मैच (15)
NZ v AUS (1)
AFG v IRE (1)
Nepal Tri-Nation (2)
WPL (2)
PSL 2024 (2)
BPL 2023 (1)
विश्व कप लीग 2 (1)
Durham in ZIM (1)
CWC Play-off (3)
QAT v HKG (1)
फ़ीचर्स

कैसे मोहसिन ने पंत को अपना अगला बड़ा शिकार बनाया?

इस 23 वर्षीय तेज़ गेंदबाज़ ने विपक्षी कप्तान को क्लीन बोल्ड किया

रविवार को चार गेंदों के भीतर मोहसिन ख़ान ने 196 रनों के लक्ष्य का पीछा कर रही दिल्ली कैपिटल्स की पारी पर एक बड़ा ब्रेक लगाया। दिल्ली की पारी के 13वें ओवर में डाली गई इन चार गेंदों पर मोहसिन ने अपनी चतुराई दिखाई और सभी का दिल जीत लिया।
दिल्ली को 48 गेंदों पर 83 रनों की आवश्यकता थी, जब मोहसिन गेंदबाज़ी पर वापस आए। स्ट्राइक पर थे ऋषभ पंत तो दूसरे छोर पर रोवमन पॉवेल भी तैयार थे। पंत ने सभी गेंदबाज़ों को निशाना बनाना शुरू कर दिया था। पहले तीन ओवरों में महज़ 13 रनों पर दो विकेट गंवाने के बाद भी पंत ने नौ गेंदों पर 27 रन बनाकर पावरप्ले को दिल्ली के पक्ष में मोड़ दिया। पॉवेल ने भी आक्रामक शुरुआत करते हुए 200 के स्ट्राइक रेट से 22 रन बना लिए थे।
एक ओवर वाले इस दूसरे स्पेल में मोहसिन को यह भी ध्यान में रखना था कि पंत के ऑफ़ और पॉवेल के लेग साइड पर छोटी बाउंड्री थी। पंत ने छोटी बाउंड्री का फ़ायदा उठाते हुए पहले ही कट पर चौका बटोरा था जबकि पॉवेल ने इस सीज़न में साफ़ दर्शाया है कि कोई भी बाउंड्री उनके लिए बड़ी नहीं है। मोहसिन के पास ग़लती करने की कोई गुंजाइश नहीं थी।
जिन चार गेंदों की हम बात कर रहे हैं, वह सभी पंत को डाली गई थी। पहली गेंद चौथे स्टंप की लाइन में शॉर्ट ऑफ़ लेंथ थी, जिसे पुल करने के प्रयास में वह चूक गए। अगली गेंद धीमी गति से गुड लेंथ पर डाली गई थी लेकिन ऑफ़ स्टंप से काफ़ी बाहर होने के कारण उसे वाइड करार दिया गया। अगली गेंद पर मोहसिन ने ऑफ़ स्टंप के काफ़ी बाहर शॉर्ट ऑफ़ लेंथ पर गेंद डाली जो फिर से डॉट हो गई। अब पंत क्रीज़ पर उतावले हो रहे थे। वह क़दमों का इस्तेमाल करने के बावजूद बाउंड्री नहीं लगा पा रहे थे। मोहसिन समझ गए थे कि पंत पर डॉट गेंदों का दबाव बढ़ता जा रहा है। अगली गेंद ऑफ़ स्टंप पर फिर से शॉर्ट ऑफ़ लेंथ थी जिस पर सिंगल लेकर पंत दूसरे छोर पर चले गए।
पॉवेल की विरुद्ध भी मोहसिन ने छोटी गेंद डालने का प्रयास किया लेकिन गेंद कमर से ऊपर उठी ही नहीं। उन्होंने आसानी से इसे चौके के लिए भेज दिया। हालांकि दो गेंदों बाद पंत फिर से स्ट्राइक पर आ गए।
फिर एक बार लेंथ गेंद की उम्मीद करते हुए पंत अपनी क्रीज़ से बाहर निकल आए। वह शायद मिडविकेट के ऊपर से स्लॉग लगाना चाहते थे। हालांकि मोहसिन ने प्लान ही बदल दिया। उन्होंने 145 किलोमीटर की तेज़ गति से ओवर की इस आख़िरी गेंद को आगे रखा। जैसे ही पंत ने चहलकदमी की, गेंद पिच पर पड़कर अंदर आई और उनके स्टंप्स पर जा लगी। पंत हल्की दौड़ लगाकर मोहसिन के पास से होते हुए ड्रेसिंग रूम की तरफ़ चल दिए।
पंत ने पावरप्ले में केवल दो डॉट गेंदें खेली थी। लेकिन मध्य ओवरों में जहां उन्होंने 21 गेंदों का सामना किया और केवल 17 रन बना पाए। मोहसिन जानते थे कि पंत को डॉट गेंदें खेलना पसंद नहीं हैं। उन्होंने अपनी गति को कम किया और पंत को पूरी ताक़त के साथ शॉट लगाने पर मजबूर किया। अगर वह ऐसा करने में सफल होते, तो वह अपनी जादुई गेंद डाल सकते थे। मैच के बाद मोहसिन ने बताया कि फ़ुल गेंद डालने का सुझाव उन्हें कप्तान केएल राहुल ने दिया था। मोहसिन ने दिल्ली के विरुद्ध चार शिकार किए लेकिन 'सेट अप' के कारण उन्हें पंत की विकेट सबसे ज़्यादा पसंद आई।
यह लगातार दूसरा मैच है जहां मोहसिन ने विपक्षी टीम की बड़ी मछली को पकड़ा है। पिछले मैच में उन्होंने पंजाब किंग्स के लियम लिविंगस्टन को चलता किया था
कप्तान राहुल ने बताया कि क्यों मोहसिन एक घातक गेंदबाज़ हैं। ब्रॉडकास्टर स्टार स्पोर्ट्स के साथ मैच के बाद हुई चर्चा में राहुल ने कहा, "मैंने एक महीने पहले नेट्स में उसका सामना किया था। वह बहुत सटीक गेंदबाज़ी कर रहा था, जिस वजह से मैं उसका सामना ही नहीं करना चाहता था। केवल गति ही नहीं, वह बहुत चतुर भी है। उसके पास धीमी गति की एक बढ़िया गेंद है और वह जानता है कि उसका इस्तेमाल कब करना है। दबाव में भी वह आत्मविश्वास से भरा हुआ रहता है। उसने हमारे लिए कुछ महत्वपूर्ण ओवर डाले हैं।"
मोहसिन एक बढ़िया तेज़ गेंदबाज़ तो हैं ही लेकिन अब वह अपने कप्तान की बात सुनकर उस पर अमल भी करने लगे हैं।

नागराज गोलापुड़ी ESPNcricinfo में न्यूज़ एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर अफ़्ज़ल जिवानी ने किया है।