ख़बरें

पंजाब बनाम कोलकाता का रिपोर्ट कार्ड: सभी डिपार्टमेंट में पंजाब की टीम कोलकाता पर रही भारी

राजापक्षा-धवन की साझेदारी और अर्शदीप की गेंदबाज़ी ने जीत की पक्की

Arshdeep Singh struck with his first ball, Punjab Kings vs Kolkata Knight Riders, IPL 2023, Mohali, April 1, 2023@

अर्शदीप ने पंजाब को दिलाए तीन विकेट  •  BCCI

शनिवार को आईपीएल 2023 के पहले डबल हैडर के पहले मैच में कोलकाता के सामने पंजाब की टीम थी। बारिश की वजह से मैच डीएलएस पद्धति के आधार पर तय हुआ और पंजाब के खाते में सात रनों की जीत गई। आइए अब नज़र डालते हैं, दोनों ही टीमों ने चारों ही डिपार्टमेंट में किस तरह का प्रदर्शन किया और उन्हें कौन सी ग्रेडिंग मिली है।
बल्लेबाज़ी -
पंजाब (A++) - पंजाब के लिए राजापक्षा और शिखर धवन ने अच्छी शुरुआत दी। राजापक्षा ने बेहतरीन शॉट्स खेलते हुए अपना अर्धशतक बनाया। जबकि शिखर धवन भी बल्ले से अच्छा योगदान देते हुए 40 रन बना पाए। हालांकि आखिरी 10 ओवरों में पंजाब ने 91 रन ही बना पाए। इस दौरान आईपीएल के सबसे महंगे खिलाड़ी के रुप में सैम करन ने भी 26 रन जोड़े और आखिर में कुल 191 रनों का विशाल स्कोर बनाने में क़ामयाबी हासिल की।
कोलकाता (B) - कोलकाता के बल्लेबाज़ों ने शुरुआत अच्छी नहीं दी। और दूसरे ही ओवर में दो विकेट गंवा कर अपनी टीम पर दबाव बनवा दिया। मंदीप और अनुकूल दोनों ही आसानी से अपना विकेट गंवा बैठे। हालांकि रहमानुल्लाह गुरबाज़ ने अच्छा खेल दिखाया। लेकिन वो 22 के निजी स्कोर पर आउट हो गए। आंद्रे रसल और वेंकटेश अय्यर ने कोलकाता की पारी को संभाला और 16 वें ओवर तक 146 तक ले गए हालांकि दोनों बल्लेबाज़ अपनी टीम को अच्छे रन रेट के साथ जीत तक नहीं ले जा पाए। अय्यर ने 34, कप्तान राणा ने 24 और रसल ने 35 रन बनाए।
गेंदबाज़ी- पंजाब (A+) - पंजाब की ओर से अर्शदीप सिंह ने अनुशासन के साथ गेंदबाज़ी की और अपने पहले ही ओवर में दो विकेट लेने में क़ामयाब रहे। शुरुआती दो झटकों के बाद कोलकाता को निराशा हुई। पंजाब के गेंदबाजों ने कोलकाता के बल्लेबाजों को बांध कर रखा। और पावर प्ले में सिर्फ़ 46 रन ही बनाने दिए और तीन विकेट भी लिए। लेकिन पंजाब के गेंदबाज़ों ने सही समय पर विकेट गिराने का सिलसिला कायम रखा। बड़ा विकेट आंद्रे रसल के रुप में गिरा और करन ने सही समय पर रसल को आउट कर कोलकाता पर भारी दबाव बना दिया।
कोलकाता ( C )- कोलकाता के गेंदबाज़ मैच पर गहरी छाप नहीं छोड़ पाए और सिर्फ पांच बल्लेबाज़ो को ही पवेलियन की राह दिखाने में सफल हुए। इसमें भी दो विकेट टिम साउदी के नाम रहे। साथ ही कोलकाता के गेंदबाज़ धवन और राजापक्षा की साझेदारी तोड़ने में नाकाम रहे। जब टूटी तो भारी नुकसान हो चुका था। राजापक्षा का अहम विकेट उमेश यादव के नाम रहा। 20 ओवर में तकरीबन साढ़े नौ के औसत से रन टी20 में किफ़ायती नहीं कहा जा सकता है.
फील्डिंग -
पंजाब (A) के कप्तान शिखर धवन ने अर्शदीप के लिए फील्डिंग की सजावट भी कसी हुई रखी थी। ख़ास तौर पर अच्छा खेल रहे गुरबाज़ के लिए ऑफ़ साइड की फील्ड को बांध कर रखा था ताकि ऑफ साइड में कम से कम रन बन सकें। और अगले ही ओवर में गुरबाज़ आउट भी हो गए। हालांकि महत्वपूर्ण आंद्रे रसल का एक कैच छूटा लेकिन वो महंगा साबित नहीं हुआ। अर्शदीप के दूसरे स्पेल में प्वाईंट पर चाहर ने जो वेंकटेश अय्यर का कैच लपका उसने पंजाब की जीत पक्की कर दी। अय्यर सातवें विकेट के रुप में गिरे थे।
कोलकाता (B) के फील्डरों ने भी मैदान में ज़्यादा क़ामयाबी हासिल नहीं की लेकिन जितने कैच उनके हाथों में गए, वो उन्होंने नहीं टपकाए। पंजाब के चार बल्लेबाज़ कैच आउट हुए हैं इसमें से रिंकू सिंह, नितीश राणा, विकेटकीपर गुरबाज़ और उमेश यादव के हाथों में गए गेंद ना ही फिसले ना ही छिटके। यानी पकड़ो कैच जीतो मैच की कोशिश रही लेकिन बारिश ने नहीं होने दिया।
रणनीति -
पंजाब (A) ने ऋषि धवन को इंपैक्ट प्लेयर के रुप में उतारा और बल्लेबाज़ी में अपना काम कर चुके भानुका राजापक्षा को गेंदबाज़ी के दौरान आराम करने को कहा। हालांकि ऋषि धवन को एक ही ओवर मिल पाया और उसमें उन्होंने 15 रन दे डाले। लेकिन बल्लेबाज़ी में राजापक्षा का अर्धशतक आख़िर तक टीम के काम आया और जीत भी पक्की हुई।
कोलकाता (B) के कप्तान नितीश राणा ने वेंकटेश अय्यर के रुप में इंपैक्ट प्लेयर के रुप में उतारा। और अय्यर ने अपने चयन को सही भी साबित किया। उन्होंने 28 गेंद में 34 रन बनाए जिसमें तीन चौके और एक छक्का शामिल रहा। वेंकटेश ने वरुण चक्रवर्ती की जगह ली । वरुण ने गेंदबाज़ी के दौरान पंजाब के कप्तान शिखर धवन का महत्वपूर्ण विकेट लिया और गेंदबाज़ी में ज़्यादा रन भी नहीं दिए। हालांकि बारिश की वजह से तय होने वाले मैच में कोलकाता के थिंक टैंक मैदान तक सही समय पर रन रेट दुरुस्त करने का संदेश नहीं पहुंचा पाए।