मैच (15)
T20 वर्ल्ड कप (5)
IND v SA [W] (1)
T20 Blast (6)
CE Cup (3)
ख़बरें

कार्ल हूपर और जेम्स फ़्रैंकलिन बने वेस्टइंडीज़ सीमित गेंद क्रिकेट के सहायक कोच

फ़्लायड राइफ़र को भी मिली ज़िम्मेदारी, विश्व कप क्वालिफ़ायर है लक्ष्य

Carl Hooper bats, Port-of Spain, 1990

कार्ल हूपर ने वेस्टइंडीज़ के लिए 102 टेस्ट और 227 वनडे खेला है  •  Getty Images

वेस्टइंडीज़ के पूर्व कप्तानों कार्ल हूपरr और फ़्लॉयड राइफ़र को सीमित ओवर कोच डैरेन सैमी का सहायक नियुक्त किया गया है। वे वेस्टइंडीज़ के यूएई के ख़िलाफ़ तीन वनडे मैचों की सीरीज़ से अपनी ज़िम्मेदारी संभालेंगे। न्यूज़ीलैंड के पूर्व ऑलराउंडर जेम्स फ़्रैंकलिन को भी सहायक कोच नियुक्त किया गया है।
हूपर ने वेस्टइंडीज़ के लिए 102 टेस्ट और 227 वनडे खेले हैं। उनके पास वेस्टइंडीज़ और ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट में व्यापक स्तर पर कोचिंग करने का अनुभव प्राप्त है। वह बिग बैश लीग (बीबीएल) 2022-23 के दौरान ऐडिलेड स्ट्राइकर्स के सहायक कोच थे। इससे पहले वह कैरेबियन प्रीमियर लीग (सीपीएल) में एंटीगा हॉकबिल्स और गुयाना अमेजॉन वॉरियर्स के साथ भी काम कर चुके हैं। बैरबेडोस स्थित वेस्टइंडीज़ हाई परफ़ॉर्मेंस सेंटर में भी वह मेंटॉर रह चुके हैं।
वहीं राइफ़र ने वेस्टइंडीज़ के लिए छह टेस्ट, आठ वनडे और एक टी20आई खेला है। 2019 विश्व कप के दौरान वह वेस्टइंडीज़ के अंतरिम कोच भी रह चुके हैं। इसके अलावा वह वेस्टइंडीज़ ए, अंडर-19 और सीपीएल में जमैका टलावॉज़ के भी कोच रह चुके हैं।
फ़्रैंकलिन ने न्यूज़ीलैंड के लिए 31 टेस्ट, 110 वनडे और 38 टी20 खेला है। वह डरहम काउंटी के प्रमुख कोच रह चुके हैं। इसके अलावा वह हंड्रेंड टूर्नामेंट में बर्मिंघम फ़ीनिक्स के सहायक कोच और आईएलटी20 के दौरान एमआई एमिरेट्स के फ़ील्डिंग कोच भी रह चुके हैं।
वेस्टइंडीज़ के ही केनी बेंजामिन, स्टुअर्ट विलियम्स और रॉयन ग्रिफ़िथ को टेस्ट मैचों का सहायक कोच नियुक्त किया गया है। वे मुख्य कोच आंद्रे कूली की सहायता करेंगे। तीनों सहायक कोच के तौर पर पहले भी वेस्टइंडीज़ क्रिकेट की सेवा कर चुके हैं।
सभी सहायक कोचों की नियुक्ति अगस्त 2023 तक हुई है। उसके बाद इनके प्रदर्शन का आंकलन कर सेवा विस्तार किया जाएगा। फ़िलहाल वेस्टइंडीज़ की टीम को 4 जून से यूएई के ख़िलाफ़ शारजांह में तीन मैचों की वनडे श्रृंखला खेलनी है। इसके बाद टीम विश्व कप क्वालिफ़ायर के लिए ज़िम्बाब्वे रवाना होगी, जहां उन्हें ग्रुप ए में नीदरलैंड्स, नेपाल, ज़िम्बाब्वे और अमेरिका के साथ रखा गया है।