मैच (6)
IPL (2)
Pakistan vs New Zealand (1)
PAK v WI [W] (1)
IRE-W vs THAI-W (1)
SA v SL (W) (1)
फ़ीचर्स

बड़ा सवाल : क्या लखनऊ सुपर जायंट्स ने हर स्थान के लिए पर्याप्त बैक-अप रखा है?

क्या टाइटंस के लिए वेड करेंगे ओपन? राजस्थान के लिए सातवें नंबर पर होगा कौन?

नागराज गोलापुड़ी और गौरव सुंदरारमन
18-Mar-2022
आईपीएल 2022 के शुरू होने से पहले टीमों के समक्ष बड़े सवालों में आज हम बात करेंगे राजस्थान रॉयल्स, पंजाब किंग्स, सनराइज़र्स हैदराबाद और दोनों नई टीमों - गुजरात टाइटंस और लखनऊ सुपर जाइंट्स की।
राजस्थान रॉयल्स : जॉस बटलर कहां बल्लेबाज़ी करेंगे और सातवें नंबर पर कौन आएगा?
पिछले सीज़न जॉस बटलर ने आईपीएल का केवल पहला हिस्सा खेला था, लेकिन इसमें वह 153 के स्ट्राइक रेट से 254 रनों के साथ कोरोना के कारण होने वाले ब्रेक से पहले तक अपनी टीम के सर्वाधिक स्कोरर थे। उन्होंने आख़िरी पारी में हैदराबाद के विरुद्ध 124 रन बनाए और सात में से छ: मैच में बतौर सलामी बल्लेबाज़ उतरे।
अब देवदत्त पड़िक्कल के टीम में शामिल होने से क्या बटलर ओपन कर सकेंगे? अगर ऐसा होता है तो शायद पड़िक्कल को तीन और कप्तान संजू सैमसन को चार पर खिलाना पड़े। इससे सलामी जोड़ी में लेफ़्ट-राइट कॉम्बिनेशन भी बन सकता है बजाय इसके कि यशस्वी जायसवाल और पड़िक्कल दोनों ओपन करें। लेकिन बटलर को तीन या चार पर खिलाने से मध्यक्रम में ज़बरदस्त हिटिंग क़ाबिलियत लाई जा सकती है, क्योंकि उनके बाद आएंगे शिमरन हेटमायर।
चार विशेषज्ञ गेंदबाज़ जो 8-11 तक के स्थान लेते दिख रहे हैं वह हैं आर अश्विन, ट्रेंट बोल्ट, युज़वेंद्र चहल और प्रसिद्ध कृष्णा। ऐसे में सातवें नंबर पर ऐसे खिलाड़ी की ज़रूरत पड़ेगी जो ऑलराउंडर हो और विदेशी भी। रासी वान दर दुसें यह स्थान लेकर हेटमायर के साथ जगह बदल सकते हैं लेकिन इससे गेंदबाज़ी कमज़ोर होगी। ऐसे में फ़ैसला शायद जेम्स नीशम और नेथन कुल्टर-नाइल के बीच हो। कुल्टर-नाइल टी20 क्रिकेट में 132 की स्ट्राइक रेट से रन बटोरते हैं और 140+ की गति से गेंदबाज़ी कर सकते हैं तो शायद उन्हें प्राथमिकता दी जाए।
पंजाब किंग्स : क्या जॉनी बेयरस्टो नंबर 4 पर बल्लेबाज़ी करेंगे?
पंजाब किंग्स की संभावित टॉप पांच बल्लेबाज़ी - शिखर धवन, मयंक अग्रवाल, लियम लिविंगस्टन, जॉनी बेयरस्टो और शाहरुख़ ख़ान - किसी भी टीम से विस्फोटक दिखती है। एक ही सवाल होगा कि क्या लिविंगस्टन को नंबर तीन पर खिलाकर बेयरस्टो को इंग्लैंड टीम की भांति चौथे नंबर पर खिलाया जा सकता है?
लिविंगस्टन नंबर तीन पर टी20 क्रिकेट में 18 बार खेल चुके हैं, और उन्होंने 33.06 की औसत और 144.18 के स्ट्राइक रेट से 496 रन बनाए हैं, जिसमें पांच अर्धशतक शामिल हैं। वैसे लिविंगस्टन और बेयरस्टो दोनों ने पिछले दो सालों में स्पिन के ख़िलाफ़ बहुत अच्छी बल्लेबाज़ी करते हुए 139 से अधिक का स्ट्राइक रेट बरक़रार रखा है। लिविंगस्टन जब चौथे या पांचवे स्थान पर आते हैं तो उनका स्ट्राइक रेट ऐसा ही रहता है लेकिन औसत गिरकर 25 के आसपास पहुंच जाती है। बेयरस्टो को चार पर खिलाने का एक और लाभ होगा कि उनका अनुभव शाहरुख़ और उनके नीचे आने वाले ओडीन स्मिथ के लिए कारगर साबित होगा।
सनराइज़र्स हैदराबाद : निकोलस पूरन को कहां खिलाया जाए?
सनराइज़र्स हैदराबाद के दल में गहराई है और उनके खिलाड़ी कई अलग जगहों में फ़िट बैठ सकते हैं। उनके गेंदबाज़ बल्लेबाज़ी कर सकते हैं और कई बल्लेबाज़ गेंदबाज़ी में सक्षम है। उनके लिए बड़ा सवाल होगा निकोलस पूरन और एडन मारक्रम के लिए मुनासिब जगह ढूंढना।
टी20 विश्व कप में साउथ अफ़्रीका के लिए मारक्रम नंबर चार और पांच पर खेलते हुए काफ़ी असरदार थे। पूरन के लिए पिछला आईपीएल और विश्व कप दोनों काफ़ी निराशाजनक रहे, लेकिन वह आसानी से तीन और पांच के बीच खेल सकते हैं। अगर केन विलियमसन और अभिषेक शर्मा की सलामी जोड़ी बनती है, तो उनके बाद राहुल त्रिपाठी और पूरन खेलने आ सकते हैं और इससे लेफ़्ट-राइट जोड़ी भी बनी रहेगी। फिर मारक्रम पांचवे स्थान पर आएंगे।
एक और विकल्प होगा मारक्रम और अभिषेक से ओपन करवाना। ऐसे में विलियमसन और त्रिपाठी उनके बाद उतर सकते हैं और पूरन को फ़िनिशर का रोल मिल सकता है। सनराइज़र्स के लिए यह एक सुखदायक परेशानी है।
गुजरात टाइटंस : कौन बनेगा शुभमन गिल का जोड़ीदार?
जेसन रॉय के नाम वापस लेने से गुजरात टाइटंस को शुभमन गिल के लिए सलामी बल्लेबाज़ी में जोड़ीदार को ढूंढ़ने की ज़रूरत पड़ी। उन्होंने अफ़ग़ानिस्तान के रहमानउल्लाह गुरबाज़ को दल में ज़रूर शामिल किया है लेकिन शायद सबसे अच्छे विकल्प होंगे मैथ्यू वेड। वेड एक बाएं हाथ के बल्लेबाज़ होने के साथ ही विकेटकीपर भी हैं। 2019 आईपीएल के बाद से उन्होंने टी20 क्रिकेट में 156.14 के स्ट्राइक रेट से रन बनाए हैं, जो न्यूनतम 30 पारियां खेलने वाले बल्लेबाज़ों में चौथा सर्वाधिक स्ट्राइक रेट है।
वेड का आईपीएल में अनुभव 2011 में दिल्ली डेयरडेविल्स के लिए तीन मैचों तक भले ही सीमित हो, वह शुरुआत में आक्रामक बल्लेबाज़ी के साथ ही फ़िनिशिंग में भी असरदार हैं जैसा उन्होंने पाकिस्तान के ख़िलाफ़ पिछले साल विश्व कप सेमीफ़ाइनल में दर्शाया था। उनको ऊपर खिलाने से टाइटंस के लिए नंबर तीन पर कई विकल्प खुल जाते हैं - ऋद्धिमान साहा, विजय शंकर या कप्तान हार्दिक पंड्या ख़ुद इस स्थान पर बल्लेबाज़ी करते हुए दिख सकते हैं।
लखनऊ सुपर जाइंट्स : क्या उन्होंने हर स्थान के लिए पर्याप्त बैक-अप रखा है?
लखनऊ सुपर जाइंट्स के लिए नीलामी काफ़ी अच्छी रही, अगर आप सोचे कि उन्होंने क्रुणाल पंड्या, आवेश ख़ान और रवि बिश्नोई जैसे बेहतरीन भारतीय खिलाड़ियों को आकर्षित किया। लेकिन इस टीम ने केवल सात विदेशी खिलाड़ी लिए हैं और चोट या अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट के चलते इनके अनुपलब्ध होने से टीम को काफ़ी नुक़सान पहुंच सकता है। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट के चलते ऐसा हो सकता है कि मार्कस स्टॉयनिस और जेसन होल्डर कम से कम पहले तीन मैच नहीं खेल पाएंगे। ऊपर से वेस्टइंडीज़ के विरुद्ध पहले टेस्ट में लगी चोट के बाद मार्क वुड आईपीएल से बाहर हो चुके हैं
शुरुआत में शायद तीन ही विदेशी खिलाड़ी पूरी तरह उपलब्ध होंगे - क्विंटन डिकॉक, दुश्मांता चमीरा और एविन लुइस। शीर्ष क्रम में के एल राहुल और डिकॉक की जोड़ी अगर बनती है तो लुइस को खिलाना कठिन हो जाता है। यह दर्शाता है कि इस टीम में गहराई और आसान प्रतिस्थापन की कमी कितनी बड़ी दिक़्क़तें बनकर उभर सकती हैं।

अनुवाद ESPNcricinfo में सीनियर असिस्टेंट एडिटर और स्थानीय भाषा प्रमुख देबायन सेन ने किया है।