभी खिलाड़ियों में कुछ न कुछ तकनीकी दिक्कत होती है, लेकिन मेरे लिए यह मानसिक अधिक था। एक बार अगर मैं अपने ज़ोन में पहुंच गया, तो सब कुछ अच्छा होगा। पिछले कुछ अंतर्राष्ट्रीय मैचों से मैं उस माइंडसेट में आ गया हूं, जिसमें मुझे पता है कि मुझे क्या करना है। उम्मीद है कि यह जारी रहेगा और लोग यह कहना बंद करेंगे कि मुझे अभी ख़ुद को साबित करना है।
आपने पंजाब किंग्स के लिए नंबर तीन, चार और पांच सभी पर बल्लेबाज़ी की जबकि गुयाना वॉरियर्स के लिए आप सीपीएल में निचले क्रम पर आए। तो आप कौन से नंबर पर बल्लेबाज़ी करना पसंद करते हैं?
मैंने अभी वेस्टइंडीज़ के लिए नंबर तीन पर बल्लेबाज़ी करना शुरू किया है और मुझे उसमें सफलता भी मिली है। मैं इस पोज़िशन पर बल्लेबाज़ी करना पसंद कर रहा हूं, और वह कर रहा हूं, जो टीम की ज़रूरत है। हालांकि मैं किसी नंबर पर खेल सकता हूं और अपना सौ फ़ीसदी दूंगा। मेरा कोई फ़ेवरिट पोज़िशन नहीं है। मुझे पता है कि मैं किसी भी नंबर पर खेलकर टीम के लिए अपना योगदान दे सकता हूं।
नंबर तीन और नंबर चार या पांच पर बल्लेबाज़ी करने में क्या अंतर है?
बहुत अंतर है। नंबर तीन पर आपको कभी-कभी पावरप्ले में ही बल्लेबाज़ी करने के लिए उतरना पड़ता है और तब गेंद स्विंग कर रही होती है। आप एक-दो गेंद खेलने के बाद आक्रामक हो सकते हैं क्योंकि अधिकतर फ़िल्डर 30 गज के घेरे के अंदर होते हैं। वहीं 10वें या 15वें ओवर में बल्लेबाज़ी के लिए आना अलग चुनौती है। अगर आप देखेंगे तो पाएंगे कि कोई भी सलामी बल्लेबाज़ पारी ख़त्म करके नहीं जाता है। मेरे लिए यह विविधता को अपनाने जैसा है। हालांकि मैं कहूंगा कि शीर्ष क्रम में बल्लेबाज़ी करना पारी के अंत में बल्लेबाज़ी करने से अधिक सरल है।
सनराइज़र्स हैदराबाद ने आपके कैरेबियन साथी रोमारियो शेफ़र्ड को भी टीम में लिया है। उनके बारे में कुछ बताइए?
वह कड़ी मेहनत करने वाले खिलाड़ी हैं। पिछले एक-दो सालों में उन्होंने अपने खेल पर काफ़ी काम किया है। वह एक स्मार्ट क्रिकेटर हैं। वह अंत समय तक लड़ना जानते हैं और कभी भी मैदान छोड़ना नहीं जानते। हम ऐसा इंग्लैंड के ख़िलाफ़ दूसरे टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैच में देख चुके हैं, जो वह हमारे लिए जीत को लगभग एकदम खींच कर लाए थे। मुझे विश्वास है कि वह ज़ल्द ही टी20 क्रिकेट में दुनिया के बेहतरीन आलराउंडरों में से एक होंगे। उनमें तेज़ गेंदबाज़ी, डेथ में गेंदबाज़ी करने की बेहतरीन क्षमता है और साथ ही वह गेंदबाज़ों पर प्रहार करने की भी क्षमता रखते हैं।
सनराइज़र्स हैदराबाद में ब्रायन लारा भी बल्लेबाज़ी कोच के रूप में जुड़े हैं।
हां, हमारी हाल में ही एक-दो बार बात भी हुई है। वह बेहतरीन हैं। मैं उनके साथ काम करने को लेकर उत्साहित हूं।
पिछले साल केएल राहुल पंजाब किंग्स के विकेटकीपर थे। सनराइज़र्स में भी विकेटकीपर मौजूद हैं। तो क्या आप सिर्फ़ बल्लेबाज़ के रूप में खेलना चाहते हैं या कीपिंग भी करना चाहते हैं?
सच कहूं तो मेरे लिए यह अधिक मैटर नहीं करता। मैं विकेटकीपिंग और फ़िल्डिंग दोनों के मज़े लेता हूं। एक विकेटकीपर के रूप में मैं खेल से अधिक जुड़ा रहता हूं। मैं किसी भी मौक़े के लिए उत्साहित हूं।
एक इंडो-कैरेबियन खिलाड़ी के रूप में आप भारत से कितना जुड़ाव महसूस करते हैं?
हां, मैं ज़रूर एक जुड़ाव महसूस करता हूं। वास्तव में मुझे यहां घर जैसा लगता है। यहां के लोग काफी अच्छे हैं, जो आपको घर जैसा महसूस कराते हैं। मैं हिंदी सीखना और भारतीय खाना पसंद करता हूं।