मैच (7)
T20 वर्ल्ड कप (3)
T20 Blast (2)
CE Cup (1)
SL vs WI [W] (1)
फ़ीचर्स

आईपीएल के सहारे विश्व कप की तैयारी कर रहे हैं मोईन अली

मोईन ने धोनी के आईपीएल खेलने की संभावना पर भी बात की

मोईन अली का यह छठा आईपीएल सीज़न है जबकि चेन्नई सुपर किंग्स के लिए वह अपना तीसरा आईपीएल सीज़न खेल रहे हैं। घरेलू मैदान पर चेन्नई ने अपनी जीत का कारवां लखनऊ सुपर जायंट्स को हरा कर शुरू किया। जिसमें मोईन ने चार ओवर में 24 रन देकर चार विकेट झटके जोकि उनके आईपीएल करियर का बेस्ट फ़िगर है।
घरेलू मैदान पर चेन्नई को मिलने वाले समर्थन पर मोईन ने कहा, "यह अविश्वसनीय है। चेपॉक पर चेन्नई का प्रतिनिधित्व करना वाकई बेहद ख़ास है। यहां पर लोगों का उत्साह और उनका समर्थन ऐसा है जो शायद आपको दुनिया के किसी अन्य कोने में देखने को मिले। इतना समर्थन फ्रेंचाइज़ी के लिए कुछ अच्छा करने पर मजबूर करता है।"
महेंद्र सिंह धोनी के आईपीएल करियर को लेकर यह माना जा रहा है कि यह सीज़न संभवतः उनका अंतिम सीज़न भी हो सकता है। धोनी 41 वर्ष के हो चुके हैं और इस समय घुटने की चोट से जूझ रहे हैं। हालांकि मोईन का मानना है कि धोनी अगले सीज़न में भी चेन्नई के लिए खेल सकते हैं। मोईन ने कहा, "जिस तरह से वह खेल रहे हैं, ऐसे में मुझे नहीं लगता कि उनकी बल्लेबाज़ी उन्हें आगे खेलने से रोकेगी और मुझे नहीं लगता कि अगले दो तीन वर्षों तक ऐसा हो पाएगा कि बल्लेबाज़ी उनके खेलने में व्यवधान उत्पन्न करे।"
मोईन ने राजस्थान के ख़िलाफ़ धोनी की पारी के बारे में कहा, "मैं राजस्थान के ख़िलाफ़ उन्हें ऐसी बल्लेबाज़ी करता देख अचंभित नहीं था क्योंकि मैं उन्हें नेट्स में बल्लेबाज़ी करता देख चुका था। इस उम्र के किसी खिलाड़ी को ऐसा खेलता देख वास्तव में लाजवाब है। वह भी तब जब इतनी देर से बल्लेबाज़ी करने आते हैं तो ऐसा हर बार कर पाना संभव नहीं होता और लोग अमूमन यह बात भूल जाते हैं।"
मोईन ओएन मॉर्गन और धोनी दोनों की कप्तानी में खेल चुके हैं। मोईन ने बताया कि दोनों की कप्तानी में काफ़ी समानताएं हैं। हालांकि मोईन ने बताया कि धोनी जितने शांत और विनम्र टीवी पर दिखते हैं उतने ही वह वास्तव में भी हैं। आप उनसे किसी भी चीज़ के बारे में बात कर सकते हैं।
राजस्थान के ख़िलाफ़ खेले मुक़ाबले को मोईन ने ख़ुद के लिए एक बेहद ख़राब मुक़ाबला करार दिया है। इस मैच में उन्होंने दो कैच छोड़े और इंग्लैंड के अपने कप्तान जॉस बटलर द्वारा लगातार छक्के भी खाने पड़े। हालांकि मोईन ने बटलर को आउट करने में सफलता प्राप्त कर ली।
यह देखना दिलचस्प होगा कि सभी विदेशी खिलाड़ियों की उपलब्धता सुनिश्चित होने पर मोईन को चेन्नई के प्लेइंग इलेवन में स्वतः जगह मिलती है या नहीं। हालांकि अब तक के तीन मैचों जिनके लिए वह पूरी तरह फ़िट रहे हैं, उनमें उन्हें खेलने का मौक़ा मिला है।
मोईन के लिए अगले छह महीने ख़ुद को आगामी विश्व कप के लिए पूरी तरह फ़िट रखने के लिए हैं। मोईन ने कहा, "मैं ख़ुद को बल्लेबाज़ी, गेंदबाज़ी, क्षेत्ररक्षण और फ़िटनेस हर मामले में तैयार रखना चाहता हूं। गेंदबाज़ी में मुझे वही लय प्राप्त करनी है जैसी मैं चाहता हूं।"
मोईन मानते हैं कि टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद उनकी गेंदबाज़ी प्रभावित हुई है। उन्होंने कहा, " मुझे पिछले कुछ वर्षों से इस बात का आभास हो रहा है कि कुछ तो है जिससे मैं चूक जा रहा हूं लेकिन अब मैंने अपने एक्शन में दोबारा रिदम पाना शुरू कर दिया है। सफ़ेद गेंद क्रिकेट में कई बार मैं रक्षात्मक हो जाया करता हूं। मैं गेंद में अब अधिक ऊर्जा डालने का प्रयास कर रहा हूं। मुझे हमेशा लगता था कि मैं गेंद को स्पिन कराने की कोशिश कर रहा हूं लेकिन मैं अपने शरीर का उतना उपयोग नहीं कर रहा था।"
सोमवार शाम को चेन्नई की भिड़ंत रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु से उनके घरेलू मैदान पर होगी। चिन्नास्वामी की पिच वैसे भी गेंदबाज़ों के लिए प्रतिकूल रहती है। ऐसे में मोईन कहते हैं, "वह जगह हमेशा बल्लेबाज़ी के लिए अनुकूल रही है लेकिन मैं वहां पर गेंदबाज़ी करने की तरफ़ भी ध्यान दे रहा हूं। मैं ऐसी चुनौतियों के सामने ख़ुद को आज़माना चाहता हूं जहां गेंदबाज़ी करना इतना आसान न हो।"

मैट रोलर ESPNcricinfo के असिसटेंट एडिटर हैं।