मैच (18)
आईपीएल (3)
ENG v PAK (W) (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
Charlotte Edwards (3)
T20I Tri-Series (2)
ख़बरें

ईडन गार्डन्स में फ़ेयरवेल वाला माहौल देख धोनी ने फ़ैंस को कहा शुक्रिया

कोलकाता का होम ग्राउंड होने के बावजूद पूरा स्टेडियम चेन्नई के समर्थकों से भरा हुआ था

कोलकाता का जब भी आप नाम लो तो पीली टैक्सी को उसकी सबसे अनोखी और प्यारी चीज़ों में शामिल किया जाता है। हालांकि रविवार को कोलकाता में पीले रंग का खुमार और भी ज़्यादा सिर चढ़ कर बोल रहा था। ईडन गार्डन्स के आस-पास तो मामला ऐसा था, मानों किसी ने पीले रंग की एक चादर बिछा दी हो।
इस माहौल को देखते हुए महेंद्र सिंह धोनी ने मैच के बाद कहा, "यहां के लोग मुझे फ़ेयरवेल देना चाह रहे थे। वे बड़ी संख्या में हमारा समर्थन करने के लिए मैदान पर आए। उनका बहुत-बहुत शुक्रिया। मुझे उम्मीद है कि इनमें से ज़्यादातर लोग अगली बार केकेआर की जर्सी में आएंगे। यहां के लोगों को धन्यवाद।"
धोनी द्वारा कही गई फ़ेयरवेल वाली बात काफ़ी हद तक सही है। मैदान और मैदान के बाहर यह चर्चा खुल कर हो रही थी कि धोनी शायद कोलकाता में आख़िरी बार खेल रहे हों। दर्शकों का हुजुम नेपाल, भूटान से आए दर्शकों के अलावा लोग असम, मणिपुर, इम्फाल इत्यादि जैसे दूरस्थ इलाकों से धोनी और उनकी टीम को मैदान पर समर्थन करने के लिए आए थे। उनमें से ज़्यादातर लोगों को यह लग रहा था कि वह धोनी को आख़िरी बार कोलकाता में खेलते हुए देख रहे हैं।
मैच के बाद प्रेस कॉन्फ़्रेंस में ईडन गार्डन्स के माहौल के बारे में कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाड़ी डेविड वीसा से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि अपने होमग्राउंड पर इस तरह के माहौल में खेलने काफ़ी मुश्किल है।
उन्होंने कहा, "जब आप अपना होम गेम खेल रहे होते हैं और मैदान पर विपक्षी टीम के सर्मथकों की संख्या ज़्यादा हो तो मामला मुश्किल बन ही जाता है। शायद यह धोनी का प्रभाव है। भारत में लोग उन्हें काफ़ी प्यार करते हैं। ऐसे मैच में जब चीज़ें आपके पक्ष में नहीं जाती और मैदान पर आपके पीछे खड़े दर्शक जब ज़ोर-शोर से विपक्षी टीम का सर्मथन करते हैं तो चीज़ें और भी ज़्यादा मुश्किल हो जाती हैं।"
दर्शकों को इस समर्थन की प्रशंसा करते हुए प्लेयर ऑफ़ द मैच रहे अजिंक्य रहाणे ने भी मैच के बाद कहा, "आपकी टीम में जब महेंद्र सिंह धोनी हो ता आपको हमेशा ऐसा समर्थन देखने को मिलेगा। हमें काफ़ी अच्छा लगता है कि हर जगह हमें इस तरह का प्यार मिल रहा है। ऐसा होने से एक खिलाड़ी के तौर पर आपका आत्मविश्वास काफ़ी बढ़ जाता है।"