ख़बरें

डिकॉक ने लिया टेस्ट क्रिकेट से अचानक संन्यास

पितृत्व अवकाश की वजह से मौजूदा सीरीज़ के बाक़ी दो टेस्ट में नहीं खेलने वाले थे साउथ अफ़्रीका के अनुभवी विकेटकीपर

Quinton de Kock takes the aerial route, South Africa vs India, 1st Test, Centurion, 3rd day, December 28, 2021

सेंचूरियन के मैदान पर ही डिकॉक ने खेला था अपना पहला टेस्‍ट  •  AFP via Getty Images

क्विंटन डिकॉक ने अपने परिवार के साथ अधिक समय बिताने के लिए अचानक टेस्ट क्रिकेट को अलविदा कह दिया है। डिकॉक पितृत्व अवकाश के कारण दूसरे और तीसरे टेस्ट में नहीं खेलने वाले थे, लेकिन अब उन्होंने पूरी तरह से क्रिकेट के सबसे लंबे प्रारूप से विदाई लेने का फ़ैसला कर लिया है। वह साउथ अफ़्रीका के लिए सफ़ेद गेंद क्रिकेट में मौज़ूद रहेंगे।
डिकॉक ने क्रिकेट साउथ अफ़्रीका (सीएसए) की ओर से जारी एक बयान में कहा, "यह ऐसा फ़ैसला नहीं है जिस पर मैं आसानी पहुंच गया हूं। मैंने यह सोचने में बहुत समय लिया है कि मेरा भविष्य कैसा दिखता है और अब मेरे जीवन में क्या प्राथमिकता होनी चाहिए। साशा और मैं इस दुनिया में अपने पहले बच्चे का स्वागत करने वाले हैं और अब हम अपने परिवार को उससे आगे बढ़ाना चाहते हैं। मेरा परिवार मेरे लिए सब कुछ है और मैं चाहता हूं कि हमारे पास हमारे जीवन के इस नए और रोमांचक अध्याय के दौरान उनके साथ रहने के लिए समय और जगह हो।"
"मुझे टेस्ट क्रिकेट पसंद है और मुझे अपने देश का प्रतिनिधित्व करना पसंद है। मैंने उतार-चढ़ाव, उत्सव और यहां तक कि निराशाओं का भी आनंद लिया है, लेकिन अब मुझे कुछ ऐसा मिला है जो मुझे और भी अधिक पसंद है।"
"ज़िंदगी में आप समय के सिवाए कुछ भी ख़रीद सकते हैं और इस समय, उनके लिए सही करने का समय है जो मेरी ज़िंदगी में सबसे ज़्यादा मायने रखते हैं।" "मैं इस मौक़े पर उन सभी को धन्यवाद देना चाहता हूं जो शुरू से ही मेरी टेस्ट क्रिकेट यात्रा का हिस्सा रहे हैं। मेरे कोचों, टीम के साथियों, विभिन्न प्रबंधन टीमों और मेरे परिवार और दोस्तों के लिए। अगर मेरे पास आप लोगों का साथ नहीं होता तो मैं ख़ुद को साबित नहीं कर सकता था।"
"यह मेरे करियर का अंत नहीं है। मैं सफ़ेद गेंद क्रिकेट में खेलना जारी रखूंगा और अपने देश के लिए कुछ भी करने के लिए तैयार रहूंगा। मैं अपनी टीम के सभी साथियों को इस सीरीज़ के आने वाले दो मैचों के लिए शुभकामनाएं देता हूं। आप सभी से अब वनडे और टी20 में मुलाक़ात होगी।"
29 वर्षीय डिकॉक ने 2021 की शुरुआत साउथ अफ़्रीका के अस्थायी टेस्ट कप्तान के रूप में की थी और इस प्रारूप से संन्यास लेकर इसे समाप्त किया। उन्होंने श्रीलंका और पाकिस्तान के ख़िलाफ़ चार टेस्ट मैचों में 50% जीत के रिकॉर्ड के साथ साउथ अफ़्रीका का नेतृत्व किया। साउथ अफ़्रीका ने श्रीलंका को घर में 2-0 से हराया लेकिन पाकिस्तान से उसी अंतर से हार गया।
डिकॉक ने कोविड-19 महामारी में बायो बबल जीवन के प्रतिबंधों पर चिंता व्यक्त की थी और उन्हें साउथ अफ़्रीका की वनडे टीम में श्रीलंका और नीदरलैंड के ख़िलाफ़ आराम दिया गया था।
वह इस देश के उन कई खिलाड़ियों में से एक थे जिन्होंने सफ़ेद गेंद क्रिकेट में #BlackLivesMatter के तहत घुटने नहीं लेने का विकल्प चुना, जबकि साउथ अफ़्रीका ने अपने खिलाड़ियों को घुटने टेकने, मुट्ठी उठाने या ध्यान देने का विकल्प देने का फ़ैसला किया था। उन्होंने वेस्टइंडीज़ के दौरे पर पहली बार उनमें से किसी को भी नहीं चुना, लेकिन अफ़ग़ानिस्तान में घायल हुए एक दोस्त को श्रद्धांजलि में तीन-उंगली की सलामी दी।
टी20 विश्व कप में, जब सीएसए ने खिलाड़ियों को घुटने टेकने के लिए बाध्य किया, तो डिकॉक ने शुरू में इससे इनकार कर दिया और परिणामस्वरूप वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ मैच में वह नहीं खेले। बाद में उन्होंने माफ़ी मांगी और तब से घुटने टेकना शुरू किया था।
डिकॉक ने 2014 में ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण किया और 54 टेस्ट खेले, जिसमें छह शतकों के साथ 38.82 की औसत से 3300 रन बनाए। उनका पहला शतक उसी सुपरस्पोर्ट मैदान पर आया था, जिसमें उन्होंने अपना आख़िरी टेस्ट खेला। उन्होंने तब 7वें नंबर पर आकर 129* रन बनाए थे और साउथ अफ़्रीका ने उस मैच में 2016 में इंग्लैंड को 280 रन से हराया था। उन्होंने बाद में होबार्ट में मैच जिताने वाला शतक बनाया। उस वर्ष साउथ अफ़्रीका, ऑस्ट्रेलिया में लगातार तीसरी सीरीज़ जीतने में क़ामयाब हुई थी।

फ़ि‍रदौस मूंडा ESPNcricinfo में साउथ अफ्रीका की संवाददाता हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी में सीनियर सब एडिटर निखिल शर्मा ने किया है।